राजस्थान दौसा 10वीं छात्रा गैंगरेप मामला; पुलिस को जाँच में विधायक बेटे के खिलाफ नहीं मिले सबूत,FIR से हटाया नाम

सूत्रों के अनुसार पुलिस ने कॉल डिटेल और मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपियों की लिप्तता की जांच की तो विधायक पुत्र दीपक मीणा की लोकेशन घटना के दिन अलवर जिले में पाई गई।
 राजस्थान दौसा 10वीं छात्रा गैंगरेप मामला; पुलिस को जाँच में विधायक बेटे के खिलाफ नहीं मिले सबूत,FIR से हटाया नाम
ऐसे में अब पुलिस दो आरोपियों के खिलाफ ही कोर्ट में चालान पेश कर रही है

राजस्थान के दौसा जिले में 25 मार्च को विधायक के बेटे खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज हुआ था। मामले में 5 लोगो के नाम दर्ज़ किए गए थे। पुलिस ने होटल संचालक नेतराम मीणा को गिरफ्तार किया था। वहीं मामले का मुख्य आरोपी एक नाबालिग निकला था। फ़िलहाल मामले में राजगढ़ के विधायक जौहरीलाल मीणा के बेटे दीपक मीणा का नाम प्रकरण से हटा दिया है। पुलिस ने प्रकरण में दो आरोपी बनाकर चालान पेश करने की तैयारी कर ली है।

पुलिस इन्वेस्टिगेशन के दौरान गैंगरेप मामले में विधायक पुत्र के खिलाफ सबूत नहीं मिलने से fir से नाम हटाया है। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने कॉल डिटेल और मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपियों की लिप्तता की जांच की तो विधायक पुत्र दीपक मीणा की लोकेशन घटना के दिन अलवर जिले में पाई गई।

विधायक पुत्र दीपक मीणा की लोकेशन घटना के दिन अलवर जिले में पाई गई।
विधायक पुत्र दीपक मीणा की लोकेशन घटना के दिन अलवर जिले में पाई गई।

भाजपा ने बनाया था मुद्दा

पुलिस ने जाँच में बताया की विधायक पुत्र की ओर से होटल संचालक से बात करना भी नहीं पाया गया। पीडि़ता से भी कोई संपर्क सामने नहीं आए। पुलिस ने करीब तीन सप्ताह की जांच के बाद इस पूरे मामले में विधायक पुत्र की लिप्तता नहीं पाई। ऐसे में अब पुलिस दो आरोपियों के खिलाफ ही कोर्ट में चालान पेश कर रही है। गौरतलब है की जब बलात्कार के मामले में पहली बार विधायक के बेटे का नाम सामने आया तो बीजेपी ने इस मुद्दे को उठाया था। कई जगह प्रदर्शन भी किए गए। भाजपा नेता जितेंद्र गोठवाल ने प्रियंका गांधी को राजस्थान में बुलाने के लिए ट्रेन का टिकट भी भेजा था। जो काफी चर्चित भी रहा और गोठवाल को पुलिस के द्वारा गिरफ्तार भी किया गया।

Related Stories

No stories found.