जयपुर: प्रेमिका ने प्रेमी से बात करना बंद किया, तो सनकी आशिक़ ने घर जाकर तमंचे से ठोकी गोली

लक्ष्मी का पति देवकरण मजदूरी पर गया हुआ था और इस दौरान लक्ष्मी घर पर अपने बच्चों के साथ अकेली थी। उदयराज ने लक्ष्मी के घर का दरवाजा खटखटाया और जैसे ही लक्ष्मी ने दरवाजा खोला वैसे ही उदयराज ने उस पर फायरिंग कर डाली
प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

जयपुर में एक सनकी आशिक के द्वारा तमंचा तान गोली मारने का मामला सामने आया है। सनकी आशिक़ प्रेमिका के प्यार में इतना पागल हो गया की जब उसने बात करना बंद कर दिया तो उसे गोली मार दी। घायल महिला को SMS अस्पताल में भर्ती कराया गया। स्थानीय लोगो ने मामले की जानकारी सांगानेर थाने में दी।

मामले में डीसीपी ईस्ट राजीव पचार ने बताया कि प्रताप नगर सेक्टर 7 निवासी लक्ष्मी देवी के साथ यह वारदात घटित हुई है। लक्ष्मी देवी अपने पति और दो बच्चों के साथ सेक्टर 7 में निवास करती है। वह मूलत दौसा के मंडावर की रहने वाली है। तकरीबन 5 साल पहले लक्ष्मी अपने पति के साथ मानसरोवर क्षेत्र में रहकर मजदूरी करने का काम किया करती थी और उसी दौरान उसकी मुलाकात उदयराज उर्फ बंटी से हुई।

 गोली लक्ष्मी के कंधे पर लगी और वह नीचे फर्श पर गिर गई
गोली लक्ष्मी के कंधे पर लगी और वह नीचे फर्श पर गिर गई

बच्चों की चीख-पुकार सुन आसपास के लोग मौके पर पहुंचे

इसके बाद दोनों में दोस्ती हो गई और दोनों चोरी-छिपे मिलने जुलने लगे तकरीबन 5 साल तक दोनों के बीच में प्रेम प्रसंग रहा और अभी कुछ दिनों पहले ही लक्ष्मी ने उदयराज से बात करनी बंद कर दी और मिलने से भी मना कर दिया। जिसके चलते उदयराज काफी नाराज हो गया। उसने लक्ष्मी से मिलने की काफी कोशिश की और लक्ष्मी पर मिलने के लिए दबाव डाला। जब लक्ष्मी उससे मिलने के लिए राजी नहीं हुई तो उदयराज पिस्टल लेकर मंगलवार दोपहर उसके घर जा पहुंचा।

लक्ष्मी का पति देवकरण मजदूरी पर गया हुआ था और इस दौरान लक्ष्मी घर पर अपने बच्चों के साथ अकेली थी। उदयराज ने लक्ष्मी के घर का दरवाजा खटखटाया और जैसे ही लक्ष्मी ने दरवाजा खोला वैसे ही उदयराज ने उस पर फायरिंग कर डाली। गोली लक्ष्मी के कंधे पर लगी और वह नीचे फर्श पर गिर गई। इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। वहीं बच्चों की चीख-पुकार सुन आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और लहूलुहान स्थिति में लक्ष्मी को एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया। फ़िलहाल मामले में पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com