पुष्कर में बैठकर विदेशों से ठगी, 10वीं पास लेकिन फर्राटेदार अंग्रेजी में बात, बोलने का अंदाज भी पूरी तरह से अमेरिकियों से मिलता-जुलता

रॉक्स एंड वुड्स रिजॉर्ट से बिहार निवासी सेंटर संचालक राहुल राज समेत आठ अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, इसमें शीश महल आरएनपी पार्क, बहिंदर पूर्वी महाराष्ट्र निवासी लक्ष्मण राउत, आनंद गुजरात निवासी दर्शन दवे, त्रिवेणी सोसाइटी मीरा रोड मुंबई निवासी रोहन यादव, मीरा रोड ईस्ट बालाजी होटल, कमल के पास मुंबई निवासी बाबर शेख शामिल हैं
पुष्कर में बैठकर विदेशों  से ठगी, 10वीं पास लेकिन फर्राटेदार अंग्रेजी में बात, बोलने का अंदाज भी पूरी तरह से अमेरिकियों से मिलता-जुलता

डेस्क न्यूज़- पुष्कर के दो लग्जरी रिसॉर्ट में चल रहे कॉल सेंटर पर छापेमारी के बाद चौंकाने वाला खुलासा हुआ है, यहां से गिरफ्तार किए गए 10वीं-12वीं पास ठग फर्राटेदार अंग्रेजी बोलते हैं, उनके बोलने का अंदाज भी पूरी तरह से अमेरिकियों से मिलता-जुलता है, इस वजह से पुष्कर में बैठकर ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के लोगों से फर्जी तरीके से उनके खातों में पैसे ट्रांसफर करते हैं, खास बात यह है कि इन फर्जी कॉल सेंटरों के संचालकों ने सबसे पहले वहां के नागरिकों का डाटा विदेशी साइटों से खरीदा, फिर कॉल या मैसेज के जरिए ठगी करने लगा, इन युवकों को ठगी से मिलने वाले वेतन व राशि पर 25 हजार रुपये प्रतिमाहइंसेंटिव राशि दी जाती है

अजमेर ग्रामीण के सहायक पुलिस अधीक्षक आईपीएस सुमित मेहरा ने बताया कि पुष्कर के 'द नेचर रिट्रीट' और रॉक्स एंड वुड्स रिसॉर्ट में छापेमारी कर संचालकों समेत 17 युवकों और एक लड़की को गिरफ्तार किया गया है, उनसे पूछताछ की जा रही है, उनके कब्जे से 17 लैपटॉप, 19 मोबाइल, 12 हेडफोन, मोडेम, राउटर और अन्य उपकरण जब्त किए गए हैं, ये मुंबई, अजमेर, दिल्ली, कोटा, गाजियाबाद और नागौर के रहने वाले हैं।

यह हैं माजरा

साइबर सेल जयपुर की सूचना के आधार पर पुलिस टीमों ने गुरुवार को अजमेर जिले के पुष्कर में दो अलग-अलग रिसॉर्ट में छापेमारी कर फर्जी कॉल सेंटरों का खुलासा किया, यहां बैठे युवक विदेशी लोगों के साथ ऑनलाइन ठगी करते थे, एक जगह अमेजॉन का प्रतिनिधि बनकर अमेरिका को ठगा गया और दूसरी जगह ऑस्ट्रेलिया में आयकर अधिकारी बनकर लोगों को ठगा गया, यह कार्रवाई अजमेर ग्रामीण सहायक पुलिस अधीक्षक मेहरदा के नेतृत्व में की गई, यह खेल पिछले 3 महीने से चल रहा था, सबके नाम पर अलग-अलग कमरे बुक थे, आरोपी की पहचान सही थी, इसलिए होटल संचालकों को भी कोई शक नहीं हुआ, आरोपी ने इससे कितना पैसा कमाया, कितने लोग शिकार हुए, क्या भारत में भी इस गिरोह ने ठगी की, कितने और लोग गिरोह से जुड़े हैं, इन सभी सवालों का जवाब देने के लिए पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है।

नेचर रिट्रीट रिजॉर्ट से 10 गिरफ्तार

द नेचर रिट्रीट रिजॉर्ट से झिलमिल कॉलोनी, ग्रीन वे मॉडल स्कूल दिल्ली निवासी यश खन्ना, लोधी कॉलोनी दिल्ली निवासी फ्रेंडली क्रिश्चियन, छतरपुर एक्सटेंशन नई दिल्ली निवासी रवि कुमार मल्हार, दक्षिणपुरी अंबेडकर नगर नई दिल्ली निवासी अभिषेक मीणा, श्रीनाथपुरम कोटा निवासी तुषार बरोदिया, वंदना एन्क्लेव , खोड़ा कॉलोनी, गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश निवासी कृष्ण शुक्ला, संगम विहार नई दिल्ली निवासी स्वाति सिलशवाल, उद्योग नगर कोटा निवासी विकास सामरिया, खाती टिब्बा मकराना जिला नागौर निवासी विकास राजपुरोहित और निदेशक हॉज खास नई दिल्ली निवासी राहुल जुल्हा को गिरफ्तार किया गया है, ये सभी अमेजन कंपनी का प्रतिनिधि बनकर ठगी करते थे।

रॉक्स एंड वुड्स रिज़ॉर्ट से 8 गिरफ्तार

रॉक्स एंड वुड्स रिजॉर्ट से बिहार निवासी सेंटर संचालक राहुल राज समेत आठ अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, इसमें शीश महल आरएनपी पार्क, बहिंदर पूर्वी महाराष्ट्र निवासी लक्ष्मण राउत, आनंद गुजरात निवासी दर्शन दवे, त्रिवेणी सोसाइटी मीरा रोड मुंबई निवासी रोहन यादव, मीरा रोड ईस्ट बालाजी होटल, कमल के पास मुंबई निवासी बाबर शेख शामिल हैं, गिरफ्तार मुंबई निवासी गोकुल धाम रोगन तड़का होटल के पास राठौड़, प्रगति नगर कोटरा अजमेर निवासी राहुल राज, लोहाखान अजमेर निवासी विनीत उर्फ ​​विक्की, जवाहर नगर निवासी तेजदीप को गिरफ्तार किया, ये सभी आयकर अधिकारी बन गए और ऑस्ट्रेलिया के नागरिकों को धोखाधड़ी का शिकार बना देते थे।

ऐसे करते थे ठगी

आईपीएस मेहरादा ने कहा कि आरोपी विदेशों से डेटा खरीदता था और फिर ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के लोगों के साथ धोखाधड़ी करता था।

इनकम टैक्स विभाग की ओर से बात करने की धमकी

ऑस्ट्रेलिया के लिए तरीका: इनकम टैक्स ऑफिसर बनकर खुद को कॉल करना या मैसेज करना, आप कहते थे कि चार-पांच साल आपका ऑडिट हुआ, इसमें कुछ कमियां पाई गई हैं, यदि आप यह राशि जमा नहीं करते हैं तो आपके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी, इसके बाद वह व्यक्ति अपने खाते में पैसे जमा करता था, इस दौरान फोन करने वाले उसे आश्वासन देते थे कि वह सिर्फ इनकम टैक्स विभाग की ओर से बोल रहा है।

युवा खुद को अमेजन कंपनी का प्रतिनिधि बताते

अमेरिका के कॉल सेंटर के युवा खुद को अमेजन कंपनी का प्रतिनिधि बताते थे, कहा आपने यह सामान खरीदा है, मना करने पर कहते थे कि हमारा सिस्टम दिखा रहा है, इस दौरान बातचीत के माध्यम से उसे विश्वास में लेकर यह बताकर कि अमेजन का अकाउंट हैक हो गया है, कोई भी डेस्क मोबाइल और लैपटॉप में आईपी एड्रेस डालकर ले लेता, इसके बाद हैकिंग का डर दिखाकर परेशानी से निजात दिलाने के नाम पर उन्हें अमेजन कूपन खरीदने के लिए कहता था, कूपन खरीदने के बाद, वह अपना विशिष्ट नंबर लेता और बाद में, वह अपने खातों में डॉलर की राशि को स्थानांतरित करके धोखाधड़ी को अंजाम देता था।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com