जिसके जिम्मे बच्चों का भविष्य वही निकला तस्कर, 1करोड़ की ड्रग्स के साथ शिक्षक समेत 4 गिरफ्तार

पुलिस ने इस कार्रवाई को पाकिस्तान की सीमा से लगती बाड़मेर जिले के सीमावर्ती चौहटन थाना इलाके के धनाऊ सरहद पर अंजाम दिया है।
आरोपियों के खिलाफ पहले भी अवैध मादक पदार्थों की तस्करी के मामले दर्ज हैं
आरोपियों के खिलाफ पहले भी अवैध मादक पदार्थों की तस्करी के मामले दर्ज हैं

राजस्थान जिले के बाड़मेर से सट्टे भारत पाकिस्तान की बॉर्डर पर तस्करी करने का बड़ा मामला सामने आया है। तस्करी करने में एक सरकारी टीचर का भी हाथ सामने आया है। जिसके बाद से पुलिस महकमे में अचंभित माहौल बना हुआ है। गौरतलब है की हाल ही में राजस्थान इंटेलिजेंस ने जासूसी करने वाले कई लोगो को भी डीटैन किया है।

वही तस्करी मामले में कार्रवाई को अंजाम देते हुये एक निलंबित सरकारी शिक्षक समेत 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

उनके पास से एक करोड़ कीमत की मार्फिन और अवैध हथियार बरामद किये गये हैं। पुलिस उनसे पूछताछ करने में जुटी है। आरोपियों के खिलाफ पहले भी अवैध मादक पदार्थों की तस्करी के मामले दर्ज हैं। पुलिस ने इस कार्रवाई को पाकिस्तान की सीमा से लगती बाड़मेर जिले के सीमावर्ती चौहटन थाना इलाके के धनाऊ सरहद पर अंजाम दिया है।

पुलिस ने उनके कब्जे से 1 किलोग्राम मार्फिन, एक पिस्टल और एक मैगजीन बरामद कर जब्त की है।
पुलिस ने उनके कब्जे से 1 किलोग्राम मार्फिन, एक पिस्टल और एक मैगजीन बरामद कर जब्त की है।
स्टेट इंटेलिजेंस की टीम कुछ दिन से कई लोगों पर निगाह रखे हुए थी। बताया जा रहा है कि रविवार को एक साथ की गई बड़ी कार्रवाई में करीब 22 लोगों को पकड़ा था। इनमें से पांच के तार पाकिस्तान से जुड़े होने के शक में डिटेन किया गया। जयपुर से एक टीम भी पूछताछ करने के लिए जोधपुर पहुंच चुकी है।

सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी भारतीय लोगों को साधने के लिए स्थानीय मोबाइल सिम काम में लेती है। ISI सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर कुछ ग्रुप बना लेती है। इस ग्रुप में कई लोगों को जोड़ा जाता है। इसके बाद सामान्य मैसेज की आड़ में कुछ लोगों को अपने जाल में फंसाया जाता है। इसके बाद व्यक्तिगत मैसेज के जरिए संबंधित व्यक्ति को पूरी तरह से झांसे में लेकर फंसा लिया जाता है

जानकारी के मुताबिक चौहटन पुलिस को मुखबिर के जरिए इतला मिली थी

धनाऊ-धोरीमना फांटा के पास कुछ लोग मार्फिन की सप्लाई देने आ रहे हैं। इस पर पुलिस ने नाकाबंदी कर सुरेश विश्नोई निवासी जूनी नगर, ओमप्रकाश उर्फ बजरंग विश्नोई निवासी लूणवा चारणान, मूलाराम विश्नोई निवासी रावली नाड़ी और सुरेश निवासी वोढ़ा करड़ा को दबोच लिया। पुलिस ने उनके कब्जे से 1 किलोग्राम मार्फिन, एक पिस्टल और एक मैगजीन बरामद कर जब्त की है।

Since independence
hindi.sinceindependence.com