Amit Shah: गृहमंत्री अमित शाह का बड़ा एलान- 'लोकसभा चुनाव से पहले लागू हो जाएगा सीएए'

Amit Shah Statement on CAA: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शनिवार को दावा किया कि लोकसभा चुनाव से पहले देश में नागरिकता (संशोधन) अधिनियम लागू हो जाएगा।
Amit Shah: गृहमंत्री अमित शाह का बड़ा एलान- 'लोकसभा चुनाव से पहले लागू हो जाएगा सीएए'

Amit Shah Statement on CAA: लोकसभा चुनाव से पहले देश में नागरिकता (संशोधन) अधिनियम लागू हो जाएगा। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शनिवार को दावा किया कि आगामी लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 370 सीट एवं उसके नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को 400 से अधिक सीट मिलेंगी। इसके साथ ही केंद्र में लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनेगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आगामी लोकसभा चुनावों में भाजपा को 300 से ज्यादा सीट मिलेंगी। जबकि, राजग (एनडीए) 400 से ज्यादा सीट हासिल करेगा। आम चुनाव के नतीजों पर कोई संशय की स्थिति नहीं है। यहां तक कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों को भी अहसास हो गया है कि उन्हें फिर से विपक्ष में बैठना होगा। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ये बातें शनिवार को एक कार्यक्रम के दौरान कहीं।

'चुनाव से पहले देश में सीएए लागू हो जाएगा'

नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (सीएए) पर अमित शाह ने कहा कि चुनाव से पहले इसे लेकर अधिसूचना आ जाएगी। इस संबंध में नियम जारी करने के बाद इसे लोकसभा चुनाव से पहले ही लागू किया जाएगा। उन्होंने साफ किया कि सीएए किसी के लिए भी नागरिकता छीनने का कानून नहीं है। हमारे मुस्लिम भाइयों को गुमराह किया जा रहा है। भड़काया जा रहा है। सीएए केवल उन लोगों को नागरिकता देने के लिए है जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में उत्पीड़न का सामना करने के बाद यहां आए हैं। यह किसी की भारतीय की नागरिकता छीनने का कानून नहीं है।

एनडीए को मिलेगी 400 से अधिक सीटें

अमित शाह ने कहा, हमने संविधान के अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म कर दिया, पूर्ववर्ती जम्मू-कश्मीर राज्य को विशेष दर्जा देता था। इसलिए, हमें भरोसा है कि देश के लोग भाजपा को 370 सीटों और एनडीए को 400 से अधिक सीटों का आशीर्वाद देंगे।

न्याय यात्रा को लेकर राहुल गांधी पर साधा निशाना

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' पर उन्होंने कहा, नेहरू-गांधी परिवार के वारिस को इस तरह के मार्च के साथ आगे बढ़ने का कोई अधिकार नहीं है, क्योंकि 1947 में देश के विभाजन के लिए उनकी पार्टी जिम्मेदार थी।

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com