छत्तीसगढ़ में गोलगप्पे खाने से 71 लोगों की बिगड़ी तबीयत, 6 से 15 साल के 47 बच्चे अस्पताल में भर्ती

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के गाटापार कला बाजार में भेल और गोलगप्पे खाने से 71 लोग बीमार हो गए। इनमें 47 बच्चे भी शामिल हैं। सभी बच्चों की उम्र 6 से 15 साल के बीच बताई जा रही है। फूड पॉइजनिंग से पीड़ित सभी बच्चों को पेंड्री के मेडिकल कॉलेज और बुजुर्गों को स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।
छत्तीसगढ़ में गोलगप्पे खाने से 71 लोगों की बिगड़ी तबीयत, 6 से 15 साल के 47 बच्चे अस्पताल में भर्ती

डेस्क न्यूज़- छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के गाटापार कला बाजार में भेल और गोलगप्पे खाने से 71 लोग बीमार हो गए। इनमें 47 बच्चे भी शामिल हैं। सभी बच्चों की उम्र 6 से 15 साल के बीच बताई जा रही है। फूड पॉइजनिंग से पीड़ित सभी बच्चों को पेंड्री के मेडिकल कॉलेज और बुजुर्गों को स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। देर रात हुई इस घटना से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। सूचना पर कलेक्टर तरण प्रकाश सिन्हा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी मिथिलेश चौधरी समेत अन्य अधिकारी रात में ही मेडिकल कॉलेज पहुंचे। फिलहाल सभी मरीजों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

Photo | Live Hindustan
Photo | Live Hindustan

गाव में अफरा तफरी का माहौल

खैरागढ़ प्रखंड के थेलकाडीह क्षेत्र के गातापार कला में मंगलवार को साप्ताहिक बाजार लगा। इस गांव में बुजुर्ग, पुरुष और बच्चे गए थे। सभी ने पानी पतासी और भेल खा लिया था। घर लौटने के बाद रात में कुछ बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी। कुछ लोग उल्टी और दस्त की वजह से गंभीर हो गए। इतनी बड़ी संख्या में बच्चों की तबीयत बिगड़ने से गांव में अफरा-तफरी का माहौल था. सभी को जल्द से जल्द सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। बड़ी संख्या में मरीज आने के बाद बच्चों को राजनांदगांव के पेंड्री स्थित मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। यहां सभी मरीजों को उचित स्वास्थ्य सुविधाएं मिलनी चाहिए। डीएम ने प्रशासनिक और स्वास्थ्य अमले को सक्रिय रहने के निर्देश दिए हैं।

गांव पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथलेश चौधरी ने बताया कि बच्चों की हालत में सुधार हो रहा है। सभी का मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है। वहीं, एसडीएम के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम को गांव भेजा गया है. वहां कैंप लगाकर सभी ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है. गांव के पानी का सैंपल लिया गया है। स्थिति अब नियंत्रण में है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com