जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक संशोधन विधेयक लोकसभा में, UAPA बिल राज्यसभा में पास

अमित शाह ने दिग्विजय सिंह की हमें भी आंतकी घोषित कर दो, का जवाब देते हुए कहा कि कुछ नहीं करोगे तो कुछ नही होगा
जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक संशोधन विधेयक लोकसभा में, UAPA बिल राज्यसभा में पास

डेस्क न्यूज – लोकसभा के बाद अब राज्यसभा में भी यूएपीए (UAPA) संशोधन बिल पास हो चुका है. बिल के पक्ष में 147 वोट और विरोध में 42 वोट पड़े. इस बिल पर चर्चा के दौरान विपक्ष ने सरकार पर आरोप लगाया कि वो ऐसा कानून लाकर उसका राजनीतिक दुरुपयोग करना चाहती है. इसके जवाब में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि विपक्ष आखिर इस कानून से क्यों डर रहा है? अगर आप कुछ नहीं करेंगे तो आप पर कोई कार्रवाई नहीं होगी. शाह ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ हम जो भी कठोर कानून लाते हैं उसे सभी का समर्थन मिलना चाहिए।

कांग्रेस के वॉक आउट के बीच लोकसभा में पारित हुआ जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक संशोधन विधेयक, 2019

UAPA संशोधन बिल राज्यसभा से भी पास हो चुका है. इसके लिए राज्यसभा में वोटिंग कराई गई. बिल के पक्ष में 147 वोट पड़े वहीं इसके विरोध में 42 वोट डाले गए

UAPA बिल पर राज्यसभा में वोटिंग कराई गई. सभी सदस्यों से पहले मौखिक तौर पर और उसके बाद लिखित तौर पर वोटिंग करने को कहा गया. जिसके बाद बिल को सलेक्ट कमिटी में भेजने का प्रस्ताव खारिज हो गया.

गृहमंत्री ने राज्यसभा में कहा, 'अगर यासीन भटकल को आतंकी घोषित कर दिया गया होता तो वो बहुत पहले ही पकड़ा जाता। ये मोदी सरकार है कांग्रेस की नहीं, यहां सरकारी एजेंसियां अच्छी तरह से काम करती हैं। किसी को आतंकी घोषित कर दिया इसका मतलब ये नहीं है कि ठप्पा लग गया है। बाकी विकल्प भी दिए जाएंगे.

एजेंसियों को शक्तियां देकर राजनीतिक दुरुपयोग का जिक्र हुआ, लेकिन किसी को ऐसे ही आतंकी घोषित नहीं किया जा सकता है। मैं कहता हूं कि अगर कुछ नहीं करोगे तो आप पर कुछ नहीं होगा

UAPA बिल पर राज्यसभा में चर्चा के दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, आतंकियों को छूट नहीं मिलनी चाहिए. एनआईए में सजा की दर सबसे ज्यादा है. इस मामले में कानून के दुरुपयोग की बात गलत है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com