UP Election 2022: BJP के 45 कैंडिडेट्स की सूची जारी: इस बार संजय सिंह और दयाशंकर पर पार्टी का भरोसा, 9 विधायक का टिकट कटा

मोहम्मदाबाद से कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय को टिकट मिला है। 2005 में कृष्णानंद हत्याकांड में बाहुबली मुख्तार अंसारी का नाम आया था। इस लिस्ट में सबसे ज्यादा 9 ओबीसी उम्मीदवार हैं। इसके बाद 8 दलित, 6 ब्राह्मण और 5 ठाकुर हैं। बीजेपी अब तक 340 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर चुकी है।
बीजेपी ने मंत्री स्वाति सिंह के पति दयाशंकर सिंह को बलिया नगर विधानसभा सीट से टिकट दिया।

बीजेपी ने मंत्री स्वाति सिंह के पति दयाशंकर सिंह को बलिया नगर विधानसभा सीट से टिकट दिया।

बीजेपी ने रविवार रात अपने उम्मीदवारों की 8वीं लिस्ट जारी की। इसमें 45 उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं। बीजेपी ने 7 महिलाओं को टिकट भी दिया है। बीजेपी ने मंत्री स्वाति सिंह के पति दयाशंकर सिंह को बलिया नगर विधानसभा सीट से टिकट दिया है। दयाशंकर सिंह और उनकी मंत्री पत्नी लखनऊ की सरोजिनीनगर सीट से टिकट का दावा कर रहे थे, लेकिन भाजपा ने हाल ही में पूर्व ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) के संयुक्त निदेशक राजेश्वर सिंह को मैदान में उतारा है।

रोचक यह है कि नई सूची में बलिया के बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह का टिकट कट चुका है। वहीं मोहम्मदाबाद से कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय को टिकट मिला है। 2005 में कृष्णानंद हत्याकांड में बाहुबली मुख्तार अंसारी का नाम आया था। इस लिस्ट में सबसे ज्यादा 9 ओबीसी उम्मीदवार हैं। इसके बाद 8 दलित, 6 ब्राह्मण और 5 ठाकुर हैं। बीजेपी अब तक 340 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर चुकी है।
<div class="paragraphs"><p>इस बार संजय सिंह और दयाशंकर पर पार्टी का भरोसा</p></div>

इस बार संजय सिंह और दयाशंकर पर पार्टी का भरोसा

रानी गरिमा सिंह का टिकट काट पति को दिया
अमेठी राजघराने की लड़ाई दिलचस्प हो गई है। पार्टी ने रानी गरिमा सिंह का टिकट काट कर अमेठी सीट से उनके पति डॉ. संजय सिंह को मैदान में उतारा है। डॉ. संजय सिंह मंत्री भी रह चुके हैं। बलिया नगर से विधायक और मंत्री रहे आनंद स्वरूप शुक्ला का टिकट बदल दिया गया है। अब वह विधायक सुरेंद्र सिंह की सीट बैरिया से चुनाव लड़ेंगे। शिवपुर से मंत्री अनिल राजभर को टिकट दिया गया है।
<div class="paragraphs"><p>अमेठी के शाही परिवार से ताल्लुक रखने वाले संजय सिंह गांधी परिवार से नजदीकियों के बाद चर्चा में आए।</p></div>

अमेठी के शाही परिवार से ताल्लुक रखने वाले संजय सिंह गांधी परिवार से नजदीकियों के बाद चर्चा में आए।

संजय सिंह का पॉलिटिकल कॅरियर कैसा रहाॽ

अमेठी के शाही परिवार से ताल्लुक रखने वाले संजय सिंह गांधी परिवार से नजदीकियों के बाद चर्चा में आए। 1980 में जब संजय गांधी ने अमेठी से लोकसभा चुनाव लड़ा तो संजय सिंह ने उनका समर्थन किया, लेकिन 1988 में वे जनता पार्टी में शामिल हो गए।

1989 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने अमेठी से राजीव गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा, लेकिन उन्हें करारी हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद 1998 में एक बार फिर संजय सिंह कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए।

1998 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उन्हें अमेठी से मैदान में उतारा था। इस बार उन्होंने कांग्रेस के कप्तान सतीश शर्मा को हराया और पहली बार लोकसभा पहुंचे। इसके बाद एक बार फिर 1999 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उन्हें अमेठी से मैदान में उतारा।

उस दौरान सोनिया गांधी ने उन्हें बड़े अंतर से हराया। 2003 में एक बार फिर संजय सिंह कांग्रेस में लौट आए। 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने उन्हें सुल्तानपुर लोकसभा सीट से टिकट दिया, जहां से जीतकर वे दूसरी बार लोकसभा पहुंचे। वहीं, 2014 में कांग्रेस ने उन्हें असम से राज्यसभा के लिए भेजा था।

मेनका गांधी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हें सुल्तानपुर से हराया था। इस बार वह अपनी जमानत भी नहीं बचा सके। इसके बाद वह अपनी पत्नी के साथ बीजेपी में शामिल हो गए। इस बार बीजेपी ने उन्हें अमेठी से विधानसभा चुनाव में उतारा है।

इलाहाबाद उत्तर से हर्ष बाजपेयी को उम्मीदवार बनाया गया है। कोरांव टिकट बदल दिया गया है। आरती कोल की जगह राजमणि कोल चुनाव लड़ेंगी। अंबेडकरनगर जिले में टांडा सीट से विधायक संजू देवी की जगह पूर्व जिलाध्यक्ष कपिल देव वर्मा को मैदान में उतारा गया है। अलापुर से विधायक अनीता कमल की जगह अब उनके ससुर और पूर्व विधायक त्रिवेणी राम चुनाव लड़ेंगे।

ब्राह्मणों को लेकर एक बार फिर सवाल उठ सकता है

सुल्तानपुर की लंभुआ सीट से विधायक देवमणि द्विवेदी का टिकट कट गया है। लंभुआ से सदर विधायक सीताराम वर्मा को मौका दिया गया है। देवमणि लगातार बीजेपी सरकार में ब्राह्मणों को लेकर आवाज उठाते रहे हैं, ऐसे में देवमणि द्विवेदी का टिकट कटने के बाद ब्राह्मणों को लेकर एक बार फिर सवाल उठ सकता है। सुल्तानपुर सीट से विधायक रहे सूर्यभान सिंह को टिकट नहीं मिला है। इस सीट से पूर्व मंत्री विनोद सिंह को मैदान में उतारा गया है।

यूपी में सात चरणों में होंगे चुनाव
यूपी में विधानसभा चुनाव सात चरणों में होने हैं। पहले चरण का मतदान 10 फरवरी को होगा। दूसरे चरण का मतदान 14 फरवरी को, तीसरा चरण 20 फरवरी को, चौथा चरण 23 फरवरी को, पांचवां चरण 27 फरवरी को और छठा चरण 3 मार्च को और सातवें चरण का मतदान होगा। चरण 7 मार्च। चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आएंगे।
जखानिया विधानसभा से रामराज वनवासी को उम्मीदवार बनाया गया
बीजेपी की 8वीं लिस्ट में चौंकाने वाला नाम रामराज वनवासी का आया है। गाजीपुर जिले की जखानिया विधानसभा से रामराज वनवासी को उम्मीदवार बनाया गया है। वह भाजपा के जिला महासचिव और अनुसूचित जाति जनजाति मोर्चा में हैं। रामराज 1980 से वनवासी समाज के उत्थान के लिए संघर्ष कर रहे हैं। रामराज सिविल कोर्ट के पेशकर के पद से सेवानिवृत्त हैं। रामराज के प्रयास से जिले में वनवासियों के लिए 9 हजार घर बन चुके हैं। वनवासियों के लिए सोलर लाइट, हैंडपंप, शौचालय और चक्रोड़ आदि का निर्माण भी किया गया है। इतना ही नहीं रामराज को सरकार से बांस के लिए करीब 1500 घरों की मंजूरी भी मिल चुकी है।

इन विधायकों के टिकट बदले गए

अमेठी : गरिमा सिंह

सुलतानपुर : सूर्यभान सिंह

लम्भुआ : देवमणि द्विवेदी

आलापुर : अनीता कमल

रुधौली : संजय जायसवाल

सलेमपुर : कालीचरण प्रसाद

फूलपुर पवई : अरुणकांत यादव

मधुबन : दारा सिंह चौहान

बैरिया : सुरेंद्रनाथ सिंह

इन एमएलए पर फिर जताया भरोसा

शिवपुर : अनिल राजभर

वाराणसी उत्तर : रवींद्र जायसवाल

वाराणसी दक्षिण : नीलकंठ तिवारी

बैरिया : आनंद स्वरूप शुक्ला

गाजीपुर : संगीता बलवंत बिंद

45 विस. क्षेत्र : प्रत्याशियों का नाम

  • 1. अमेठी : संजय सिंह

  • 2. इसौली : ओमप्रकाश पांडेय बजरंगी

  • 3. सुलतानपुर - विनोद सिंह

  • 4. लम्भुआ : सीताराम वर्मा

  • 5. रानीगंज : धीरज ओझा

  • 6. इलाहाबाद उत्तर : हर्ष बाजपेयी

  • 7. कोरांव (सुरक्षित) : राजमणि कोल

  • 8. बाराबंकी : डा. राजकुमारी मौर्य

  • 9. टांडा : कपिलदेव वर्मा

  • 10. आलापुर (सुरक्षित) : त्रिवेणी राम

  • 11. अकबरपुर : धर्मराज निषाद

  • 12. रुधौली : संगीता प्रताप जायसवाल

  • 13. सिसवा : प्रेम सागर पटेल

  • 14. महाराजगंज (सुरक्षित) : जयमंगल कनौजिया

  • 15. गोरखपुर ग्रामीण : विपिन सिंह

  • 16. पडरौना : मनीष जायसवाल

  • 17. रामकोला (सुरक्षित) : विनय गोंड

  • 18. भाटपार रानी : सभा कुंवर कुशवाह

  • 19. सलेमपुर (सुरक्षित) : विजय लक्ष्मी गौतम

  • 20. सगड़ी : वंदना सिंह

  • 21. फूलपुर पवई : रामसूरत राजभर

  • 22. मधुबन : रामविलास चौहान

  • 23. घोसी : विजय राजभर

  • 24. मुहम्मदाबाद गोहना (सुरक्षित) : श्रीराम सोनकर

  • 25. बलिया नगर : दयाशंकर सिंह

  • 26. बैरिया : आनंद स्वरूप शुक्ला

  • 27. मल्हनी : केपी सिंह

  • 28. मुंगरा बादशाहपुर : अजय दुबे

  • 29. जखनियां (सुरक्षित) : रामराज वनवासी (मुसहर)

  • 30. गाजीपुर : संगीता बलवंत बिंद

  • 31. जंगीपुर : रामनरेश कुशवाहा

  • 32. मुहम्मदाबाद : अलका राय

  • 33. सकलडीहा : सूर्यमुनि तिवारी

  • 34. सैयदराजा : सुशील सिंह

  • 35. पिंडरा : डा. अवधेश सिंह

  • 36. अजगरा (सुरक्षित) : त्रिभुवन राम

  • 37. शिवपुर : अनिल राजभर

  • 38. वाराणसी उत्तर : रवींद्र जायसवाल

  • 39. वाराणसी दक्षिण : नीलकंठ तिवारी

  • 40. वाराणसी कैंट : सौरभ श्रीवास्तव

  • 41. भदोही : रवींद्र त्रिपाठी

  • 42. औराई (सुरक्षित) : दीनानाथ भास्कर

  • 43. मीरजापुर : रत्नाकर मिश्रा

  • 44. चुनार : अनुराग सिंह

  • 45. मड़िहान : रमाशंकर पटेल

<div class="paragraphs"><p>बीजेपी ने मंत्री स्वाति सिंह के पति दयाशंकर सिंह को बलिया नगर विधानसभा सीट से टिकट दिया।</p></div>
UP Assembly Elections 2022 : एडीआर की रिपोर्ट में खुलासा, पहले फेज के 25% उम्मीदवार दागी, इनमें 20% पर गंभीर मामले, एक रेप का आरोपी, सपा के सबसे ज्यादा
Since independence
hindi.sinceindependence.com