ASEAN Summit 2021: PM मोदी बोले आसियान की एकता हमेशा भारत के लिए प्राथमिकता रही

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कि 2022 में भारत और आसियान की साझेदारी को 30 साल पूरे हो जाएंगे और इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को 'आसियान-भारत मैत्री वर्ष' के रूप में मनाया जाएगा।
ASEAN Summit 2021: PM मोदी बोले आसियान की एकता हमेशा भारत के लिए प्राथमिकता रही
Photo | ANI

डेस्क न्यूज़- प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संगठन (आसियान) की एकता और केंद्रीयता हमेशा भारत के लिए प्राथमिकता रही है। प्रधान मंत्री मोदी ने भारत-आसियान शिखर सम्मेलन में डिजिटल रूप से कहा कि भारत की इंडो-पैसिफिक ओशन इनिशिएटिव (आईपीओआई) और इंडो-पैसिफिक के लिए आसियान की दृष्टि क्षेत्र में आपसी सहयोग के लिए उनकी साझा दृष्टि और ढांचा है।

भारत और आसियान के संबंध होंगे मजबूत

उन्होंने कहा कि 2022 में भारत और आसियान की साझेदारी को 30 साल पूरे हो जाएंगे और इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को 'आसियान-भारत मैत्री वर्ष' के रूप में मनाया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि कोविड-19 के प्रकोप के बीच आपसी सहयोग से भविष्य में भारत और आसियान के संबंध मजबूत होते रहेंगे।

आसियान की एकता भारत के लिए महत्वपूर्ण

पीएम मोदी ने कहा कि भारत और आसियान के बीच गहरे ऐतिहासिक संबंध हैं जो हमारे साझा मूल्यों, संस्कृति, परंपराओं, भाषा और खान-पान की आदतों में झलकते हैं। आसियान की एकता और केंद्रीय नीति हमेशा भारत के लिए महत्वपूर्ण रही है। भारत और आसियान के बीच गहरे ऐतिहासिक संबंध हैं जो हमारे साझा मूल्यों, संस्कृति, परंपराओं, भाषा और भोजन की आदतों में दिखते हैं। आसियान की एकता और केंद्रीय नीति हमेशा भारत के लिए महत्वपूर्ण रही है।

ब्रुनेई के सुल्तान हसनाल बोल्खी को दी बधाई 

कोरोना महामारी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि इस लड़ाई में हम सभी को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा है, लेकिन ऐसे समय में भी भारत आसियान की दोस्ती की परीक्षा था। इस दौरान दोनों के बीच सहयोग बढ़ता गया। उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में भी यह सहयोग बढ़ता रहेगा। उन्होंने इस वर्ष आसियान शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता करने के लिए ब्रुनेई के सुल्तान हसनाल बोल्खी को भी बधाई दी। उन्होंने यह भी कहा कि भारत ने हमेशा आसियान के सिद्धांतों का पूरी ईमानदारी से पालन किया है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com