HDFC-HDFC Bank Mega Merger: दोनों का हो रहा विलय, स्टॉक में आया उछाल

HDFC-HDFC Bank Mega Merger: हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन (HDFC) देश की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कम्पनी है और HDFC बैंक देश का सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक है। HDFC और HDFC बैंक का विलय होने जा रहा है।
HDFC-HDFC Bank Mega Merger: दोनों का हो रहा विलय, स्टॉक में आया उछाल
photo | zeebiz

HDFC-HDFC Bank Mega Merger: हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन (HDFC) देश की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कम्पनी है और HDFC बैंक देश का सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक है। HDFC और HDFC बैंक का विलय होने जा रहा है। इस बात की मंजूरी दोनों कंपनियों के बोर्ड के मीटिंग में सोमवार को यानि आज दी है।

इस मर्जर से निवेशकों को काफी लाभ मिलने वाला है। इस डील के तहत HDFC बैंक में HDFC की 41 % की हिस्सेदारी रहेगी। इस ऐलान के सामने आते ही दोनों कम्पनियों के स्टॉक में जबरदस्त उछाल आया। सुबह के 10 बजे बीएसई पर HDFC का स्टॉक 13.60 फीसदी चढ़ा हुआ था।

इसी तरह HDFC Bank का स्टॉक भी करीब 10 फीसदी की तेजी में था। HDFC के अनुसार इस डील का मकसद HDFC बैंक के हाउसिंग लोन पोर्टफोलियो को बेहतर बनाना और इसका मौजूदा कस्टमर बेस बढ़ाना है।

नियामकों से मंजूरी मिलना है बाकी

इस विलय के लिए दोनों कंपनियों को RBI, SEBI, CCI, National Housing Bank, IRDAI, PFRDA, NCLT, BSE, NSE आदि नियामकों से मंजूरी मिलना अभी बाकी है। इनके अलावा दोनों कंपनियों को अपने-अपने शेयरहोल्डर्स और क्रेडिटर्स से भी मंजूरी लेनी होंगी। ये मंजूरी मिल जाने के बाद ही एचडीएफसी की सारी सब्सिडियरीज और एसोसिएट एचडीएफसी बैंक का हिस्सा हो पाएंगे। यह विलय फाइनेंशियल ईयर 2024 की दूसरी या तीसरी तिमाही तक पूरा हो जाएगा।

ये बराबरी का विलय है - दीपक पारेख (CHAIRMAN OF HDFC LTD.)

Photo | economic times
HDFC Ltd के चेयरमैन दीपक पारेख ने इस विलय को बराबरी का विलय बताया। उन्होंने कहा कि RERA के लागू होने, हाउसिंग सेक्टर को इंफ्रास्ट्रक्चर का दर्जा मिलने और अफोर्डेबल हाउसिंग को लेकर सरकार की पहल जैसे तमाम दूसरी चीजों के कारण हाउसिंग फाइनेंस बिजनेस में बड़ी तेजी आएगी। इसके अलावा पिछले कुछ साल में बैंकों और NBFC का रेगुलेशन बेहतर बनाया गया है, इससे विलय की संभावना बनी। इससे बड़ी बैलेंस शीट को बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर लोन के इंतजाम का मौका मिला। साथ ही इकोनॉमी की क्रेडिट ग्रोथ बढ़ी। अफोर्डेबल हाउसिंग को बढ़ावा मिला और कृषि सहित सभी प्रायोरिटी सेक्टर को पहले से ज्यादा कर्ज दिया गया।

शेयर होल्डर्स को क्या होगा फायदा ?

HDFC और HDFC बैंक के विलय का फायदा दोनों कंपनियों के शेयरहोल्डर्स को होने वाला हैं। इस विलय के बाद HDFC बैंक 100 % सार्वजानिक शेयरधारकों के स्वामित्व वाली कम्पनी बन जाएगी। जिसके बाद HDFC लिमिटेड के पास HDFC बैंक की 41 % हिस्सेदारी होगी। अगर इन दोनों के शेयर एक्सचेंज की बात करें तो HDFC बैंक के 2 रुपए फेस वैल्यू वाले 25 फुली पेड-अप इक्विटी शेयरों के बदले में HDFC के 1 रुपए फेस वैल्यू के 42 फुली पेड अप इक्विटी होंगे।

सुनिधि शुक्ला की रिपोर्ट-

Since independence
hindi.sinceindependence.com