मुंबई के शिवसेना MLA सेक्सटॉर्शन मामले में फंसे: ठग ने लड़की बन विधायक से किया वीडियो कॉल, अश्लील वीडियो बनाकर किया ब्लैकमेल

महाराष्ट्र के एक शिवसेना विधायक को भरतपुर के एक ठग ने सेक्सटॉर्शन के मामले में फंसाया है। इस मामले में मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम ने ठग को रविवार आधी रात भरतपुर के सीकरी से गिरफ्तार किया है।
मुंबई के शिवसेना MLA सेक्सटॉर्शन मामले में फंसे: ठग ने लड़की बन विधायक से किया वीडियो कॉल, अश्लील वीडियो बनाकर किया ब्लैकमेल
Image Credit: Dainik Bhaskar

महाराष्ट्र के एक शिवसेना विधायक को भरतपुर के एक ठग ने सेक्सटॉर्शन के मामले में फंसाया है। इस मामले में मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम ने ठग को रविवार आधी रात भरतपुर के सीकरी से गिरफ्तार किया है। इस टीम के साथ सीकरी थाने की पुलिस भी थी। फिलहाल पुलिस विधायक को फंसाने वाले ठग को मुंबई ले जा रही है। वहां उनसे बारीकी से पूछताछ की जाएगी। इसके बाद अन्य आरोपितों को भी पकड़ा जाएगा। सेक्सटॉर्शन के मामले में फंसे शिवसेना विधायक मंगेश कुदारकर मुंबई के कुर्ला विधानसभा क्षेत्र से हैं।

वीडियो एडिट कर बना दिया अश्लील वीडियो

मुंबई के कुर्ला विधायक मंगेश कुड़ारकर को 20 अक्टूबर की रात एक मैसेज मिला। यह संदेश खुद मौसमुद्दीन ने ही किया था। चैट में ठग ने खुद को महिला बताकर विधायक से मदद मांगी। विधायक मंगेश महिला की मदद के लिए तैयार हो गए। कुछ देर बाद विधायक के पास एक महिला का वीडियो कॉल भी आया। महिला ने विधायक से करीब 15 सेकेंड तक बात की और मदद की अरदास लगाई। वीडियो कॉल कटते ही ठग ने अश्लील वीडियो भेज दिया। यह वीडियो विधायक का वीडियो था, जिसे एडिट किया गया था। यह भेजकर ठग ने ब्लैकमेल कर विधायक से पांच हजार रुपये की मांग की। विधायक मंगेश ने ठग को फोन-पे पर 5 हजार रुपए ट्रांसफर कर दिए।

Image Credit: dainik Bhaskar
Image Credit: dainik Bhaskar

दोबारा 11 हजार रुपए की मांगी फिरौती

अगले दिन विधायक मंगेश के फोन पर दूसरे नंबर से फोन आया। ठग ने अश्लील वीडियो के नाम पर ब्लैकमेल करते हुए फिर 11 हजार रुपये की मांग की। इसके तुरंत बाद विधायक मंगेश ने कुर्ला थाने में सेक्सटॉर्शन के साथ ब्लैकमेल करने का मामला दर्ज़ करवाया। पीड़ित की शिकायत पर मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम ने आरोपी मौसमुद्दीन को उसके फोन-पे नंबर के आधार पर ट्रेस कर लिया। इस दौरान पुलिस उसकी लोकेशन पर नजर रखती रही। जब पुलिस भरतपुर पहुंची, तो उन्होंने सीकरी पुलिस स्टेशन से संपर्क किया और लोकेशन पर आगे बढ़ने की रणनीति तैयार की।

पुलिस को अंदेशा था कि यदि वह दिन में लोकेशन पर पहुंचते है तो, ठग फायदा उठाकर भाग सकता है और उसे पहले से जानकारी भी मिल सकती है। ऐसे में पुलिस टीम रात करीब 11 बजे सीकरी से तेसकी गांव के लिए रवाना हुई। रात को जब पुलिस उसके गांव पहुंची तो वह अपने मोबाइल पर बातें कर रहा था। इस दौरान पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com