5 साल पहले इंजीनियर ने तैयार किया था क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए मोबाइल एप, अब हर साल 3.5 करोड़ रुपये है टर्नओवर

देश और दुनिया में क्रिकेट की फैन फॉलोइंग अन्य खेलों के मुकाबले काफी ज्यादा है। लोग क्रिकेट मैच देखने के लिए घंटों टीवी के सामने बैठने को तैयार रहते हैं। टी20 के आने के बाद युवाओं में इसका क्रेज और भी बढ़ गया है। हर जगह छोटे से लेकर बड़े स्तर के टूर्नामेंट आयोजित किए जा रहे हैं।
Photo | Dainik Bhaskar
Photo | Dainik Bhaskar

डेस्क न्यूज़- देश और दुनिया में क्रिकेट की फैन फॉलोइंग अन्य खेलों के मुकाबले काफी ज्यादा है। लोग क्रिकेट मैच देखने के लिए घंटों टीवी के सामने बैठने को तैयार रहते हैं। टी20 के आने के बाद युवाओं में इसका क्रेज और भी बढ़ गया है। हर जगह छोटे से लेकर बड़े स्तर के टूर्नामेंट आयोजित किए जा रहे हैं। इस क्रेज को देखकर अहमदाबाद के एक इंजीनियर ने इसे कमाई का जरिया बना लिया। उसका नाम अभिषेक देसाई है। दरअसल, अभिषेक ने 5 साल पहले अपने दोस्तों की मदद से एक मोबाइल एप बनाया था, जिसमें लाइव क्रिकेट स्कोर के साथ-साथ मैचों की लाइव स्ट्रीमिंग की जा सकती है। अब तक दुनिया भर के करीब 95 लाख खिलाड़ी इस ऐप से जुड़ चुके हैं। ऐप का इस्तेमाल 70 से 75 देशों में किया जा रहा है। इससे उन्हें 3.5 करोड़ रुपये का टर्नओवर मिल रहा है।

Photo | Dainik bhaskar
Photo | Dainik bhaskar

नौकरी छोड़ शुरु की कंपनी

अभिषेक ने बताया कि इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने 2004 में अपने दोस्तों के साथ मिलकर DIGCORP नाम की कंपनी शुरू की। इस कंपनी में वह देश-विदेश के कारोबारियों के लिए एक ऐप डेवलप कर रहे थे. कंपनी अच्छा कर रही थी, लेकिन कुछ अलग करने की कोशिश में हमने 2007 में पेटापूजा नाम से एक ऐप बनाया। जिसमें अहमदाबाद के लोग 100 से ज्यादा रेस्टोरेंट से खाना ऑर्डर कर सकते थे। हमने इसे दो साल तक चलाया, लेकिन फिर बंद करना पड़ा क्योंकि ग्राहकों की संख्या कम हो रही है।

ऐसे आया आइडिया

अभिषेक कहते हैं कि एक बार मैं एक चाय की दुकान पर बैठा था। उसी समय पास के मैदान पर क्रिकेट खेल रहे कुछ लड़के चाय पीने आए और बल्लेबाजी सहित क्रिकेट स्कोर, हार और जीत जैसी कई बातों पर चर्चा करने लगे। यह चर्चा बिना डेटा के थी। यानी वे जो मैच खेल रहे थे उनके रिकॉर्ड सिर्फ कागजों पर थे. इससे मुझे यह विचार आया कि इस समस्या का समाधान किया जाना चाहिए। तब मैंने बाजार में कई क्रिकेट ऐप मौजूद देखे, लेकिन किसी न किसी में कुछ समस्या थी।

2016 में बनाया ऐप

अभिषेक का कहना है कि हमने इसे लेकर अहमदाबाद में एक सर्वे किया था। शहर के जीएमडीसी ने गणेश हाउसिंग समेत विभिन्न मैदानों में जाकर वहां के क्रिकेटरों से मुलाकात की। तब हमें पता चला कि 70% मैच कागज पर बनते हैं। यानी स्कोरर मेहनत करता है, लेकिन मैच के बाद वह डेटा किसी काम का नहीं होता। मुझे लगा कि अगर इस बारे में कोई ऐप बनाया जाएगा तो उसे अच्छा रिस्पॉन्स मिलेगा। फिर मैंने इस बिजनेस प्लान को अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर किया। उन्हें यह आइडिया भी पसंद आया और साल 2016 में हमने 'क्रिक हीरोज' नाम का ऐप बनाया।

गुजरात यूनिवर्सिटी से की 'क्रिक हीरोज' की शुरुआत

उनका कहना है कि अक्टूबर 2016 में हमने क्रिक हीरोज का पहला सीजन लॉन्च किया था। फिर गुजरात यूनिवर्सिटी के इंटर कॉलेज में टूर्नामेंट हुआ। यह टूर्नामेंट गुजरात के 50 कॉलेजों के बीच खेला जा रहा था। हमें इस टूर्नामेंट में गोल करने का मौका मिला। हमने अपने ऐप के पहले संस्करण से पूरे टूर्नामेंट का स्कोर बनाया। हमें पता चला कि शनिवार-रविवार के मैचों के अलावा टूर्नामेंट मैचों के लिए भी बहुत बड़ा बाजार है। फिर हमने टूर्नामेंट के आयोजकों को ध्यान में रखते हुए ऐप में कुछ बदलाव किए। जिसमें टूर्नामेंट के आयोजक अपने टूर्नामेंट का पंजीकरण करा सकते हैं और खुद मैच स्कोर कर सकते हैं।

कई देशों में किया जा रहा उपयोग

अभिषेक के दोस्त मित शाह सितंबर 2016 में क्रिक हीरोज से जुड़े थे। वह खुद गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के खिलाड़ी रह चुके हैं और गुजरात की अंडर-17, अंडर-23 टीम का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने क्रिकेट एसोसिएशन से संपर्क करना शुरू कर दिया, क्योंकि यहां भी कई लोग केवल कागजों पर ही स्कोर कर रहे थे। अभिषेक कहते हैं- इससे हमारे ऐप की अहमियत बढ़ गई है। अभी हमारे ऐप से 24 राज्य क्रिकेट संघ जुड़े हुए हैं। देश के 100 से अधिक जिला स्तरीय क्रिकेटर संघ भी शामिल हैं। वहीं, ICC के 25-30 क्रिकेट संघ भी हमारे साथ जुड़े हुए हैं। देश के साथ-साथ विदेशों में श्रीलंका, अफगानिस्तान, अफ्रीका, यूरोप, अमेरिका जैसे क्रिकेट संघ भी इस ऐप का उपयोग कर रहे हैं।

कैसे कर क्रिक हीरोज का उपयोंग

क्रिक हीरोज में शामिल होने के लिए खिलाड़ियों को पंजीकरण कराना होगा। लॉग इन करने के बाद, जब भी वे हों, आप मैच स्कोर करना शुरू कर सकते हैं। आपके पूरे मैच की लाइव स्कोरिंग शुरू हो जाएगी। इसका मतलब है कि दुनिया में कोई भी आपके मैच का स्कोर देख सकेगा। साथ ही आप एक क्रिकेटर के रूप में अपना प्रोफाइल भी बना सकते हैं। यानी आपने अब तक अपने मैचों में कितने रन बनाए हैं, स्ट्राइक रेट क्या है, औसत क्या है, ऐसे कई डेटा पॉइंट हैं, जो आपको अपने आप मिल जाएंगे. इससे खिलाड़ी अपने खेल में और सुधार कर सकेगा। उनका कहना है कि क्रिकेट स्कोर देखने का कोई शुल्क नहीं है, लेकिन अगर कोई मैच को लाइव स्ट्रीम करना चाहता है तो उसे प्रति मैच 199 रुपये देने होंगे।

किसी भी साल का देख सकते है मैच

क्रिक हीरोज में शामिल होने के बाद खिलाड़ी के सभी मैचों का डेटा बना रहता है। यानी 5 साल बाद भी उन्हें अपने पुराने मैच का डेटा मिल सकता है। उदाहरण के लिए, किसी खिलाड़ी ने किस तारीख को कौन सा मैच खेला, कितने रन बनाए, वह कैसे आउट हुआ, आदि। इससे खिलाड़ी को यह पता चल सकेगा कि उसके खेल से हर साल कितना अंतर आ रहा है। इसके साथ ही इस ऐप में लाइव स्क्रीनिंग का फीचर भी जोड़ा गया है, जिससे खिलाड़ी अपने मैच को मोबाइल के कैमरे के जरिए ही लाइव कर सके। इससे देश-विदेश में बैठे लोग भी आपका मैच लाइव देख सकते हैं। लाइव स्क्रीनिंग में खिलाड़ी की हर गेंद के अलग-अलग वीडियो अपने आप बन जाते हैं। यानी खिलाड़ी मैच की हाइलाइट्स भी देख सकता है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com