बदमाशों ने पीड़ित रामकिशोर को पीटते हुए गाड़ी में बैठाया
बदमाशों ने पीड़ित रामकिशोर को पीटते हुए गाड़ी में बैठाया

जयपुर में सब्जी लेने जा रहे छात्र को Car से kidnap किया, फिरौती में मांगे 5 लाख रुपए, रकम नहीं मिली तो सड़क पर फेंक भागे

कार सवार 5-6 बदमाशों ने राम किशोर को पकड़कर जबरदस्ती कार में बैठा लिया और आंखों पर पट्टी बांधकर उसे अपने साथ ले गए। बदमाशों ने पीड़ित का मोबाइल छीन लिया और उसके एक परिचित को फोन कर 5 लाख रुपए की फिरौती मांगी

राजधानी के प्रताप नगर थाना इलाके में सोमवार रात अपने दो दोस्तों के साथ सब्जी खरीदने जा रहे 20 वर्षीय युवक का कार सवार बदमाशों ने अपहरण किया। बदमाश उसे कई घंटों तक शहर के अलग-अलग इलाकों में घुमाते रहे। इस दौरान बदमाशों ने पीड़ित के एक परिचित को फोन कर 5 लाख रुपए की फिरौती मांगी। परिचित ने जब राशि की व्यवस्था नहीं हो पाने की बात कही तो बदमाशों ने पीड़ित के साथ मारपीट कर उसे सुनसान जगह एक सड़क किनारे फेंक कर चले गए। पूरे घटनाक्रम को लेकर पीड़ित ने मंगलवार रात प्रताप नगर थाने पहुंच कर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ अपहरण, मारपीट और फिरौती मांगने का मामला दर्ज करवाया है।

मामले में प्रताप नगर थाना पुलिस cctv फुटेज खंगाल रही है
मामले में प्रताप नगर थाना पुलिस cctv फुटेज खंगाल रही है

जयपुर में राह चलते युवक के साथ किडनैपिंग कर फिरौती मांगना पुलिस के लिए बदमाशों की और से बड़ा चैलेंज है। आम स्टूडेंट को दिन दहाड़े किडनैपिंग कर फिरौती मांगना पुलिस के lion order को बदमाशों की और से चैलेंज करता है।

मामले में एक अचंभित बात यह है की जिस समय रामकिशोर को बदमाशों ने किडनैप किया उस समय उसके साथ दो दोस्त और थे। जिन्हे बदमाशों ने नहीं उठाया और रामकिशोर को ही गाड़ी में बिठाया।

जाँच अधिकारी ने दी मामले में जानकारी

मामले में जांच कर रहे जांच अधिकारी रामकिशोर ने बताया कि सवाई माधोपुर निवासी 20 वर्षीय युवक अपने दो दोस्तों के साथ सब्जी लेने सेक्टर 6 की डिस्पेंसरी के पास जा रहा था। इस दौरान कार सवार 5-6 बदमाशों ने उसे पकड़कर जबरदस्ती कार में बैठा लिया और आंखों पर पट्टी बांधकर उसे अपने साथ ले गए। बदमाशों ने पीड़ित का मोबाइल छीन लिया और उसके एक परिचित को फोन कर 5 लाख रुपए की फिरौती (Kidnapping In Jaipur) मांगी। उन्होंने ने इस बारे में पुलिस को बताने पर पीड़ित को जान से मारने की धमकी दी।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com