Satya Nadella के बेटे का cerebral palsy बीमारी से निधन, आखिर क्या ये बीमारी?

पिछले साल ही चिल्ड्रंस हॉस्पिटल (Children’s Hospital) ने नडेला के साथ मिलकर सिएटल चिल्ड्रंस सेंटर फॉर इंटिग्रेटिव ब्रेन रिसर्च के हिस्से के रूप में जैन नडेला एंडोड चेयर इन पेडियाट्रिक न्यूरोसाइंसेज (Zain Nadella Endowed Chair in Pediatri Neurosciences) की शुरुआत की थी। जैन के निधन के बाद से यूजर्स जानना चाहते हैं कि आखिर ये बीमारी आखिर क्या है और इससे शरीर पर क्या असर होता है।
Satya Nadella के बेटे का cerebral palsy बीमारी से निधन, आखिर क्या ये बीमारी?

Photo | India glitz

सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft Corp) से मिली जानकारी के अनुसार कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर सत्या नडेला Satya Nadella और उनकी पत्नी अनु के बेटे जैन नडेला (Zain Nadella) का सोमवार सुबह निधन हो गया। उनका बेटा 26 साल का था और वो जन्म से ही सेरेब्रल पाल्सी (cerebral palsy) बीमारी थी। कंपनी ने एक ईमेल के जरिए अपने एग्जीक्यूटिव स्टाफ को इस बात की जानकारी दी कि जैन (Zain) का संबंधित ​बीमारी से निधन हो गया है। मैसेज में एग्जीक्यूटिव्स से उनके परिवार के लिए प्रार्थना करने के लिए कहा है। जैन के निधन के बाद से यूजर्स जानना चाहते हैं कि आखिर ये बीमारी आखिर क्या है और इससे शरीर पर क्या असर होता है।

नडेला ने डिसेबल यूजर्स को बेहतर सर्विस देन की बात कही थी
बता दें कि 2014 से माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ नडेला ने डिसएबिलिटी से पीड़ित यूजर्स को बेहतर सर्विस देने के लिए डिजाइनिंग प्रोडक्ट्स की बात कही थी। इस दौरान उन्होंने कहा था कि उन्होंने बेटे जैन के पालन पोषण कर काफी कुछ सीखा है। पिछले साल ही चिल्ड्रंस हॉस्पिटल (Children’s Hospital) ने नडेला के साथ मिलकर सिएटल चिल्ड्रंस सेंटर फॉर इंटिग्रेटिव ब्रेन रिसर्च के हिस्से के रूप में जैन नडेला एंडोड चेयर इन पेडियाट्रिक न्यूरोसाइंसेज (Zain Nadella Endowed Chair in Pediatri Neurosciences) की शुरुआत की थी।
चिल्ड्रंस हॉस्पिटल के CEO ने कहा जैन की ओर से परिवार और प्रियजनों को दी गई खुशी के लिए याद रखा जाएगा
चिल्ड्रंस हॉस्पिटल (Children’s Hospital) के सीईओ जेफ स्पेरिंग ने अपने बोर्ड को भेजे मेसेज में लिखा, “जैन को संगीत की अच्छी समझ, उनकी बेहतरीन मुस्कान और अपने परिवार और अपने प्रियजनों को उनकी ओर से दी गई खुशी के लिए याद रखा जाएगा।” इस मेसेज को माइक्रोसॉफ्ट के एग्जीक्यूटिव्स के साथ शेयर किया गया है।

Photo | India glitz

आखिर ​क्या है ये बीमारी है क्या?

दअसल सेरेब्रल पाल्सी एक ऐसी बीमारी है जो बच्चों के संपूर्ण विकास पर असल डाल सकती है। जानिए सेरेब्रल पाल्सी के प्रकार, कारण और लक्षण के बारे में।
एक रिपोर्ट बताया गया है कि दुनियाभर में सेरेब्रल पाल्सी डिसऑर्डर 17 मिलियन से भी ज्यादा पेशेंट हैं। सेरेब्रल पाल्सी (cerebral palsy) को मस्तिष्क पक्षाघात कहा जाता है। ये बीमारी बच्चों में जन्म के बाद पहले महीने में ज्यादा होती है। वहीं ये डिसऑर्डर गर्भ में या जन्म के बाद मस्तिष्क में गंभीर चोट लगने के कारण भी हो सकता है। चिकित्सकों की मानें तो इसे एक बाय बर्थ डिसऑर्डर कहा गया है, इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अपना खास ख्याल और सावधानी रखने की सलाह दी जाती है। जिससे की बच्चा शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रह सके। यदि एक प्रेग्नेंट लेडी के कंसीव के दौरान बॉडी स्ट्रेस, टेंशन और पेन जैसी तकलीफ से गुजरती है उस समय अजन्में शिशु के मस्तिष्क को हानि पहुंच सकती है। ये बड़ी वजह है जिससे बच्चे को जन्म से ही सेरेब्रल पाल्सी की समस्या (cerebral palsy in kids) हो सकती है।
थेरेपी और साइकेट्रिस्ट की लें मदद
यदि इस बीमारी(Cerebral Palsy) से ग्रसित कोई बच्चा आपके आसपास या अपकी नजर में है तो इसे लाइलाज समझकर अपने हाल पर छोड़ने के बजाय थेरेपी की मदद से उसकी जिंदगी संवारने का प्रयास करें। यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें मरीज दूसरों पर निर्भर रहता है। वहीं थेरेपी के साथ-साथ साइकेट्रिस्ट्स मरीज को आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश करते हैं।
सेरेब्रल पाल्सी बच्चे के विकास को कैस प्रभावित करता है?
सेरेब्रल पाल्सी मस्तिष्क क्षति की गंभीरता, स्थान और किस हद तक मस्तिष्क को नुकसान पहुंचा है, उसके आधार पर एक बच्चे के विकास को प्रभावित कर सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार सेरेब्रल पाल्सी से प्रभावित होने वाले विकास स्तर में ग्रॉस मोटर मूवमेंट और फाइन मोटर कोऑर्डिनेशन शामिल हैं। जन्म के दौरान लगने वाली चोटें सेरेब्रल पाल्सी का कारण बनती हैं, इससे शिशु में संवेदना कौशल (Sensory skills), भाषाई कौशल (language skills) और सामाजिक विकास (social development) जैसी समस्याओं के साथ देखने-सुनने आदि से संबंधित समस्याएं भी हो सकती हैं।
सेरेब्रल पाल्सी के टाइप्स क्या हैं?
सेरेब्रल पाल्सी कितने तरह का के हो सकते हैं? (Types of Cerebral Palsy in Hindi) सेरेब्रल पाल्सी मुख्य तौर पर चार तरह के होते हैं। स्पास्टिक सेरेब्रल पाल्सी, अटैक्सिक सेरेब्रल पाल्सी, मिक्स्ड सेरेब्रल पाल्सी और डिस्किनेटिक सेरेब्रल पाल्सी। इन सभी के होने पर भिन्न भिन्न तरह के लक्षण नजर आते हैं।
Satya Nadella के बेटे का cerebral palsy बीमारी से निधन, आखिर क्या ये बीमारी?
तोता गुमा तो रखा 1 लाख का इनाम: पशु प्रेमी डॉक्टर ने ढूंढने के लिए अखबार में दिए लाखों के विज्ञापन, 80 हजार में खरीदा था जोड़ा

Related Stories

No stories found.