How To Make Holi Colours 2022: इस बार इन हर्बल रंगों से खेलें होली

How To Make Holi Colours 2022: केमिकल रंग से होली खेलने से त्वचा में एक्ने , एलर्जी या फिर जलन की समस्या हो सकती हैं। अगर आप इस बार घर पर बनाये हर्बल रंगो के साथ होली खेलना चाहते हैं तो जानिए घर में ही कैसे तैयार किए जा सकते हैं प्राकृतिक कलर, जिससे आप अपने घर पर आसानी से हर्बल रंग बना सकते हैं।
How To Make Holi Colours 2022: इस बार इन हर्बल रंगों से खेलें होली

How To Make Holi Colours 2022: होली पर गुलाल से खेलने की परंपरा सनातन काल से चली आ रही है। हम सभी को रंगों से होली खेलना पसंद हैं। अगर होली पूरी सुरक्षा और आनंद के साथ खेली जाए तो उसका अपना मजा हैं। बाजार में मिलने वाले केमिकलयुक्त रंग हमारी स्किन के लिए काफी नुकसानदायक होते हैं। केमिकल रंग से होली खेलने से त्वचा में एक्ने , एलर्जी या फिर जलन की समस्या हो सकती हैं। अगर आप इस बार घर पर बनाये हर्बल रंगो के साथ होली खेलना चाहते हैं तो जानिए घर में ही कैसे तैयार किए जा सकते हैं प्राकृतिक कलर, जिससे आप अपने घर पर आसानी से हर्बल रंग बना सकते हैं। तो चलिए आपको बतो हैं कि हर्बल कलर घर पर कैसे बनए जाते हैं।

<div class="paragraphs"><p>हरे रंग का गुलाल बनाने के लिए आप नीम की पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं।</p></div>

हरे रंग का गुलाल बनाने के लिए आप नीम की पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं।

Photo | Pixabay

हरा रंग - (How To Make Holi Colours 2022)
हरे रंग का गुलाल बनाने के लिए आप नीम की पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले नीम की पत्तियों को सुखाकर पीसने के बाद उसका पाउडर या पेस्ट बना ले। नीम हमारी त्वचा के लिए फायदेमंद होता हैं। यह हमारी त्वचा सम्बन्धी समस्याओं से निजात पाने में सहायक होता हैं। इसके अलावा आप पालक को सुखाकर भी हरे रंग का गुलाल बना सकते हैं।
नीम की पत्तियों को महीन पीसकर तैयार हुए पेस्ट से हरा रंग बनाया जा सकता है। इस पेस्ट को पानी में मिलाकर की रंग तैयार किया जा सकता है। यह फेसपैक की तरह भी काम करेगा। नीम एंटीबैक्टीरियल और एंटीएलर्जिक होने के कारण स्किन के लिए बेहद फायदेमंद है और यह कील, मुंहासों की समस्या में राहत देता है। नीम की पत्तियों को सुखाकर इसके पाउडर को भी गुलाल की तरह लगाया जा सकता है।
<div class="paragraphs"><p>हल्दी और बेसन दोनों ही हमारी त्वचा के लिए फ़ायदेमन्द होते हैं। गीले पीले रंग के लिए हल्दी और पानी को मिला सकते हैं।</p></div>

हल्दी और बेसन दोनों ही हमारी त्वचा के लिए फ़ायदेमन्द होते हैं। गीले पीले रंग के लिए हल्दी और पानी को मिला सकते हैं।

Photo | Pixabay

पीला रंग -
सूखा पीला रंग बनाने के लिए आप हल्दी और बेसन को मिला लें। हल्दी और बेसन दोनों ही हमारी त्वचा के लिए फ़ायदेमन्द होते हैं। गीले पीले रंग के लिए हल्दी और पानी को मिला सकते हैं। इसके अलावा गेंदा फूल को पानी में भिगोकर भी आप पीला रंग घर पर बना सकते हैं।
इस रंग को बनाने के लिए हल्दी बहुत उपयुक्त होती है। हल्दी एंटीसेप्टिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी होती है जो त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होती है। पीला रंग तैयार करने के लिए हल्दी को जौ या मक्के के आटे में मिलाकर पेस्ट बना सकते हैं। इसे एक रंग के रूप में प्रयोग करें। यह मृत त्वचा को हटाकर प्राकृतिक स्क्रब की तरह काम करेगा। हल्दी को अरारोट या चावल के पाउडर में मिलाकर भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

Photo | Pixabay

लाल रंग -
सूखा लाल रंग बनाने के लिए आप लाल चन्दन पाउडर को आटे या मैदे के साथ मिक्स कर सकते हैं। चन्दन की जगह आप सिंदूर का भी प्रयोग कर सकते हैं। गीला लाल रंग बनाने के लिए आप रातभर चुकंदर या गुलाब की पंखुड़ियों या गुड़हल की पंखुड़ियों को भिगोकर रख सकते हैं।
इस मौसम में चुकंदर आसानी से मिल जाता है। इसे पीस कर पानी में उबाल लें और लाल रंग बनकर तैयार है। अगर आपको गहरा गुलाबी रंग चाहिए तो इसमें और पानी मिलाएं। इसके अलावा आप इसे पीसकर पेस्ट भी बना सकते हैं। खास बात यह है कि यह रंग अगर आंख और मुंह में चला भी जाए तो भी कोई नुकसान नहीं है।

Photo | Pixabay

बैंगनी रंग -
बैंगनी रंग बनाने के लिए काले अंगूर या जामुन के जूस को पानी में घोलकर घर पर ही रंग तैयार किया जा सकता हैं।
गेंदे के फूलों का उपयोग केसरिया रंग बनाने के लिए किया जा सकता है। इसके अलावा पलाश के 100 ग्राम सूखे फूल को एक बाल्टी पानी में भिगो दें या रात भर भिगो दें। सुबह इसे छान लें। एक बाल्टी मोटी केसर रंग तैयार है। इसे इस तरह इस्तेमाल किया जा सकता है या पतला किया जा सकता है।
How To Make Holi Colours 2022: इस बार इन हर्बल रंगों से खेलें होली
Bhagwant Mann Oath Ceremony:AAP के भगवंत मान बने पंजाब के 17वें मुख्यमंत्री, पहली बार किसी CM ने शहीद के गांव में ली शपथ

Related Stories

No stories found.