इजरायल में साबुत मिला 1000 साल पुराना मुर्गी का अंडा, जानें अब तक कैसे रहा सुरक्षित

इजरायल में एक हजार साल पुराना मुर्गी का अंडा मिला है। बताया जा रहा है कि यह दुनिया के सबसे पुराने अंडों में से एक है। हालांकि दुर्भाग्य से सफाई के दौरान अंडा टूट गया। बताया जा रहा है कि यह अंडा 10वीं सदी का हैं।
इजरायल में साबुत मिला 1000 साल पुराना मुर्गी का अंडा, जानें अब तक कैसे रहा सुरक्षित

डेस्क न्यूज़- इजरायल में एक हजार साल पुराना मुर्गी का अंडा मिला है। बताया जा रहा है कि यह दुनिया के सबसे पुराने अंडों में से एक है। हालांकि दुर्भाग्य से सफाई के दौरान अंडा टूट गया। बताया जा रहा है कि यह अंडा 10वीं सदी का है और मध्य इस्राइल के यावने शहर में खुदाई के दौरान मिला था। यवने शहर में इन दिनों शहरी विकास के प्रॉजेक्‍ट चल रही हैं।

बेहद दुर्लभ खोज

इजरायल पुरातत्व विभाग के विशेषज्ञ डॉक्टर ली पेरी गाल ने कहा, 'इजरायल और पूरी दुनिया में यह बेहद दुर्लभ खोज है। खुदाई के दौरान अंडे के छिलके मिलना हमेशा दिलचस्प रहा है, लेकिन यह आम है। अपने आप में एक पूरा अंडा मिलना दुर्लभ है। इससे पहले इज़राइल में, प्राचीन अंडे के छिलके यरुशलम के सिटी ऑफ डेविड में कई बार पाए गए हैं। बताया जा रहा है कि यह पूरा अंडा 10वीं सदी के एक प्राचीन स्थल से बरामद किया गया है।

इतने समय तक कैसे सुरक्षित रहा?

पुरातत्वविदों को इस स्थल के अंदर इस्लामी काल का एक मलकुंड मिला है। पुरातत्वविदों के आश्चर्य का कोई ठिकाना नहीं था जब उन्होंने मालाकुंड के अंदर एक असामान्य चीज देखी। इजरायली पुरातत्वविद् अल्‍ला नागोरस्‍की ने कहा, 'इस अंडे को पूरी तरह से संरक्षित किया गया था क्योंकि यह एक हजार साल तक एक निश्चित स्थिति में पड़ा रहा। यह अंडा इंसानों के मल के बीच पड़ा था और इस वजह से बच गया।

6,000 साल पहले शुरु हुआ था मुर्गियों का पालन

अल्ला ने कहा, 'आज भी, अंडे सुपरमार्केट कार्टून के अंदर ज्यादा देर तक नहीं रह सकते। यह सोचकर बहुत अच्छा लगता है कि यह अंडा एक हजार साल पुराना है। चूंकि यह अंडा अब टूट चुका है और इसके अंदर की चीजें निकल चुकी हैं, फिर भी कुछ हिस्सा बचा हुआ है। यह भविष्य में अंडों के और परीक्षण परिक्षण किए जा सकेंगे। पेरी गाल का कहना है कि दक्षिण पूर्व एशिया में 6,000 साल पहले मुर्गियों को पालने का काम हुआ था, लेकिन इसे मानव भोजन में शामिल करने में काफी समय लगा। उनका उपयोग अन्य उद्देश्यों के लिए किया जाता था जैसे कि मुर्गियों में लड़ाई। मुर्गे को एक सुंदर जानवर माना जाता था और यह राजाओं को एक उपहार के रुप में दिया जाता था।

Like and Follow us on :

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com