10 खरब डॉलर अर्थव्यवस्था के लक्ष्य की मियाद कितनी बढ़ा दी सरकार ने ? पहले 2025 तक पूरा करने की कही थी बात

उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को 10 खरब डॉलर तक ले जाने की समयसीमा में बदलाव किया गया है
10  खरब डॉलर अर्थव्यवस्था  के लक्ष्य की मियाद  कितनी बढ़ा दी सरकार ने ? पहले 2025 तक पूरा करने की कही थी बात

Uttar Pradesh: योगी सरकार का बड़ा ऐलान, स्ट्राइक की तो अब खैर नहीं, जानिए क्या है पूरा मामला ?

Image By : Hindustan

उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को 10 खरब डॉलर तक ले जाने की समयसीमा में बदलाव किया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब यह लक्ष्य 2022-27 की पंचवर्षीय अवधि में हासिल करने का लक्ष्य तय किया है। सरकार ने इस लक्ष्य को हासिल करने में सहयोग के लिए कंसलटेंट चयन की कार्रवाई नए सिरे से शुरू करने के निर्देश दिए हैं।

पहले 2025 तक का रखा था लक्ष्य

केंद्र सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को अगले पांच वर्ष में 50 खरब डॉलर (5 ट्रिलियन डॉलर) तक ले जाने का एलान किया था। इसके बाद मुख्यमंत्री ने इसमें 10 खरब डॉलर का योगदान यूपी से करने का लक्ष्य तय किया था। इसके लिए आईआईएम लखनऊ के साथ पूरे मंत्रिमंडल व शासन के अधिकारियों ने अध्ययन किया और इस लक्ष्य को पाने में सहयोग के लिए एक कसंलटेंट चयन का फैसला किया था।

2019 में इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए 2020-25 की कार्यावधि तय की गई थी। मगर इसी बीच कोविड महामारी से बचाव के लिए लगाए लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था बेपटरी हो गई, जो अब तक पूरी तरह से रफ्तार नहीं पकड़ पाई है।

शासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बीच में इस लक्ष्य के लिए समयसीमा बढ़ाने का प्रस्ताव हुआ तो मुख्य सचिव ने इसे 2021-26 करने का सुझाव दिया। लेकिन जब यह प्रस्ताव सीएम के पास सहमति के लिए गया तो उन्होंने इसे 2022-27 तक करने की सहमति दी। दरअसल, यह विधानसभा चुनाव बाद नई सरकार की पंचवर्षीय कार्य अवधि है। उन्होंने इसी आधार पर कंसलटेंट चयन के लिए प्री-बिड कार्रवाई आगे बढ़ाने को मंजूरी दी है।

पूर्व में यह कार्रवाई शुरू की गई थी, जिसे निरस्त करना पड़ा था। अब कंसलटेंट चयन की कार्यवाही मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली उच्चाधिकार प्राप्त समिति करेगी। मुख्य सचिव ने इस समिति के सहयोग के लिए एक उप समूह के गठन का आदेश दिया है। अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त की अध्यक्षता में यह उप समूह गठित किया गया है।

उप समूह में ये शामिल

अध्यक्ष- संजीव कुमार मित्तल, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त। सदस्य- अपर मुख्य सचिव कार्मिक डॉ. देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव लोक निर्माण नितिन रमेश गोकर्ण, प्रमुख सचिव प्राविधिक शिक्षा अमृत अभिजात, डीएम गोरखपुर विजय किरन आनंद, डीएम बाराबंकी आदर्श सिंह और डीएम संतकबीरनगर दिव्या मित्तल। इसके अलावा एक विशेष आमंत्रित सदस्य- नामित अर्थशास्त्री।

Like Follow us on :- Twitter | Facebook | Instagram | YouTube

<div class="paragraphs"><p>Uttar Pradesh: योगी सरकार का बड़ा ऐलान, स्ट्राइक की तो अब खैर नहीं, जानिए क्या है पूरा मामला ?</p></div>
अलविदा 2021, क्या रही इस साल की खास बातें जो हमेशा रहेंगी याद, 2021 की 21 खास घटनाओं पर एक नज़र

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com