जयपुर में गैस की टंकी काटते समय लगी आग: SMS में इलाज के दौरान दादी -पोती की मौत,1 मासूम की स्थिति नाजुक

आग का गोला दुकान से 30 फीट दूर सामने रहने वाले घर तक पहुंच गया इस दौरान घर के बाहर अपनी दादी के साथ बैठकर खेल रहे 5 मासूम और दादी आग की चपेट में आने से गंभीर रूप से झुलस गए
जयपुर में गैस की टंकी काटते समय लगी आग: SMS में इलाज के दौरान दादी -पोती की मौत,1 मासूम की स्थिति नाजुक
आग में झुलसी मासूम

राजधानी जयपुर के सदर थाना इलाके में सोमवार देर शाम एक कबाड़ी की दुकान पर कार में लगने वाली गैस किट के सिलेंडर को काटते समय आग लग गई। आग इतनी तेज थी की आग की लपटे तेजी से दूसरे घरो तक जाने लगी। घटना में झुलसे 6 लोगों में से दो लोगों की मंगलवार देर रात एमएमएस अस्पताल के बर्न वार्ड में इलाज के दौरान मौत हो गई। हादसे में झुलसे 4 मासूमों का अस्पताल में इलाज जारी है।SMS में डॉ.की जानकारी अनुसार एक मासूम की स्थिति काफी नाजुक बताई जा रही है।

वही जयपुर सदर थानाधिकारी पृथ्वीपाल सिंह ने बताया कि हसनपुरा के राजीव नगर स्थित अजमेरी मस्जिद के पास कबाड़ी की दुकान पर कटर से कार में लगने वाली गैस किट के सिलेंडर को काटते समय आग लगी थी। आग का गोला दुकान से 30 फीट दूर सामने रहने वाले घर तक पहुंच गया इस दौरान घर के बाहर अपनी दादी के साथ बैठकर खेल रहे 5 मासूम और दादी आग की चपेट में आने से गंभीर रूप से झुलस गए। जिन्हें SMS अस्पताल के बर्न वार्ड में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया। जहां देर रात इलाज के दौरान 60 वर्षीय मेहरून्निसा उर्फ महरो और 6 वर्षीय मुसरा उर्फ बबरा की मौत हो गई।

आग में झुलसा घर
आग में झुलसा घर

हादसे के बाद आरोपी फरीद फरार

वहीं, हादसे में घायल हुए 3 वर्षीय अबू बकर, 5 वर्षीय फैजान, 5 वर्षीय खुशी और 3 वर्षीय बिन्नी का अस्पताल में इलाज जारी है. इस पूरे प्रकरण को लेकर हादसे का शिकार हुए मृतकों के परिवार के मुखिया जावेद के जीजा की ओर से पुलिस में कबाड़ी की दुकान का संचालन करने वाले फरीद और उसके बेटे जुबिन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया गया है। हादसे के वक्त फरीद का बेटा जुबिन ही कटर से कार में लगने वाली गैस किट के सिलेंडर को काट रहा था और सिलेंडर में मौजूद गैस में आग लगने से हादसा घटित हुआ। जिसमे फरीद पर लोगो ने लापरवाही के इल्जाम लगाया है। हादसे के बाद आरोपी फरार चल रहे हैं जिनकी तलाश में पुलिस टीम जुटी हुई है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com