यूपी के चुनावी दंगल में ,बीजेपी के सामने चुनौती के रूप में उतरेगी चिराग पासवान की पार्टी

लोजपा (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में सभी सीटों पर अकेले लड़ने का फैसला किया है । चिराग ने सर्वसम्मति से नई दिल्ली में यूपी पार्टी के अध्यक्ष मणिशंकर पांडे और प्रदेश पदाधिकारियों और सभी जिलाध्यक्षों के साथ बैठक में यह निर्णय लिया
यूपी के चुनावी दंगल में ,बीजेपी  के सामने चुनौती के रूप में उतरेगी चिराग पासवान की पार्टी

yogi vs chirag in up election 2022

लोजपा (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में सभी सीटों पर अकेले लड़ने का फैसला किया है । चिराग ने सर्वसम्मति से नई दिल्ली में यूपी पार्टी के अध्यक्ष मणिशंकर पांडे और प्रदेश पदाधिकारियों और सभी जिलाध्यक्षों के साथ बैठक में यह निर्णय लिया | यह जानकारी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता चंदन सिंह ने दी. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में पार्टी का सांगठनिक ढांचा काफी मजबूत है ।

पिछली विधानसभा में पार्टी के आधा दर्जन विधायक थे. पार्टी कार्यकर्ताओं की मेहनत और पार्टी के प्रति आम लोगों के रूझान को देखकर चिराग पासवान लगातार उत्तर प्रदेश का दौरा करते रहे हैं ।

फिर से पकड बनाने की तैयारी में चिराग, कर रहे हैं लगातार दौरा

एक समय था जब उत्तर प्रदेश में लोजपा के 18 विधायक थे। लेकिन फिलहाल यहां पार्टी का एक भी विधायक नहीं है | माना जाता है कि दलित मतदाताओं के बीच पार्टी की अच्छी पकड़ है। ऐसे में चिराग की मंशा इस वर्ग के मतदाताओं को फिर से जोड़ने की है. वह लगातार उत्तर प्रदेश का भी दौरा कर रहे हैं। इससे भाजपा की चिंता भी बढ़ गई है।

बिहार में जदयू यूपी में बीजेपी से आमने-सामने

मालूम हो कि एनडीए का हिस्सा रहे चिराग पासवान ने अकेले बिहार से विधानसभा चुनाव लड़ा था | चुनाव से पहले उन्होंने एनडीए से नाता तोड़ लिया था। हालांकि, तब केवल उन्हीं उम्मीदवारों को मैदान में उतारा गया था, जहां से जदयू के उम्मीदवार मैदान में थे। चुनाव में उन्हें सिर्फ एक सीट मिली थी। हालांकि इकलौता विधायक भी जदयू में शामिल हो गया था । इसके बाद लोजपा बिखर गई। चाचा पशुपति कुमार पारस के नेतृत्व में पांच विधायकों ने बगावत कर दी ।

चिराग पासवान ने इस टूटने के लिए सीएम नीतीश कुमार को जिम्मेदार ठहराया था। इसके साथ ही वह पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करने से भी नहीं चूके। लेकिन चिराग ने यूपी की सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला कर बीजेपी को भी चुनौती दी है | यहां मुख्य रूप से बीजेपी उनके निशाने पर होगी ।

हाल ही में चिराग ने यूपी में शिक्षा और रोजगार का मुद्दा उठाया था |धर्म और जाति के आधार पर भेदभाव का मुद्दा भी उठाया गया। मुलाकात की तस्वीरें चिराग पासवान ने ट्विटर पर शेयर की हैं। इसके साथ ही उन्होंने जहानाबाद के पूर्व सांसद अरुण कुमार से मुलाकात की एक तस्वीर भी शेयर की है | अरुण कुमार 12 जनपथ स्थित चिराग पासवान से उनके आवास पर मिलने आए थे।

Like Follow us on :- Twitter | Facebook | Instagram | YouTube

<div class="paragraphs"><p>yogi vs chirag in up election 2022</p></div>
फैक्ट चेक : क्या है मथुरा में 34 मुस्लिम परिवार के हिन्दू बनने के दावे के साथ वायरल तस्वीर का सच

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com