छत पर सो रहे युवक को पैंथर ने मार डालाः झाड़ियों में छुपाया सिर-पैर, पिंजरे में मृतक की शर्ट और मांस का टुकड़ा लगाकर पकड़ा

छत पर सो रहे युवक को पैंथर ने मार डालाः झाड़ियों में छुपाया सिर-पैर, पिंजरे में मृतक की शर्ट और मांस का टुकड़ा लगाकर पकड़ा

प्रतापगढ़ इलाके में गुरुवार सुबह तेंदुए ने दो युवकों पर हमला कर दिया, जिसमें एक की मौत हो गई. शिकार के बाद तेंदुआ युवक के आधे शव को लेकर झाड़ियों में छिप गया। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। रात में 15 कैमरों और 7 पिंजरों के साथ तेंदुए का इंतजार किया गया। मृतक की कमीज और मांस को पिंजरे में रखा गया। तेंदुआ फंस गया। रेस्क्यू कर उसे सज्जनगढ़ के जैविक उद्यान में छोड़ दिया गया। घायल युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

प्रतापगढ़ इलाके में गुरुवार सुबह तेंदुए ने दो युवकों पर हमला कर दिया, जिसमें एक की मौत हो गई. शिकार के बाद तेंदुआ युवक के आधे शव को लेकर झाड़ियों में छिप गया। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। रात में 15 कैमरों और 7 पिंजरों के साथ तेंदुए का इंतजार किया गया। मृतक की कमीज और मांस को पिंजरे में रखा गया। तेंदुआ फंस गया। रेस्क्यू कर उसे सज्जनगढ़ के जैविक उद्यान में छोड़ दिया गया। घायल युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

प्रतापगढ़ इलाके में तेंदुए ने दो युवकों पर हमला कर दिया, जिसमें एक की मौत हो गई

प्रतापगढ़ जिले की ग्राम पंचायत पाल के मोगिया अंबा गांव में कालिया (46) पुत्र ललिया मीणा खेत में बने मकान की छत पर सो रहा था. सुबह तेंदुआ खेत में आया और घर के ऊपर चढ़ गया। उसने कालिया के पूरे शरीर को नोंच खाया। झाडिय़ों में सिर और पांव रखकर वह चला गया। सुबह जब कालिया की बेटी चाय लेकर पहुंची तो खून देखकर रोने लगी। आवाज सुनते ही ग्रामीण जमा हो गए। खेत से कुछ ही दूरी पर धावाड़ी घाटी के पास शांतिलाल के बेटे हीरा मीणा पर भी हमला किया गया। ग्रामीणों के शोर मचाने पर तेंदुआ भाग गया। घायलों को प्रतापगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया गया। ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी।

शूटर को भी बुलाया

चित्तौड़गढ़ से टीम के साथ पहुंचे डीएफओ डॉ. टी मोहनराज। वन विभाग की टीम ने मौके का मुआयना किया। तेंदुए को पकड़ने के लिए 7 पिंजरे और 15 कैमरे लगाए गए थे। धारियावद, बड़ीसादड़ी, जाखम और बस्सी के वन विभाग से करीब 35 से 40 सदस्यों की टीम और उदयपुर से शूटर को बुलाया गया. विधायक रामलाल मीणा भी मौके पर पहुंचे.

तेंदुए को पकड़ने के लिए बिछाया जाल

डीएफओ टी मोहन राज ने बताया कि तेंदुए ने युवक के पैर और सिर को झाड़ियों में छोड़ दिया था. इससे अंदाजा था कि वह शिकार को लेने जरूर आएगा। शव का अंतिम संस्कार कराने के बाद उसकी कमीज का एक टुकड़ा और कुछ मांस एक पिंजरे के अंदर रखा गया। इसके अलावा हर जगह कुछ दूरी पर एक पिंजरा रखा गया। वन विभाग की टीम के अनुमान के मुताबिक वह रात में अपना बचा हुआ खाना खाने के लिए दीवार फांद कर आया। जैसे ही पिंजरे के अंदर गया ट्रैप हो गया।

ग्रामीणों के कहने पर साथ में गए थे सरपंच पति

डॉक्टर टी मोहनराज का कहना है कि इस रेस्क्यू ऑपरेशन में ग्रामीणों ने काफी मदद की. हालांकि कुछ ग्रामीणों को संदेह था कि तेंदुआ पकड़ा जाएगा या नहीं। ग्रामीण सरपंच पति बाबूलाल मीणा को लेकर गए। उनके सामने बायोलॉजिकल पार्क में पैंथर को छोड़ा गया।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com