प्राइवेट स्कूल में 7वीं के स्टूडेंट को होमवर्क नहीं करने पर इतना मारा की बच्चे की हुई मौत, टीचर अरेस्ट, स्कूल की मान्यता रद्द

राजस्थान के चुरू में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. जिले के सालासर थाना क्षेत्र के ग्राम कोलासर में बुधवार दोपहर एक शिक्षक की पिटाई से सातवीं कक्षा के एक बच्चे की मौत हो गयी. 13 साल का बच्चा होमवर्क करके नहीं गया था।
प्राइवेट स्कूल में 7वीं के स्टूडेंट को होमवर्क नहीं करने पर इतना मारा की बच्चे की हुई मौत, टीचर अरेस्ट, स्कूल की मान्यता रद्द

राजस्थान के चुरू में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. जिले के सालासर थाना क्षेत्र के ग्राम कोलासर में बुधवार दोपहर एक शिक्षक की पिटाई से सातवीं कक्षा के एक बच्चे की मौत हो गयी. 13 साल का बच्चा होमवर्क करके नहीं गया था।

राजस्थान के चुरू में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया

टीचर ने उसे जमीन पर पटक-पटकर लात-घूसों से इतना मारा कि उसके नाक से खून बहने लगा। काफी देर तक जब उसे होश नहीं आया तो आरोपी शिक्षक उसे अस्पताल ले गया। वहां डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। बच्चे के पिता की शिकायत पर आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया गया है. शिक्षा मंत्री ने अधिकारी को जांच पूरी होने तक स्कूल की मान्यता रद्द करने के निर्देश दिए हैं.

सिर, आंख और मुंह पर चोट के निशान

पिता ने बताया कि बच्चे के सिर, आंख और मुंह पर चोट के निशान थे. पुलिस ने बताया कि स्कूल आरोपी शिक्षक के पिता बनवारी लाल का है। बच्चा मॉडर्न पब्लिक स्कूल में पहली कक्षा में पढ़ता था। रिपोर्ट दर्ज कर पोस्टमॉर्टम किया जा रहा है। इसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा। मृतक बालक गणेश तीन भाई-बहनों में मंझला था।

सालासर थाना प्रभारी संदीप विश्नोई ने बताया कि गांव कोलासर निवासी 13 वर्षीय गणेश एक निजी स्कूल में पढ़ता था. बुधवार सुबह बच्चा स्कूल गया था, जहां शिक्षक मनोज ने होमवर्क नहीं करने पर उसकी पिटाई कर दी। इस वजह से उसकी जान चली गई। पिता की रिपोर्ट पर शिक्षक के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है.

बच्चे ने 15 दिन पहले पिता से शिक्षक की शिकायत की थी।

पिता ओमप्रकाश ने पुलिस को बताया कि सुबह करीब साढ़े नौ बजे स्कूल के शिक्षक मनोज का फोन आया। शिक्षिक ने कहा कि गणेश गृहकार्य करके के नहीं आया था। पिटाई के बाद वह बेहोश हो गया। बच्चे को अस्पताल लेकर जा रहे है। इसके बाद पिता अस्पताल पहुंचे, लेकिन उससे पहले डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया था. बच्चे ने 15 दिन पहले भी पिता से शिक्षक की शिकायत की थी। बच्चे ने बताया था कि शिक्षक मनोज बेवजह मारपीट करता है।

पिता से बोला- नाटक कर रहा है बच्चा ले जाओ

बच्चे के बेहोश होने के बाद भी शिक्षिका ने बेशर्मी दिखाई। पिता को फोन कर बताया कि बच्चा बेहोश होने का नाटक कर रहा है, उसे घर ले जाओ। बाद में, आरोपी शिक्षक तबीयत ज्यादा खराब होने पर अस्पताल ले गया। कल शिक्षा विभाग की टीम स्कूल जाएगी। यहां शिक्षकों का रिकॉर्ड कलेक्ट किया जाएगा।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com