दिल्ली HC जस्टिस रेखा पल्ली को वकील ने बोला 'सर' तो जज साहिबा ने दिया दिलचस्प जवाब

जज साहिबा ने कहा कि चेयर के कारण उन्हें 'सर' कहना दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि ये चेयर यानि ये पद सिर्फ सर के लिए नहीं है। यदि आप ऐसा समझती हैं तो यह और भी बुरा है।
दिल्ली HC जस्टिस रेखा पल्ली को वकील ने बोला 'सर' तो जज साहिबा ने दिया दिलचस्प जवाब

जस्टिस रेखा पल्ली बुधवार को दिल्ली उच्च न्यायालय में एक मामले की सुनवाई कर रही थीं और उन्हें सर के संबोधन से वकील अपनी बता रख रहीं थी। रिपोर्ट की मानें तो जस्टिस रेखा पल्ली ने इस पर आपत्ति जताई और कहा था कि वह सर नहीं हैं। जस्टिस रेखा पल्ली ने कहा कि "मैं सर नहीं हूं। मुझे आशा है कि आप इस बात को समझेंगीं। उनके इस वक्तव्य के बाद वकील ने कहा कि मैं तो आपकी चेयर यानि पद को ध्यान में रख कर आपको सर से संबोधन कर रही थी। वकील के जवाब पर जस्टिस रेखा पल्ली ने रोचक रिप्लाई दिया

जज ने कहा ये चेयर सिर्फ सर के लिए ये ही नहीं...
जज साहिबा ने कहा कि चेयर के कारण उन्हें 'सर' कहना दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि ये चेयर यानि ये पद सिर्फ सर के लिए नहीं है। यदि आप ऐसा समझती हैं तो यह और भी बुरा है अगर इतने समय के बाद भी आप सोचती हैं कि ये सिर्फ अध्यक्ष महोदय के लिए है। यदि युवा सदस्य भेद करना बंद नहीं करेंगे तो हम भविष्य में किससे समानता की उम्मीद करेंगे।
देश की विभिन्न कोर्ट में महिला जजों की कमी
भारत के ज्यूडिशल सिस्टम में लिंग अनुपात भारतीय अदालतों में कम महिला न्यायाधीशों के चलते माहौल असमान रूप से बना हुआ है। 2021 में, महिला वकीलों के एक संगठन ने एक पब्लिक पीटिशन दायर कर अदालतों में ज्यादा महिलाओं को अपॉइंट करने की मांग की थी।
याचिका में कहा गया है कि मणिपुर, मेघालय, पटना, त्रिपुरा और उत्तराखंड के उच्च न्यायालयों में एक भी महिला न्यायाधीश नहीं हैं। गुवाहाटी, हिमाचल, जम्मू और कश्मीर के उच्च न्यायालय; लद्दाख, झारखंड, उड़ीसा, राजस्थान और सिक्किम में केवल 1 महिला न्यायाधीश हैं।
दिल्ली HC जस्टिस रेखा पल्ली को वकील ने बोला 'सर' तो जज साहिबा ने दिया दिलचस्प जवाब
Kushinagar Incident: आखिर क्या है शादी के दौरान मटकोड़वा की रस्म, कुशीनगर के गांव में इसी रस्म अदायगी की खुशी मातम में बदल गई
Since independence
hindi.sinceindependence.com