परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियवास के PA पर दुष्कर्म का संगीन आरोप, वीडियो में पीड़िता ने बताई आपबीती

वायरल वीडियो में क्या है - युवती बता रही है कि अपनी बहन के दुष्कर्म मामले में न्याय की गुहार के लिए मंत्री जी के पास गई पीड़िता का उनके PA ने ही दुष्कर्म कर दिया
परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियवास के PA पर दुष्कर्म का संगीन आरोप, वीडियो में पीड़िता ने बताई आपबीती

राजस्थान.  प्रदेश सरकार में परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियवास के पीए पर युवती के दुष्कर्म का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, यही वीडियो खुद पीड़िता ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है। वीडियो में युवती बता रही है कि वह मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास से न्याय की गुहार के लिए गई थी, लेकिन उस दिन मंत्री खाचरियवास ने कहा कि वे जल्दी मैं हैं…. और उन्हें विधासभा जाना है, …..आप मेरे पीए बृजलाल प्रजापत से बात कर लीजिए …. आपकी पूरी मदद की जाएगी…. और ये कह कर मंत्री खाचरियवास चले गए…. इसके बाद मंत्री के पीए बृज लाल प्रजापत ने भी मदद का आश्वासन दिया।…. लेकिन पीड़िता का आरोप है कि बृज लाल ने मदद करने के बजाय उसके साथ दुष्कर्म किया। वहीं आगे भी कई बार किसी न किसी बहाने उसका दुष्कर्म किया। हालांकि इस वीडियो में कितनी सच्चाई है इसकी पुष्टि सिंस इंडिपेंडेंस नहीं करता है। बहरहाल वीडियो में पीड़िता सोडाला थानाधिकारी सतपाल का भी जिक्र कर रही है, वो कह रही है कि इस पूरे मामले में थानाधिकारी सतपाल ने भी उसकी कोई मदद नहीं की।

इस वीडियो में देखें‚ जिसमें युवती पूरा घटनाक्रम बता रही है

सिंस इंडिपेंडेंस व्यू –

इस मामले में कितनी सच्चाई है, ये तो जांच के बात ही पता चलेगा लेकिन, यदि इस वीडियो मैं
जरा सी भी सच्चाई है तो ये बेहद गंभीर मामला है। क्योंकि बीते कुछ महीनों में प्रदेश में क्राइम और खासकर महिला शोषण अपराध से जुड़ी खबरें सामने आई हैं, फिर चाहे वो रिश्वत में अस्मत मांगने वाला एसीपी कैलाश बोहरा हो या अलवर जिले में थाने में दुष्कर्म का मामला हो, इस तरह के मामले में सरकार को सख्ती से निपटने की जरूरत है।

वहीं दूसरी ओर इस मामले में जब सोडाला थानाधिकारी सतपाल से बात की गई तो उन्हें इस तरह के किसी भी मामले पर एफआईआर दर्ज नहीं होने की बात कही। बहरहाल इस मामले कितनी सच्चाई है ये जांच के बात ही पता चल पाएगा।

Like and Follow us on :

Related Stories

No stories found.