राजस्थान CRIME अपडेट – भाई ने पत्नी संग कर डाली देवर की हत्या

आरोपी पति को पुलिस रिमांड व पत्नी को जेल भेजने के कोर्ट ने आदेश दिए
राजस्थान CRIME अपडेट – भाई ने पत्नी संग कर डाली देवर की हत्या

क्राइम डेस्क न्यूज – सीकर के खंडेला में  हत्या का बड़ा मामला सामने आया है, भाभी के चाल चलन पर संदेह जताने पर, भाई और भाभी ने मिलकर हैवानो की तरह छोटे भाई को सिर और चेहरे पर फावड़े से काट डाला। चीख सुनकर बूढ़े पिता जोरूराम दौड़े और वही आरोपी नंदकिशोर हाथ में खून से सना फावड़ा लेकर घर से भाग रहा था। बरामदे में छोटा बेटा दिनेश खून से सना पड़ा था।

सीकर की ये घटना खंडेला कस्बे के प्रत्येक व्यक्ति को अन्दर तक झकझोल कर रखती है।  रविवार को दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। जहां से आरोपी पति को पुलिस रिमांड व पत्नी को जेल भेजने के कोर्ट ने आदेश दिए।

धमकी और फिर मौत की साजिश रची

गौरतलब है की भाई और भाभी ने पहले भी कई बार जान से मारने की दी थी धमकी और फिर मौत की साजिश रची गयी। दिनेश बरामदे में अकेला सो रहा था। आरोपी नंदकिशोर ने सिर पर पहले और बाद में फावड़े से दो वार किए।
बिस्तर से खून निकलता देख वह भागने लगा।पुलिस अधिकारी महेंद्र कुमार मीणा ने कहा कि पुलिस ने हत्या के मामले में कार्रवाई करते हुए मृतक युवक के बहनोई को हिरासत में ले लिया है। उसी समय ,दिनेश को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

परिवार से अलग रहते थे आरोपी

पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाया और उसे परिजनों के सुपुर्द कर दिया। जेरूराम का दूसरा बेटा हरिराम और उसकी पत्नी सुमन घर में सो रहे थे। सीओ सांवरमल नागराय ने बताया कि जोरूराम कुमावत के चार लड़के हैं। आरोपी नंदकिशोर का परिवार दूसरे घर में रहता है, जबकि मृतक दिनेश और हरिराम का परिवार जोराम के साथ रहता है।

तीन दिन पहले भी हुआ था झगड़ा 

तीन दिन पहले, दिनेश ने अपने बहनोई और भतीजी, बड़े भाई अरापी नंदकिशोर की आलोचना की थी। जब किसी ने भतीजी को एक मोबाइल फोन दिया, तो मामला बहस और झगड़े में बदल गया। पुलिस स्टेशन में भी शिकायत की गई थी, लेकिन रिश्तेदारों और परिवार के बीच समझौता हुआ। आरोपी नंदकिशोर अपनी पत्नी और बेटी के चरित्र पर संदेह उठाकर बहुत आहत हुआ। शनिवार को सुबह करीब 4.30 बजे वह फावड़े से दिनेश की हत्या करने आया था। उस समय जोरूराम घर के अंदर चाय बनाने गया था।

दिनेश को प्यारी थी घर की इज्जत

पिता जेरूराम ने कहा कि दिनेश घर में बदनाम न होने की शिकायत करता था। नंदकिशोर मुंबई में काम करता है। लॉकडाउन के दौरान ही आया था। वह अपनी पत्नी और बेटी के चरित्र पर संदेह करने के आरोपों को सहन नहीं कर सका और छोटे भाई दिनेश की हत्या कर दी। जेरूराम की रिपोर्ट है कि हत्या में तीन से चार लोग शामिल थे।

Like and Follow us on :

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com