राजस्थान: बारां में बाजार बंद,पुलिस का भारी जाप्ता तैनात,समुदाय विशेष के लोगों ने व्यापारी पर चाकुओं से किए थे ताबड़तोड़ वार

शहर में कानून व शान्ति व्यवस्था बनाए रखने के लिए कई इलाकों में भारी भरमकम पुलिस जाप्ता तैनात है। इस बीच बंद समर्थक दुपहिया वाहनों से रैली के रूप में घूमकर व्यापारियों से प्रतिष्ठा बंद रखने की अपील करते रहे।
राजस्थान: बारां में बाजार बंद,पुलिस का भारी जाप्ता तैनात,समुदाय विशेष के लोगों ने व्यापारी पर चाकुओं से किए थे ताबड़तोड़ वार
बारा में बाजार मार्केट बंद

राजस्थान में एक के बाद एक साम्प्रदायिक घटनाएं सामने आ रही है। चित्तौड़गढ़ के बाद अब बारां में बुधवार रात करीब साढ़े 9 बजे दो व्यापारी युवकों के साथ एक समुदाय विशेष के युवकों द्वारा की गई मारपीट के विरोध में हिन्दू संगठनों व बारां व्यापार महासंघ ने बाजार बंद करने का आहवान किया है। इसका असर गुरुवार सुबह से देखने को मिला है। बारां में 80%फीसदी बाजार बंद रहा। अधिकांश क्षेत्रों में चाय, नाश्ते की दुकानें नहीं खुली तो पेट्रोल पम्प व बस संचालन भी बंद रहा। दूध डेरियां व दवा की दुकानों को बंद से मुक्त रखने का निर्णय किया गया।

वही बारां में मारपीट की घटना के बाद व्यापारियों और हिन्दू संघठनो में काफी रोष है। फ़िलहाल पुलिस मारपीट करने वाले शख्स को डिटेन कर रही है। जिले के एसपी ने सभी से शांति बनाये रखने की अपील की है। मामले में आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की जाएगी।

एसपी के निर्देश पर जिले के कई थाना प्रभारी जाप्ते के साथ तड़के ही यहां पहुंच गए थे।
एसपी के निर्देश पर जिले के कई थाना प्रभारी जाप्ते के साथ तड़के ही यहां पहुंच गए थे।
उल्लेखनीय है कि जनता टॉकिज मार्केट में एक कपड़ा व्यापारी हरीश शर्मा व उसके मौसेरे भाई पर कोटा निवासी विनोद पर दुकान में घुसकर समुदाय विशेष के लोगों ने धारदर हथियारों व लाठियों से हमला कर दिया था। इससे दोनों घायल हो गए थे। इनका जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है। करीब सात दिन पूर्व हरीश के भाई मनोज शर्मा पर भी समुदाय विशेष के लोगों ने चाकू से हमला किया था। इसके बाद भी शहर का माहौल गर्मा गया था।

आए दिन ऐसी वारदातें हो रही हैं लेकिन पुलिस इन पर अंकुश लगाने में असफल रही है।

बुधवार रात हुई वारदात को लेकर लोगों में इतना आक्रोश था पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीना के कई बार समझाने के बाद भी घायल व उनके परिजनों ने पुलिस को रिपोर्ट नहीं दी। इनका कहना था कि शहर में आए दिन ऐसी वारदातें हो रही हैं। लेकिन पुलिस इन अंकुश लगाने में असफल रही है। पुलिस अब स्वज्ञान से मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार करे। प्रताप चौक पुलिस चौकी पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जिनेन्द्र जैन पड़ाव डाल कर हालात पर नजर बनाए हुए थे।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com