मार्क जुकरबर्ग की बढ़ी मश्किलें: मैगजीन ने कवर पर सीईओ की फोटो लगाकर दिया “Delete Facebook” का कैप्शन

मार्क जुकरबर्ग के लिए इन दिनों सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। 5 अक्टूबर को जहां व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम और फेसबुक घंटों डाउन रहे, वहीं उसके बाद फेसबुक के साथ काम करने वाली फ्रांसेस हौगेन ने उनके प्रोडक्ट से बच्चों को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया।
मार्क जुकरबर्ग की बढ़ी मश्किलें: मैगजीन ने कवर पर सीईओ की फोटो लगाकर दिया “Delete Facebook” का कैप्शन

डेस्क न्यूज़- मार्क जुकरबर्ग के लिए इन दिनों सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। 5 अक्टूबर को जहां व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम और फेसबुक घंटों डाउन रहे, वहीं उसके बाद फेसबुक के साथ काम करने वाली फ्रांसेस हौगेन ने उनके प्रोडक्ट से बच्चों को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया। ऐसे में अब टाइम मैगजीन ने भी जुकरबर्ग पर निशाना साधा है। मैगजीन के कवर पेज पर जुकरबर्ग की फोटो है। इसमें 'कैंसल या डिलीट' का विकल्प है, जिस पर 'डिलीट फेसबुक' लिखा हुआ है।

लोगों की सुरक्षा को दाव पर लगाने का आरोप

आपको बता दें कि व्हिसलब्लोअर फ्रांसेस हौगेन लगातार कंपनी को लेकर बड़े खुलासे कर रही हैं। उन्होंने अमेरिकी कांग्रेस से कहा है कि चीन और ईरान दुश्मनों से जुड़ी जानकारी जुटाने के लिए फेसबुक का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन फेसबुक के पास जासूसी के खिलाफ काम करने वाली टीम का अभाव है, यह अमेरिका की सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा है। फेसबुक ने पैसा कमाने के लिए लोगों की सुरक्षा को दांव पर लगा दिया है।

गलत सूचना हटाने वाली टीम को हटाया

द टाइम कवर लेख, जो पत्रिका की वेबसाइट पर प्रकाशित हुआ है, फेसबुक की नागरिक अखंडता के बारे में विस्तार से बताता है। इसमें लिखा है कि सोशल मीडिया पर गलत सूचना और नफरत भरे पोस्ट के खिलाफ लड़ने वाली टीम के सभी सदस्यों को अलग-थलग कर दिया गया है। फेसबुक ने इस टीम को दिसंबर 2020 में हटा दिया था। इस वजह से अब फ्रांसेस हौगेन खुलकर सामने आ गई हैं। हौगेन ने यह भी कहा कि कंपनी ने अपने आंतरिक सर्वेक्षण को भी छुपाया, जिससे पता चला कि कैसे इंस्टाग्राम का एल्गोरिदम युवाओं के दिमाग को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर रहा था।

जुकरबर्ग बोले- लोगों को एंग्री बनाने वाली कंपनी को नहीं जानता

मार्क जुकरबर्ग ने व्हिसलब्लोअर के दावों पर पलटवार करते हुए कहा कि ये सच नहीं है। उन्होंने फेसबुक कर्मचारियों को भेजे एक नोट में कहा कि इस तर्क में कोई सच्‍चाई नहीं है कि हम जानबूझकर ऐसे कंटेंट को आगे बढ़ाते हैं जो लोगों को नाराज करे और इससे हमें फायदा हो। वे किसी भी ऐसी टेक कंपनी को नहीं जानते जो कोई ऐसे प्रोडक्ट बना रही हो जिससे लोगों को एंग्री या डिप्रेस किया जाए।

मार्क जुकरबर्ग की सफाई

मार्क जुकरबर्ग ने व्हिसलब्लोअर के दावों पर पलटवार करते हुए कहा कि यह सच नहीं है। उन्होंने फेसबुक कर्मचारियों को भेजे गए एक नोट में कहा कि इस तर्क में कोई सच्चाई नहीं है कि हम जानबूझकर ऐसी सामग्री का प्रचार करते हैं जो लोगों को ठेस पहुंचाती है और इससे हमें फायदा होता है। वे किसी ऐसी टेक कंपनी के बारे में नहीं जानते जो ऐसा उत्पाद बना रही है जो लोगों को नाराज़ या निराश करे।

फ्रांसेस हौगेन कौन हैं

फ्रांसेस हौगेन फेसबुक के कर्मचारी रह चुके हैं। वह कंपनी में डेटा एनालिस्ट के तौर पर काम कर चुकी हैं। एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में उसने कहा कि उसने फेसबुक ज्वाइन किया था क्योंकि उसे उम्मीद थी कि यहां से वह दुनिया के लिए अच्छा कर सकती है, लेकिन उसने छोड़ दिया क्योंकि फेसबुक के उत्पाद बच्चों के लिए हानिकारक हैं। वे विभाजन को बढ़ावा देते हैं और लोकतंत्र को खतरे में डालते हैं।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com