पाली ACB की कार्रवाई : नागौर जिला परिषद के बाबू को 94 हजार की रिश्वत के साथ रंगे हाथ दबोचा

पाली ACB के ASP महिपाल चौधरी ने बताया कि नागौर जिला परिषद के बाबू सुरेश कुमार ने हरियाणा के रमेशपाल से एक ग्राम पंचायत में 20 टांके व सीसी ब्लॉक के कार्य की वित्तीय स्वीकृति देने की एवज में दो प्रतिशत के हिसाब से 1 लाख 90 हजार रिश्वत की मांग की। इसकी शिकायत परिवादी ने पाली ACB से की।
पाली ACB की कार्रवाई : नागौर जिला परिषद के बाबू को 94 हजार की रिश्वत के साथ रंगे हाथ दबोचा

नागौर जिला परिषद में पाली ACB की बड़ी कार्यवाही

नागौर संवाददाता केशा राम गढ़वार की रिपोर्ट. नागौर में PALI ACB ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जिला परिषद में चल रहे रिश्वत खोरी के खेल का पर्दाफाश किया है। पाली एसीबी ने नागौर जिला परिषद के बाबू सुरेश कुमार व साथी विरेंद्र सांगवा को रंगे हाथों रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। मौका पाकर दोनों का एक साथी घटनास्थल से भाग निकला।

वित्तिय स्वीकृति दिलाने के नाम पर मांगी थी रिश्वत
पाली ACB के ASP महिपाल चौधरी ने बताया कि नागौर जिला परिषद के बाबू सुरेश कुमार ने हरियाणा के रमेशपाल से एक ग्राम पंचायत में 20 टांके व सीसी ब्लॉक के कार्य की वित्तीय स्वीकृति देने की एवज में दो प्रतिशत के हिसाब से 1 लाख 90 हजार रिश्वत की मांग की। इसकी शिकायत परिवादी ने पाली ACB से की। जिसका सत्यापन एसीबी ने 8 मार्च को ही कर लिया था। आरोपी बाबू सुरेश कुमार बेहद शातिराना तरीके से परिवादी को अटकाता रहा और रिश्वत की मांग करता रहा। बुधवार को बाबू सुरेश कुमार ने परिवादी से स्वीकृत कामों के बदले 2 प्रतिशत के हिसाब से 94 हजार की रिश्वत ली। इसी दौरान एसीबी की टीम मौके पर पहुंची और आरोपी बाबू सुरेश कुमार व साथी विरेंद्र सांगवा को गिरफ्तार कर लिया।
आरोपी का एक साथी मौके से फरार
बुधवार देर रात एसीबी ने जिला परिषद के पास ही इस कार्रवाई को अंजाम दिया। घटनास्थल पर एसीबी को देखकर आरोपी बाबू ने अपने मित्र विरेंद्र सांगवा की स्कोर्पियों मॆं रिश्वत राशि सीट के नीचे डाल दी। जहां से एसीबी ने रुपए बरामद कर आरोपी बाबू सुरेश कुमार व सहयोगी विरेंद्र सांगवा को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी का तीसरा साथी मौका पाकर घटनास्थल से फरार हो गया। एसीबी आरोपी की तलाश कर रही है।
जांच में जुटी ACB टीम
देर रात्रि तक एसीबी अपनी कार्रवाई पूरी करने में जुटी रही। आरोपी बाबू सुरेश कुमार ने जिला परिषद के अधिकारियों के नाम से यह रिश्वत राशि ली। उन अधिकारियों में कौन कौन शामिल है और उनकी भूमिका क्या है इसकी जांच जारी है।
<div class="paragraphs"><p>नागौर जिला परिषद में पाली ACB  की बड़ी कार्यवाही</p></div>
Birbhum Violence: आग में नवविवाहित दंपत्ति को भी जिंदा जलाया, त्योहार मनाने घर आए थे

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com