गलवान नदी पर भारत का पुल तैयार, इसी पुल से चीन को सबसे ज्यादा आपत्ति थी

यह एक 4-स्पैन 60 मीटर लंबा पुल है, जो श्योक और गलवान दरिया के संगम से लगभग तीन किलोमीटर पूर्व में है
गलवान नदी पर भारत का पुल तैयार, इसी पुल से चीन को सबसे ज्यादा आपत्ति थी

डेस्क न्यूज़ – भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण गलवान घाटी में गलवान नदी पर 60 मीटर लंबा पुल बना लिया है। इस पुल पर चीन को सबसे अधिक आपत्ति थी, लेकिन भारतीय सेना ने इसे तैयार कर लिया। भारतीय सेना ने पहले गलवान घाटी पर कब्जा करने की चीनी सैनिकों की योजना को विफल कर दिया था।

बेग ओल्डी (डीबीओ) और काराकोरम तक तेजी से पहुंचने में मदद मिलेगी

इस पुल के निर्माण से भारतीय सेना को दौलत बेग ओल्डी (डीबीओ) और काराकोरम तक तेजी से पहुंचने में मदद मिलेगी। पुल के निर्माण के साथ, एलएसी के अंत तक सैनिकों और सैन्य उपकरणों की आवाजाही भी आसान हो गई है। यह पुल गुरुवार को पूरा हो गया है। यह एक 4-स्पैन पुल है जो श्योक और गलवान दरिया के संगम से लगभग तीन किलोमीटर पूर्व में है। पहले इस धारा के ऊपर एक लकड़ी का पुल था। लकड़ी के पुल के साथ सैन्य वाहनों और उपकरणों को पार करना मुश्किल था।

गलवान घाटी पर चीन की शुरू से बुरी नज़र

गलवान घाटी में तैनात सेना के एक अधिकारी के अनुसार, चीन की नज़र शुरू से ही गलवान घाटी पर रही है। अगर चीन इस घाटी पर कब्जा कर लेता तो भारतीय सेना के लिए दौलत बेग ओल्डी एयरफील्ड और काराकोरम दर्रे तक पहुंचना मुश्किल हो जाता। यह सिल्क रूट का भी हिस्सा है। इस घाटी पर चीन के कब्जे का मतलब चीन द्वारा पूर्वी लद्दाख में नाकाबंदी करना था। दौलत बेग ओल्डी का रास्ता भी इसी मार्ग से होकर निकलता है और काराकोरम के लिए भी यही रास्ता जाता है।

अधिकारी ने कहा कि बिंदु 14 के पीछे उनका इरादा था जिसे चीनी सेना ने सोमवार रात को पकड़ने का प्रयास किया। बिंदु -14 पर चीनी सैनिकों की उपस्थिति के कारण, भारतीय जवानों के लिए सड़क से बाहर निकलना मुश्किल हो जाता। चीन हमारे संपर्क को काटने के मूड में था, लेकिन भारतीय जवानों ने चीन के इरादों को टाल दिया।

समय से पहले तैयार हुआ पुल

बिंदु -14 पर संघर्ष के दो दिन बाद, गलवान नदी पर पुल का काम पूरा होना एक बड़ी उपलब्धि है। चीन के विरोध और चीनी सेना द्वारा घुसपैठ के बावजूद, भारतीय सेना के इंजीनियरों और सीमा सड़क संगठन ने समय से पहले गलवान नदी पर पुल तैयार किया है।

Like and Follow us on :

Related Stories

No stories found.