जेलेंस्की ने यूक्रेन के सैनिकों को हथियार डालने को कहा, नहीं मानें लोग, क्या है वीडियो की सच्चाई

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा युद्ध की समाप्ति की घोषणा करने वाला एक Deepfake tools वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया गया था। इस बीच, इस सप्ताह YouTube और मेटा ने यूक्रेन के राष्ट्रपति
जेलेंस्की ने यूक्रेन के सैनिकों को हथियार डालने को कहा, नहीं मानें लोग, क्या है वीडियो की सच्चाई

PHOTO- www.newyorker.com

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा युद्ध की समाप्ति की घोषणा करने वाला एक Deepfake tools वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया गया था। इस बीच, इस सप्ताह YouTube और मेटा ने यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की के रूस के सामने आत्मसमर्पण करने की बात करने वाला डीपफेक वीडियो हटा दिया।

ज़ेलेंस्की का डीपफेक विडियो बहुत विश्वसनीय नहीं था

युद्ध में दोनों पक्ष प्रभावशाली मीडिया सामग्री का उपयोग कर रहे हैं। सवाल यह उठता है कि ये डीपफेक वीडियो इस युद्ध में गलत सूचनाओं को लेकर क्या दिखाता हैं। और क्या लोग वाकई उस पर भरोसा कर रहे हैं? राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की का डीपफेक बहुत विश्वसनीय नहीं था और यूक्रेन में कई लोगों द्वारा इसका मजाक बनाया गया था।

विडियो के अंदर क्या था

इस वीडियो में ज़ेलेंस्की एक पोडियम के पीछे से बोल रहे हैं। वे यूक्रेन के लोगों से हथियार डालने को कह रहे हैं। वीडियो में उनका सिर शरीर से बड़ा और धुंधला नजर आ रहा है। इतना ही नहीं उनकी आवाज भी गहरी सुनाई देती है। अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में, वास्तविक राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने वीडियो को एक बचकाना हरकत बताया।

यूक्रेन के सेंटर फॉर स्ट्रेटेजिक कम्युनिकेशन ने चेतावनी दी है कि रूसी सरकार यूक्रेनियाई लोगों को हथियार डालने के लिए उकसाने के लिए इसी तरह के डीपफेक वीडियो का इस्तेमाल कर सकती है।
सेंटर फॉर स्ट्रेटेजिक कम्युनिकेशन यूक्रेन
तुरंत डीपफेक वीडियो की समीक्षा की और भ्रामक मीडिया पर कंपनी की नीति के अनुसार इसे हटा दिया।
नथानिएल ग्लीचर, मेटा के सुरक्षा नीति के प्रमुख

YouTube ने भी विडियो हटाया

वहीं, YouTube का यह भी कहना है कि उसने भ्रामक जानकारी को लेकर अपनी नीति के तहत इस वीडियो को भी हटा दिया है।

मृत रिश्तेदारों के एनिमेशन बनाने की तकनीक भी बहुत लोकप्रिय है और माई हेरिटेज वेबसाइट अब डीपफेक में बोलने की क्षमता प्रदान कर रही है।

जेलेंस्की ने यूक्रेन के सैनिकों को हथियार डालने को कहा, नहीं मानें लोग, क्या है वीडियो की सच्चाई
कोरोना की चौथी लहर का डर! इजराइल में मिला नया वैरिएंट, IIT कानपुर की रिसर्च चौकाने वाली

Related Stories

No stories found.