राजस्थान की राजनीति में जुबान फिसलना मानो एक ट्रेंड सा होगया है,जाने किन नेताओ की कब जुबान फिसली ?

राजस्थान की राजनीति में जुबान फिसलना मानो एक ट्रेंड सा होगया है,जाने किन नेताओ की कब जुबान फिसली ?

सम्पूर्ण भारत में एक बड़ा विद्रोह खड़ा होगया और राजपूत समाज के लोगो ने सड़को पर गुलाबचंद कटारिया का पुतला फूंका।

राजस्थान की राजनीती में बयान बाजी के साथ अब नेताओ की जुबान भी फिसलने लगी है। हम बात करे कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा की तो इनकी जुबान मानो हर जगह मुख से निकला शब्द फिसलता है इन दिनों जितनी भी सभा और मीडिया को दी बाइट में उन्होंने इस तरीके से कहा है की मानो उसका अर्थ का किसी भी तरीके से कोई मेल ही ना हो वही कई बीजेपी के भी दिग्गज नेता है जिन्होंने अपनी जुबान से अपशब्द कहे है जिनमे बीजेपी के कदावर वरिष्ठ नेता गुलाबचंद कटारिया भी शामिल है। जिन्होंने महाराणा प्रताप को लेकर विवादित बयान दिया और उसके बाद सम्पूर्ण भारत में एक बड़ा विद्रोह खड़ा होगया और राजपूत समाज के लोगो ने सड़को पर गुलाबचंद कटारिया का पुतला फूंका।

वही एक नजर डाले इन बयानों पर।

डोटासरा : नाथी के बाड़े से सावरकर तक, सोशल मीडिया पर मीम बने सवारकर पर बोले…उन्होंने 2013 में माफी मांगी…सावरकर ने महात्मा गांधी के कहने पर अंग्रेजों से माफी मांगी थी। सावरकर ने 2011 और 2013 में माफीनामा लिखा और महात्मा 2015 में द. अफ्रीका से आए थे। पीसीसी में कहा था- आजादी से पहले सावरकरजी हिंदू राष्ट्र की बात करते थे, तो कोई गुनाह नहीं करते थे। उस समय हमारा देश गुलाम था। बाद में सफाई दी।

नाथी के बाड़े वाले बयान को लेकर विधानसभा तक में नेताओं ने कसे तंज…मार्च-अप्रैल में उनके सीकर के घर पर कुछ स्कूल व्याख्याता ज्ञापन देने आए। डोटासरा ने उन्हें कहा था कि मेरे घर को नाथी का बाड़ा समझ रखा है क्या? बिना टाइम लिए स्कूल समय में ज्ञापन देने कैसे आ गए। इस पर खूब मीम्स बने। विधानसभा में भी कई नेताओं ने तंज कसे।

कटारिया : महाराणा प्रताप के बयान पर फंसे-

कभी बोले-मैं अब चार-पांच दिन का मेहमान, जो करवाना है करवा लीजिए…माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में रिजल्ट जारी करने के बाद कहा था कि मैं अब 4-5 दिन का मेहमान हूं, जो करवाना है करवा लीजिए। वीडियो सामने आने के बाद सियासी गलियारों में उन्हें मंत्री पद से हटाने की चर्चा फैली।

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर महिला शिक्षकों का अपमान…स्कूलों में महिला स्टाफ के कारण प्रिंसिपल और दूसरे सेरिडोन टेबलेट लेंगे। स्कूल में महिलाओं के बीच आपसी झगड़े बहुत होते हैं।

भाजपा के सबसे वरिष्ठ नेताओं शुमार नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया भी बयानबाजी को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। महाराणा प्रताप को लेकर बयान दिया कहा-फिर माफी मांगी।

भगवान राम पर बोले-हमारी पार्टी नहीं होती तो भगवान राम आज समुद्र में ही होते…कहा-यदि हमारी पार्टी नहीं होती तो भगवान राम आज समुद्र में ही होते। उन्होंने जनता से कहा है कि वे कबतक सड़क और नालियों के लिए वोट करते रहेंगे? यदि उन्होंने भाजपा को वोट नहीं दिया तो भगवान राम उन्हें कोसेंगे। जनवरी 2019 में वल्लभनगर में एक कार्यक्रम में कहा-हमारी बेटियां पंक्चर बनाने वालों के साथ भाग रही हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com