Rajasthan: शिक्षा के मंदिर में फिर दलित छात्र से क्रूरता; शिक्षक और प्राचार्य ने लोहे के पाइप से बेरहमी से पीटा

सीकर में एक दलित छात्र के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। आरोप है कि पहले शिक्षक और स्कूल के प्राचार्य ने थप्पड़ जड़ा। इसके बाद डायरेक्टर ने असेंबली ग्राउंड में छात्र को लोहे के पाइप से पीटा
Rajasthan: शिक्षा के मंदिर में फिर दलित छात्र से क्रूरता; शिक्षक और प्राचार्य ने लोहे के पाइप से बेरहमी से पीटा
photo- social media

राजस्थान में आए दिन दलितों पर अपराध के मामले सामने आते रहते है इसी बीच सीकर में एक दलित छात्र के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। आरोप है कि पहले शिक्षक और स्कूल के प्राचार्य ने थप्पड़ जड़ा। इसके बाद डायरेक्टर ने असेंबली ग्राउंड में छात्र को लोहे के पाइप से पीटा।

क्या है पूरा मामला
श्रीमाधोपुर के रहने वाले एईएन रामकेश ने बताया कि उनका 16 वर्षीय भतीजा श्रीमाधोपुर के एक स्कूल में 12वीं कक्षा में पढ़ता है। वह 31 अगस्त की सुबह करीब 8 बजे स्कूल के असेंबली ग्राउंड में शिक्षिका ने उसे आगे आने को कहा। अभिषेक आगे की तरफ चलने लगा तो टीचर ने उसे थप्पड़ मारना शुरू कर दिया। ऐसे में जब अभिषेक एक बार पीछे मुड़ा तो गलती से उसका हाथ टीचर को छू गया। इसके बाद स्कूल के प्रिंसिपल सागरमल ने उसे अपने ऑफिस बुलाया और वहां भी मारपीट की। इसके बाद डायरेक्टर प्रदीप जाट ने असेंबली ग्राउंड में अभिषेक के कपड़े उतार दिए और लोहे के पाइप से उसकी बेरहमी से पिटाई कर दी।

बच्चे के शरीर पर मारपीट के गहरे निशान

पिटाई के बाद स्कूल स्टाफ ने एईएन रामकेश को फोन किया और अभिषेक को लेकर आने को कहा। ऐसे में चाचा अभिषेक को अपने साथ ले आए और कमरे पर छोड़ा। रामकेश ने अभिषेक से घटना के बारे में पूछा। बच्चे के शरीर पर मारपीट के गहरे निशान देखकर परिजन सहम गए। जिसके बाद परिजनों ने श्रीमाधोपुर थाने में मामला दर्ज कराया है। वहीं, छात्र का कहना है कि उसे स्कूल में सबके सामने मारा गया। उसका हाथ गलती से शिक्षक को छू गया। वह मिन्नत करता रहा लेकिन डायरेक्टर उसे रॉड से मारता रहा।

स्कूल शिक्षक मुकेश ने भी मामले में छात्र के खिलाफ थप्पड़ मारने का मामला दर्ज कराया है। फिलहाल दोनों मामलों की जांच जारी है।
रिंगस डिप्टी कन्हैया लाल

इससे पहले भी आए कई मामले सामने

राजस्थान के जालोर में 20 जुलाई को तीसरी कक्षा में पढ़ने वाले 9 साल के दलित छात्र ने स्कूल में पानी की मटकी छू ली, टीचर ने उसे इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई।

दौसा में 6 अगस्त को एक दलित बच्चे के साथ बेरहमी से मारपीट का मामला सामने आया जिसमें सरकारी स्कूल के शिक्षक पर मारपीट का आरोप लगा। गंभीर बात यह है कि बच्चे के साथ मारपीट के बाद स्कूल प्रशासन ने भी मामले को दबाने की कोशिश की। वहीं पुलिस ने भी मुकदमा दर्ज नहीं किया। घटना के करीब 19 दिन बाद इस मामले में मुकदमा दर्ज हो सका।

Rajasthan: शिक्षा के मंदिर में फिर दलित छात्र से क्रूरता; शिक्षक और प्राचार्य ने लोहे के पाइप से बेरहमी से पीटा
व्यापार में किया समझौता निकला ठग: जयपुर में चोखी ढाणी के प्रबंधन से हुई 14.9 लाख की साइबर 'ठगी'
Since independence
hindi.sinceindependence.com