पठानकोट के आर्मी कैंट में बड़ा धमाका, बाइक सवार दो युवकों ने किया ग्रेनेड ब्लास्ट, पंजाब में प्रशासन हाई अलर्ट पर

पंजाब के पठानकोट में सोमवार तड़के एक बड़ा हमला हुआ। जिसके कारण पुरे इलाके में दहशत का माहौल बना हुआ है। बता दें की पठानकोट में ग्रेनेड हमला हुआ है।
पठानकोट के आर्मी कैंट में बड़ा धमाका, बाइक सवार दो युवकों ने किया ग्रेनेड ब्लास्ट, पंजाब में प्रशासन हाई अलर्ट पर
India Ahead Hindi

पंजाब के पठानकोट में सोमवार तड़के एक बड़ा हमला हुआ। जिसके कारण पुरे इलाके में दहशत का माहौल बना हुआ है। बता दें की पठानकोट में ग्रेनेड हमला हुआ है। हमला धीरा पुल के पास आर्मी कैंट के त्रिवेणी द्वार गेट के पास किया गया। इस हमले के बाद कैंट इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। जगह-जगह नाकेबंदी कर दी गई है। चेकिंग अभियान तेज कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि धमाका करने वाले दो लोग बाइक से आए थे। पुलिस और सुरक्षा बलों ने तलाशी शुरू कर दी है।

सुरक्षा बल पहुंचे मौके पर

तेज आवाज से आसपास के इलाके में दहशत फैल गई। सुरक्षा बल मौके पर पहुंचे। हालांकि इस हमले में कोई हताहत नहीं हुआ, लेकिन पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां ​​हाई अलर्ट पर आ गई हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज खंगालना शुरू कर दिया है।

सर्च ऑपरेशन जारी

अधिकारियों के मुताबिक यह ग्रेनेड ब्लास्ट एक बड़ा हमला है, क्योंकि आर्मी कैंट इलाके में सेना और सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं, इसके बावज़ूद कोई वहां ग्रेनेड ब्लास्ट कर वहां से भाग जाता है। विस्फोट के बाद पठानकोट और पंजाब के सभी थानों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। सर्च ऑपरेशन भी जारी है।

भारतीय सेना का सबसे महत्वपूर्ण अड्डा है पठानकोट

पंजाब का पठानकोट जिला भारतीय सेना के सबसे महत्वपूर्ण ठिकानों में से एक है। इसमें भारतीय वायु सेना स्टेशन, सेना का गोला-बारूद डिपो और दो बख्तरबंद ब्रिगेड और बख्तरबंद इकाइयाँ हैं।

5 साल पहले भी हुआ था पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमला

बता दें की आज का ये हमला कोई नया नहीं है। इससे पहले भी 2 जनवरी 2016 को पठानकोट स्थित वायुसेना के एयरबेस पर आतंकी हमला हुआ था। इसे भारतीय सेना की वर्दी में आए सशस्त्र आतंकियों ने अंजाम दिया था। इसमें 7 जवान शहीद हो गए थे। सभी आतंकी भारत-पाकिस्तान सीमा पर रावी नदी के रास्ते आए थे। भारतीय सीमा में पहुंचकर आतंकियों ने कुछ वाहनों को हाईजैक कर लिया और पठानकोट एयरबेस पर पहुंच गए थे।

Related Stories

No stories found.