मां ने ली बेटी की जानः डूबने से मौत का तरीका यूट्यूब पर देखा , पानी की टंकी में मिला बच्ची का शव

उज्जैन के खाचरौद में एक मां पर अपनी 3 महीने की बेटी की हत्या का आरोप लगा है. मां ने यूट्यूब पर बेटी को मारने का तरीका ढूंढा था। घटना 12 अक्टूबर की है, बच्ची का शव खाचरौद में घर की तीसरी मंजिल पर पानी की टंकी में मिला था. पुलिस ने हत्या के आरोप में बच्ची की मां स्वाति भटवेरा को गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि स्वाति का दावा है कि उन्होंने बेटी की हत्या नहीं की है।
मां ने ली बेटी की जानः डूबने से मौत का तरीका यूट्यूब पर देखा , पानी की टंकी में मिला बच्ची का शव

उज्जैन के खाचरौद में एक मां पर अपनी 3 महीने की बेटी की हत्या का आरोप लगा है. मां ने यूट्यूब पर बेटी को मारने का तरीका ढूंढा था। घटना 12 अक्टूबर की है, बच्ची का शव खाचरौद में घर की तीसरी मंजिल पर पानी की टंकी में मिला था. पुलिस ने हत्या के आरोप में बच्ची की मां स्वाति भटवेरा को गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि स्वाति का दावा है कि उन्होंने बेटी की हत्या नहीं की है।

यूट्यूब पर बच्ची को मारने के तरीके खोजे थे

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार खाचरौद थाने के सामने रहने वाली भटवेरा परिवार की 3 माह की बच्ची वीरति 12 अक्टूबर को लापता हो गई थी. जांच के बाद उसका शव घर में ही बनी पानी की टंकी में मिला । पूछताछ के बाद पुलिस ने बच्ची की मां स्वाति का मोबाइल चेक किया तो पता चला कि उसने यूट्यूब पर बच्ची को मारने के तरीके खोजे थे. अब पुलिस उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने की तैयारी कर रही है.

जन्म के 20 दिन बाद से खोज रही थी हत्या के तरीके

वीरति का जन्म 6 जुलाई को हुआ था। इसके ठीक 20 दिन बाद यानी 26 जुलाई से स्वाति यूट्यूब पर हत्या के तरीके खोज रही थी। हत्या से दो दिन पहले यानी 10 अक्टूबर को भी उसने यूट्यूब पर पानी में डूबने से हुई मौत के बारे में सर्च किया था. स्वाति ने भी देखा कि लड़की का चेहरा किस तरफ रखने से उसकी मौत जल्दी हो जाएगी। दो दिन बाद 12 अक्टूबर को वीरति का शव पानी की टंकी में मिला।

परिजनों को भी शुरू से ही मां पर हत्या का शक था

घटना वाले दिन दोपहर 1.20 बजे वीरति को बच्ची के दादा सुभाष भटेवरा ने देखा। इसके बाद वे दुकान पर गए। दोपहर 1.44 बजे उनके बेटे ने फोन कर वीरति के लापता होने की जानकारी दी. इसी बीच 1.25 बजे दादी अनीता ने भी वीरति को देखा। महज 20 मिनट में लड़की का घर से गायब होना संभव नहीं था, क्योंकि घर के नीचे वीरति के पिता अर्पित की दुकान है.

पुलिस को मां की दिमागी हालत ठीक न होने का शक

बच्ची के लापता होने पर न कोई घर आया और न ही छत पर गया। लड़की के पिता अर्पित दुकान पर थे और वीरति की मां छत पर गई थीं। परिजन भी शुरू से ही बच्ची की मां पर शक कर रहे थे। स्वाति और अर्पित ने 2019 में शादी की थी। पुलिस को शक है कि महिला की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है या पारिवारिक विवाद भी इसका कारण हो सकता है।

एएसपी आकाश भूरिया ने बताया कि वीरती 12 अक्टूबर को दोपहर 1.20 बजे से 1.40 बजे के बीच घर से लापता हो गया थी. इस समय उसके पिता अर्पित घर के नीचे दुकान पर थे. घर में स्वाति और उसकी सास अनीता भटेवरा के अलावा कोई नहीं था। जांच करने पर स्वाति संदेह के घेरे में आ गई। उसने 10 अक्टूबर को मोबाइल में इंटरनेट पर सर्च किया था कि उसे पानी में डुबोकर कैसे मारा जाए। इस आधार पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com