Lottery : मजदूर की खुली किस्मत: खुदाई करते हुए मिला 60 लाख का हीरा

कब किसकी किस्मत खुल जाए किसी को नहीं पता। इसी तरह की एक घटना मध्य प्रदेश के पन्ना से आई है, जहां एक 35 वर्षीय व्यक्ति को खदान की खुदाई के दौरान उच्च गुणवत्ता का हीरा मिला
Lottery :  मजदूर की खुली किस्मत: खुदाई करते हुए मिला 60 लाख का हीरा

न्यूज़- कब किसकी किस्मत खुल जाए किसी को नहीं पता। इसी तरह की एक घटना मध्य प्रदेश के पन्ना से आई है, जहां एक 35 वर्षीय व्यक्ति को खदान की खुदाई के दौरान उच्च गुणवत्ता का हीरा मिला। जिसकी कीमत 60 लाख से एक करोड़ के बीच हो सकती है। इससे पहले, मध्य प्रदेश में दो मजदूरों को भी हीरे मिले थे, उस दौरान उसकी नीलामी 2.55 करोड़ में हुई थी।

ये हीरा आनंदी लाल कुशवाहा को पन्ना जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर रानी की उथली हीरा खदान की खुदाई के दौरान मिला है

जानकारी के मुताबिक ये हीरा आनंदी लाल कुशवाहा को पन्ना जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर रानी की उथली हीरा खदान की खुदाई के दौरान मिला है। कुशवाहा ने ईमानदारी दिखाते हुए तुरंत उसे HEERA कार्यालय में जमा करवा दिया। कुशवाहा के मुताबिक इसी खदान में खुदाई के दौरान पहले उन्हें 70 सेंट का हीरा बरामद हुआ था। अब उनकी किस्मत दोबारा से चमकी और उन्हें 10.69 कैरेट का हीरा बरामद हुआ है।

हीरे की कीमत 60 लाख से 1 करोड़ के बीच हो सकती है।

मामले में पन्ना जिले में स्थित हीरा कार्यालय के अधिकारी आर.के. पांडेय ने बताया कि जो हीरा खुदाई के दौरान मिला है, वो बेसकीमती है। साथ ही 10.69 कैरेट का बताया जा रहा है। HEERA मिलने के बाद खुद कुशवाहा ऑफिस आए और उसे जमा कर दिया। अब इसकी नीलामी की प्रक्रिया शुरू होगी। नीलामी में जो भी पैसा मिलेगा, उसमें से टैक्स आदि काटकर उसे आनंदी लाल कुशवाहा को दे दिया जाएगा। आमतौर पर एक कैरेट हीरे की कीमत 5-7 लाख के बीच होती है, ऐसे में इस हीरे की कीमत 60 लाख से 1 करोड़ के बीच हो सकती है।

प्रशासन ने 12 प्रतिशत रॉयल्टी काटने के बाद 2.30 करोड़ रुपये मजदूरों को दिया

हीरे मिलने का ये कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले 2018 के अंत में मध्य प्रदेश के दो मजदूरों की किस्मत चमकी थी। उस दौरान उन्हें खदान से एक बड़ा हीरा मिला था। बाद में हीरा कार्यालय ने उसकी नीलामी करवाई, जिसमें सबसे ज्यादा बोली 2.55 करोड़ की लगी। उस वक्त HEERA 42.9 कैरेट का था। अधिकारियों के मुताबिक 6 लाख रुपये प्रति कैरेट बोली लगी थी। जिस पर प्रशासन ने 12 प्रतिशत रॉयल्टी काटने के बाद 2.30 करोड़ रुपये मजदूरों को दे दिया था।

Like and Follow us on :

Related Stories

No stories found.