पश्चिम बंगाल में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने तोड़ा दुर्गा पंडाल? जानिए इस वायरल वीडियो की पूरी सच्चाई

5 अक्टूबर को, लगभग 200 चरमपंथियों की भीड़ ने बांग्लादेश के नोआखली जिले के इस्कॉन मंदिर पर हमला किया। इस्कॉन समुदाय के मुताबिक इस हमले में 3 हिंदुओं की मौत हुई थी। इस्कॉन मंदिर के अधिकारियों ने पीएम मोदी से इस मामले में प्रधानमंत्री शेख हसीना से बात करने का आग्रह किया है।
पश्चिम बंगाल में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने तोड़ा दुर्गा पंडाल? जानिए इस वायरल वीडियो की पूरी सच्चाई

डेस्क न्यूज़- दुर्गा पंडाल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में कुछ लोग दुर्गा पंडाल में तोड़फोड़ करते और उसे तोड़ते नजर आ रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो पश्चिम बंगाल का है। जहां मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नवरात्रि पर्व के दौरान दुर्गा पंडाल को तोड़ा।

क्या है सच्चाई?

वायरल वीडियो के पीछे की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर वीडियो के कीफ्रेम को रिवर्स सर्च किया। सर्च रिजल्ट में हमें www.unaprcm.org न्यूज वेबसाइट मिली। वेबसाइट के मुताबिक, यह वीडियो बांग्लादेश के नोआखली का है। जहां शनिवार को हिंदू मंदिर और दुर्गा पंडाल पर लोगों की भीड़ ने हमला कर दिया। जांच के अगले चरण में हमने वेबसाइट पर मिली जानकारी से संबंधित कीवर्ड गूगल पर सर्च किए। सर्च रिजल्ट में हमें टाइम्स ऑफ इंडिया समेत कई न्यूज वेबसाइट्स पर यही खबर मिली। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना की कड़ी चेतावनी के बावजूद इस्लामिक कट्टरपंथियों द्वारा हिंदू मंदिरों पर हमले जारी हैं।

5 अक्टूबर को, लगभग 200 चरमपंथियों की भीड़ ने बांग्लादेश के नोआखली जिले के इस्कॉन मंदिर पर हमला किया। इस्कॉन समुदाय के मुताबिक इस हमले में 3 हिंदुओं की मौत हुई थी। इस्कॉन मंदिर के अधिकारियों ने पीएम मोदी से इस मामले में प्रधानमंत्री शेख हसीना से बात करने का आग्रह किया है।

साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा झूठा है। ये वीडियो बंगाल का नहीं बल्कि बांग्लादेश में हिंदू मंदिर और दुर्गा पंडाल पर हमले का है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com