गैंगरेप की शिकार नाबालिग पीड़िता इंसाफ के लिए 14 महीने भटकती रही, कोर्ट के आदेश पर किया मुकदमा दर्ज

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में घोरावल कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में एक नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया. इसके बाद पीड़िता को इंसाफ की उम्मीद में 14 महीने तक दर-दर भटकना पड़ा, लेकिन पुलिस ने नहीं सुनी. अब कोर्ट के आदेश पर मामले में 3 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पीड़िता का आरोप है कि आरोपितों की ओर से कई महीनों से हर दिन उसे जान से मारने और अपमानित करने की धमकियां मिल रही थीं, लेकिन घोरावल पुलिस सोती रही.
गैंगरेप की शिकार नाबालिग पीड़िता इंसाफ के लिए 14 महीने भटकती रही, कोर्ट के आदेश पर किया मुकदमा दर्ज

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में घोरावल कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में एक नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया. इसके बाद पीड़िता को इंसाफ की उम्मीद में 14 महीने तक दर-दर भटकना पड़ा, लेकिन पुलिस ने नहीं सुनी. अब कोर्ट के आदेश पर मामले में 3 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पीड़िता का आरोप है कि आरोपितों की ओर से कई महीनों से हर दिन उसे जान से मारने और अपमानित करने की धमकियां मिल रही थीं, लेकिन घोरावल पुलिस सोती रही.

पीड़िता को इंसाफ की उम्मीद में 14 महीने तक दर-दर भटकना पड़ा

पीड़ित पक्ष लगातार उच्चाधिकारियों के चक्कर लगाता रहा। मानसिक प्रताड़ना का सामना करने के बाद कोर्ट के आदेश पर मामला दर्ज किया गया था.

स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के घोरावल निवासी एक गांव निवासी व्यक्ति ने रविवार शाम पुलिस को बताया कि उसकी 12 वर्षीय नाबालिग बेटी जुलाई 2020 की रात 11 बजे शौचालय गई थी. रास्ते में उसके गांव के दो लोग और कोडिहार गांव का एक युवक ने उसकी पुत्री का मुंह बांधकर अपह्त कर लिया और एक आरोपी के घर ले गए. यहां सभी ने उसके साथ दुष्कर्म किया.

घटना के अगले दिन उभा चौकी और घोरावल कोतवाली में शिकायत की गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई

देर रात तक जब वह घर नहीं लौटा तो तलाशी लेने निकला तो उसकी बेटी संतोष के घर नग्न अवस्था में मिली। शिकायत करने पर आरोपी ने जान से मारने की धमकी दी। घटना के अगले दिन उभा चौकी और घोरावल कोतवाली में शिकायत की गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई.

जब इस मामले में कोर्ट ने शरण ली तो अब कोर्ट के आदेश पर मामला दर्ज किया गया है

27 जुलाई 2021 को पुलिस अधीक्षक, मानवाधिकार आयोग और मुख्यमंत्री कार्यालय को भी आवेदन भेजा गया था लेकिन कुछ नहीं हुआ. जब इस मामले में कोर्ट ने शरण ली तो अब कोर्ट के आदेश पर मामला दर्ज किया गया है. इस संबंध में थाना प्रभारी देवानंद सिंह ने बताया कि पीड़िता के पिता की शिकायत पर पुलिस संतोष पुत्र राम अवतार, देवराज उर्फ ​​पंडित पुत्र राम अवतार व कोडिहार निवासी सोनू पुत्र अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर मामले की जांच कर रही है.

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com