रेपिस्ट बेखौफ : 17 वर्षीय नाबालिग का रेप कर जेल गया जमानत पर छूटा तो दोबारा किया गैंगरेप, वीडियो वायरल करने की दी धमकी

मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक रेप के आरोपी ने जमानत पर रिहा होने के बाद अपने दोस्त के साथ मिलकर फिर से पीड़िता के साथ गैंगरेप किया। रेप का वीडियो बनाया और वीडियो वायरल करने की धमकी देकर केस वापस लेने का दबाव बनाया।
रेपिस्ट बेखौफ : 17 वर्षीय नाबालिग का रेप कर जेल गया जमानत पर छूटा तो दोबारा किया गैंगरेप, वीडियो वायरल करने की दी धमकी

मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक 19 वर्षीय युवती से रेप का मामला सामने आया है। रेप आरोपी ने जमानत पर रिहा होने के बाद दोस्तों के साथ मिलकर दोबारा पीड़िता से चाकू की नोंक पर गैंगरेप किया और उसे केस वापस लेने की धमकी दी। पीड़िता की उम्र वर्तमान में 19 साल है, उसके साथ दो साल पहले उसी आरोपी ने बलात्कार किया था, जब वह नाबालिग थी।

शिकायतकर्ता के मुताबिक आरोपी विवेक पटेल ने पहले पीड़िता के साथ रेप किया बाद में उसके दोस्त ने भी पीड़िता का शोषण किया। पीड़िता से रेप के आरोप में आरोपी को 2020 में गिरफ्तार किया गया था। उसे लगभग एक साल बाद 2021 में जमानत पर रिहा कर दिया गया था

आसिफ इकबाल, पाटन थाना प्रभारी

2 साल पहले रेप के आरोप में हुई थी जेल

मामले की जांच कर रहे पाटन थाना प्रभारी आसिफ इकबाल ने बताया कि दो साल पहले जब पीड़िता 17 साल की थी तब आरोपी ने बलात्कार किया था। पीड़िता से रेप के आरोप में आरोपी को 2020 में गिरफ्तार किया गया था। लेकिन उसके एक साल बाद 2021 में उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया। अब एक महीने पहले उसने फिर उसी लड़की के साथ रेप किया और बलात्कार का केस वापस लेने कि धमकी दी है।

दरिंदगी की हदें टूटी, कानून का खौफ हुआ खत्म, बलात्कारी की फांसी में इतना क्यों मंथन

चाकू की नोंक पर किया सामूहिक दुष्कर्म

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आरोपी ने करीब एक महीने पहले अपने दोस्त के साथ मिलकर चाकू की नोंक पर उसके घर में जबरन घुसकर उसके साथ बलात्कार किया और दुष्कर्म की वीडियोग्राफी की और रेप का केस वापस न लेने पर वीडियो वायरल करने की धमकी दी है। पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया है और दोनों आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। युवती की शिकायत पर पाटन थाना पुलिस दोनों आरोपियों की तलाश के लिए अलग अलग टीमें तैनात कर तलाश कर रही है।

बलात्कारियों की एक ही सजा - फांसी

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के अनुसार, भारत में रेप के प्रतिदिन औसतन 88 केस दर्ज किये जाते है यानि एक घंटे में 4 रेप। भारत में हर साल रिकॉर्डतोड़ रेप केस दर्ज होते है लेकिन देश का कानून अभी तक इस अपराध का तोड़ नहीं निकल पाया।

रेप के मामलों को कम करने के सारे प्रायस विफल रहें इसी का परिणाम है कि कोई भी मनचला जब मन किया राह चलती लड़की से रेप कर देता है और हमारा कानून उसे कुछ दिन जेल नामक फाइव स्टार में आराम करा कर फिर से हैवानियत को अंजाम देने के लिए उसे सड़कों पर खुला छोड़ देता है। आखिर यह सिलसिला कब तक चलेगा ? कब तक ऐसे हैवानों को मानवाधिकार के सहारे छोड़ते रहेंगे और अपनी माँ बहन बेटी की लाज लुटाते रहेंगे? बस करो अब इतना मत सोचो, बलात्कारियों को फांसी दो।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com