आईसीजे का फैसला मानेगा पाकिस्तान, कुलभूषण को कांसुलर एक्सेस

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के एक जारी बयान में कहा गया कि पाकिस्तान भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव को कांसुलर एक्सेस प्रदान करेगा।

डेस्क न्यूज – पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव पर आईसीजे द्वारा दिये गये फैसले को मानने को घोषणा की है और कहा है कि वह कुलभूषण को कांसुलर एक्सेस प्रदान करेगा।

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) के फैसले के अनुसार " कुलभूषण जाधव को वियना कन्वेंशन के अनुच्छेद 36, पैरा 1 (बी) के तहत उनके अधिकारों की जानकारी दी जानी चाहिए, और उसे कांसुलर एक्सेस प्रदान करना चाहिए"

अपने फैसले में, ICJ ने कहा था कि जाधव को तुरंत कांसुलर एक्सेस की अनुमति दी जाए और पाकिस्तान को " सजा पर प्रभावी समीक्षा और पुनर्विचार" किया जाए।

हालाकि आईसीजे ने भारत द्वारा मांगी गई कई मांगो को खारिज कर दिया जिसमें  जाधव को दोषी ठहराते हुए सैन्य अदालत के फैसले को रद्द करना, सजा को रोकना, जाधव की रिहाई को सुरक्षित करना और भारत लौटने का आदेश देना शामिल था।

इससे पहले दिन में ट्विटर पर साझा की गई एक पोस्ट में, प्रधान मंत्री इमरान ने कहा था "कुलभूषण जाधव को भारत को वापस नहीं करने के आईसीजे के फैसले की सराहना करते है"

पाकिस्तान ने 3 मार्च 2016 को भारतीय नौसेना के एक सेवारत कमांडर  कुलभूषण जाधव को भारतीय जासूस एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग से जुड़े होने के झूठ आरोप में ईरान से गिरफ्तार किया था।

बाद में जासूस को 2017 में मौत की सजा सुनाई गई थी। 10 अप्रैल, 2017 को पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल क़मर बाजवा ने जाधव के लिए मृत्युदंड का समर्थन किया था।

हालाँकि, इससे पहले कि पाकिस्तानी अधिकारी कोई अंतिम निर्णय ले पाते, भारत अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) पहुंचा। इसके बाद अर्न्तराष्ट्रीय न्यायलय ने अंतरिम आदेश तक फांसी पर रोक लगा दी थी।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com