Muqtedar Khan Statement: 'इस साल पाक के हो सकते हैं टुकड़े', प्रो. मुक्तेदर खान ने ऐसा क्यों कहा?

Muqtedar Khan Statement: अमेरिका के प्रोफेसर मुक्तेदर खान ने पाकिस्तान को लेकर यहां तक कहा है कि भारत चाहे तो पाकिस्तान से जंग कर पीओके अपने में मिला सकता है।
Muqtedar Khan Statement: 'इस साल पाक के हो सकते हैं टुकड़े', प्रो. मुक्तेदर खान ने ऐसा क्यों कहा?

Muqtedar Khan Statement: अमेरिका के डेलावेयर यूनिवर्सिटी में इस्लामिक स्टडीज प्रोग्राम के डायरेक्टर प्रोफेसर मुक्तेदर खान का कहना है कि पाकिस्तान के लिए साल 2023 बेहद नाजुक रहने वाला है। पाकिस्तान में कई ऐसे संकट है जो उसे टुकड़ों में बांट सकते हैं। उन्होंने ये भी कहा है कि भारत चाहे तो पाकिस्तान के साथ जंग शुरू कर पीओके को अपने में मिला सकता है क्योंकि पाकिस्तान हर तरह से अभी कमजोर हो गया है।

हर क्षेत्र में पिछड़ते पाकिस्तान की हालत दिन-ब-दिन खराब होती जा रही है। विदेशी मदद के बाद भी ऐसा नहीं लगता कि पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति में जल्द किसी तरह का सुधार होगा। महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार से परेशान लोग सरकार की आलोचना कर रहे हैं। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के कुछ लोग तो भारत के लद्दाख के साथ आने के लिए कई दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इन सभी घटनाक्रमों को देखते हुए कई विश्लेषक मानने लगे हैं कि पाकिस्तान की स्थिति में जल्द ही कोई सुधार नहीं हुआ तो पाकिस्तान बिखर जाएगा।

पाकिस्तान हर तरह से संकट में

प्रोफेसर मुक्तेदर खान का कहना है कि पाकिस्तान के ऊपर फिलहाल छह संकट मंडरा रहे हैं जो उसे तोड़ कर रख सकते हैं। उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान फिलहाल हर तरह से संकट में है और अगर भारत चाहे तो जंग का ऐलान कर पीओके और बाकी इलाकों को अपने में मिला सकता है।

प्रोफेसर ने अपने एक वीडियो में बताया कि छह संकट हैं जो पाकिस्तान को टुकड़ों में बांट सकते हैं। उनके अनुसार, वो संकट हैं- राजनीतिक संकट, आर्थिक संकट, सुरक्षा का संकट, सिस्टम का संकट, पहचान का संकट और पर्यावरण संकट।

मुक्तेदर खान ने कहा है कि साल 2023 में इन संकटों की वजह से हो सकता है कि पाकिस्तान के टुकड़े-टुकड़े हो जाएं या देश की सारी सरकारी संस्थाएं नाकाम हो जाएं। वो कहते हैं, 'अगर ऐसा होता है तो हजारों-लाखों रिफ्यूजी वहां से निकलेंगे और पूरी दुनिया में जाएंगे। खासतौर से, भारत पर इसका असर होगा।'

Muqtedar Khan Statement: 'इस साल पाक के हो सकते हैं टुकड़े', प्रो. मुक्तेदर खान ने ऐसा क्यों कहा?
PM Daavedar: ममता, नीतीश, शरद, केसीआर...विपक्ष में कई दावेदार; राहुल कैसे होंगे स्वीकार?
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com