मोदी और ट्रंप के बीच हुई मुलाकात, ईरान समेत अन्य मुद्दों पर की चर्चा

भारत और अमेरिका को पहले इतने करीब कभी नहीं देखा - अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप
मोदी और ट्रंप के बीच हुई मुलाकात, ईरान समेत अन्य मुद्दों पर की चर्चा

ओसाका – जापान के ओसाका में शुरू हुए जी-20 समिट से पहले भारत और अमेरिका के बीच के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई। अमेरिका के राष्टपति ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच ईरान सहित अन्य 4 सुरक्षा के मुद्दों पर बातचीत हुई।

डोनाल्ड ट्रम्प ने मोदी से कहा- "आपको आम चुनावों में जीत के लिए बधाई। आप इस जीत के योग्य हैं। आप अपने देश में शानदार काम कर रहे हैं। हमें कई बड़ी चीजों का ऐलान करना है। मैं दोनों देशों के बीच बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए आपको बधाई देता हूं।दोनों देश मिलिट्री सहित कई क्षेत्रों में एक साथ काम करेंगे।

ट्रंप ने कहा कि भारत और अमेरिका दोनो देश एक-दुसरे के इतना करीब पहले कभी नहीं रहे, य् बताता है दोनो राष्ट्र मिलकर काम करना चाहते है।

ईरान पर भारत से बात करते हुएट्रम्प ने कहा: "हमारे पास बहुत समय है। कोई जल्दी नहीं है, वे अपना समय ले सकते हैं। बिल्कुल समय का दबाव नहीं है"।

मोदी-ट्रम्प की बैठक अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में महत्व को स्वीकार करती है, उनकी 'अमेरिका फर्स्ट' नीति के अनुसार, अमेरिकी उत्पादों पर "अत्यधिक उच्च" शुल्क लगाने के लिए भारत के एक मुखर आलोचक रहे हैं।

गुरुवार को जापान पहुंचने से पहले, ट्रम्प ने ट्वीट किया था कि, "मैं इस तथ्य के बारे में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बात करने के लिए उत्सुक हूं कि भारत, अमेरिका के खिलाफ बहुत अधिक टैरिफ डाल रहा है, अभी हाल ही में टैरिफ में और भी वृद्धि हुई है। यह अस्वीकार्य है और टैरिफ को वापस लिया जाना चाहिए! यह ट्रम्प के साथ संसदीय चुनाव में भाजपा की शानदार जीत के बाद मोदी की पहली बैठक थी।

भारत ने बादाम, दालों और अखरोट सहित 28 वस्तुओं पर टैरिफ बढ़ा दिया है,

इससे पहले अमेरिका ने भारत की कई वस्तुओं पर टैक्स बढ़ा दिया था जिससे बाद भारत ने ये कदम उठाया।

ट्रम्प प्रशासन प्रधान मंत्री मोदी से व्यापार बाधाओं को कम करना चाहता है और निष्पक्ष और पारस्परिक व्यापार करना चाहते है।

ट्रम्प ने प्रतिष्ठित हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल पर भारत के उच्च आयात शुल्क अस्वीकार हुए के आलोचना की है, हालांकि उन्होनें यह स्वीकार किया कि उनके अच्छे दोस्त प्रधान मंत्री मोदी ने इसे 100 प्रतिशत से घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया है।

पिछले साल फरवरी में, भारत ने हार्ले-डेविडसन जैसी अमेरिका से आयात होने वाली मोटरसाइकिलों पर सीमा शुल्क को घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया था, क्योंकि ट्रम्प ने इसे अनुचित बताया था और अमेरिका में भारतीय बाइक के आयात पर शुल्क बढ़ाने की धमकी दी।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com