जयपुर: पूर्व सरपंच ने खुद ही करवाया अपना किडनैप,1.50 लाख रुपये का था कर्ज

सुमेल के वर्तमान सरपंच अजय सिंह को निशाना बनाया, उसे सेक्सटॉर्शन के बहाने बुलाकर मौज मस्ती का झांसा दिया।
जयपुर: पूर्व सरपंच ने खुद ही करवाया अपना किडनैप,1.50 लाख रुपये का था कर्ज

जयपुर पूर्व सरपंच अपहरण केस

जयपुर-आगरा हाइवे पर पूर्व सरपंच के किडनैप की गुत्थी पुलिस ने 12 घंटे के अंदर - अंदर सुलझा दी। पुलिस पड़ताल में सामने आया कि डेढ़ लाख रुपए का कर्ज चुकाने के लिए जामडोली में सुमेल गांव के भूतपूर्व सरपंच मदन सिंह गुर्जर ने ही खुद के अपहरण व लूट की साजिश रची थी। इसके लिए उसने सगे दोस्त और सुमेल के वर्तमान सरपंच अजय सिंह को निशाना बनाया। उसे सेक्सटॉर्शन के बहाने बुलाकर मौज मस्ती का झांसा दिया।

फिर अपने ही परिचितों की मिलीभगत से अपना और अजय सिंह का अपहरण करवा दिया। बुधवार को वारदात सामने आने पर पुलिस ने तकनीकी अनुसंधान की मदद से अपहरण की साजिश रचने वाले मदन सिंह गुर्जर और अपहरण करने वाले चार बदमाशों को उत्तरप्रदेश में फर्रूखाबाद जिले में राजारामपुरमई गांव से गिरफ्तार कर लिया। पांचों आरोपियों को जयपुर ले आए। वही पुलिस आगे की जाँच पड़ताल कर रही है। जिसमे पकडे गए अपराधियों का क्रिमिनल रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है। पूरे मामले में और किन - किन की भूमिका है उन्हें भी राउंड अप किया जा रहा है।

ये है पूरा मामला

राजधानी जयपुर में सरेआम दबंगई कर पूर्व सरपंच को बन्दूक की नोक पर फिरौती मांगने का मामला सामने आया था। जयपुर के कानोता थाना क्षेत्र में रात्रि करीब 11 बजे, पहले एक कलेक्शन एजेंट से मारपीट कर करीब डेढ़ लाख रुपए लूटे,फिर आगे जाकर सरपंच और पूर्व सरपंच सड़क किनारे खड़े होकर बात - चित कर रहे थे। तभी पीछे से आकर पूर्व सरपंच के साथ मारपीट की और दोनों को गाड़ी में बन्दूक की नोक पर अपहरण किया, 50 किलोमीटर दूर जाकर सरपंच को गाड़ी से बाहर फेक दिया और पूर्व सरपंच को साथ ले गए। और घर वालो को काल करके ऑनलाइन 5 लाख रुपये ट्रांसफर करने के लिए कहा वही कानोता थाना पुलिस ने बताया की देर रात तक यह ऑनलाइन ट्रांसजेक्शन के लिए फाॅर्स करते रहे थे।

<div class="paragraphs"><p>अशोक परनामी</p></div>

अशोक परनामी

कलेक्शन एजेंट की सूचना पर कानोता पुलिस ने लुटेरों की तलाश करना शुरू की।

अपहरण की सुचना मिलते ही आलाअधिकारी मोके पर पहुंचे। बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी भी पहुंचे और परिजनों के साथ कानोता थाने गए। अशोक परनामी ने एसीपी बस्सी मेघचंद मीणा से मुलाकात की। परनामी ने जल्द ही बदमाशों को पकड़कर किडनैप पूर्व सरपंच की रिहाई की मांग की।

सुमेल ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच मदन गुर्जर और वर्तमान सरपंच अजय सिंह की कार लूटी व दोनों को उसी कार में अगवा कर भाग निकले। कलेक्शन एजेंट की सूचना पर कानोता पुलिस ने लुटेरों की तलाश करना शुरू की। नाकाबंदी भी करवाई,लेकिन तब तक बदमाश बस्सी टोल से होकर भाग निकले। सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है की बदमाश अपहरण की वारदात से पहले किसी किराना व्यापारी से 1.50 लाख रूपये की लूट की थी।

फ़िलहाल जगह - जगह नाकाबंदी करवाई गयी है और स्पेशल टीम का भी गठन किया गया है।

वही बताया जा रहा था की 6 बदमाश 2 बाइक पर सवार होकर आये थे। बदमाशों ने बाइक को कानोता में ही छोड़ी बाद में उन्होंने सरपंचो को ही गाड़ी के साथ अगवा किया। जिसमे एक सरपंच को 50 किलोमीटर पहले ही फेक दिया था फ़िलहाल जगह - जगह नाकाबंदी करवाई गयी है और स्पेशल टीम का भी गठन किया गया है।

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है की मदन गुर्जर को अपने साथ कार में पटककर ले गए। वे उनको बस्सी के आसपास जंगलों में घूमाते रहे। पहले डेढ़ लाख रुपए भी मांगे। इंकार करने पर आगे ले गए। बताया जा रहा है कि मदन गुर्जर के अपहरण के बाद अपहर्ताओं ने उसके परिवार के सदस्यों को फोन किया और पैसे नहीं देने पर जान से मारने की धमकी थी।

<div class="paragraphs"><p>जयपुर पूर्व सरपंच अपहरण केस</p></div>
CM Ashok Gehlot : राजस्थान में आर्थिक व्यवस्था को तगड़ा झटका

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com