शिक्षक भर्ती घोटाला: अर्पिता की चार लग्जरी गाड़ियां गायब, बड़ी मात्र में कालाधन ठिकाने लगाये जाने की आशंका

भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी और करीबी अर्पिता मुखर्जी के ठिकानों पर ईडी की कार्रवाई जारी है। अब तक की कार्रवाई में अर्पिता मुखर्जी के दो घरों की तलाशी में 50 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी और सोने की ईटे और जेवरात बरामद हो चुके । अर्पिता की चार लग्जरी गाड़ियां गायब है उसमें भी बड़ी सख्या में नकदी होने की आशंका है ।
शिक्षक भर्ती घोटाला: अर्पिता की चार लग्जरी गाड़ियां गायब, बड़ी मात्र में कालाधन ठिकाने लगाये जाने की आशंका

भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के चौथे घर की गुरुवार 28 जुलाई को तलाशी ली गई । इससे पहले अर्पिता मुखर्जी के एक और घर की तलाशी में करीब 30 करोड़ रुपये नकद बरामद किए गए । अब ईडी के सूत्रों के मुताबिक- अर्पिता की चारों गाड़ियों की तलाश की जा रही है । अर्पिता के डायमंड सिटी फ्लैट हाउस से ये वाहन गायब हैं। 1. ऑडी A4 WB02 AB9561, 2.होंडा सिटी WB06T6000, 3. होंडा CRV WB06T6001, 4. मर्सिडीज बेंज WB02AE2232।

सूत्रों के मुताबिक अर्पिता की गिरफ्तारी के वक्त सफेद रंग की सिर्फ एक मर्सिडीज कार ही जब्त की गई थी । ईडी के सूत्रों के मुताबिक चार लापता वाहनों में भारी मात्रा में नकदी हो सकती है । ईडी इन वाहनों की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है और कई सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है ।

ममता बनर्जी ने पार्थ चटर्जी को सभी पदों से हटाया

आपको बता दें कि ममता बनर्जी ने पार्थ चटर्जी को सभी पदों से हटा दिया है । अभिषेक बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात की जानकारी दी है । इससे पहले 27 जुलाई को बंगाल के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी के एक करीबी के चौथे घर की तलाशी ली गई थी । गौरतलब है कि अर्पिता मुखर्जी के दूसरे घर की तलाशी में करीब 30 करोड़ रुपये नकद बरामद किए गए। केंद्रीय बलों के जवानों के साथ जांच एजेंसी के अधिकारी 28 जुलाई को कोलकाता के चिनार पार्क स्थित एक अपार्टमेंट में पहुंचे । इससे पहले शिक्षा भर्ती घोटाला मामले में की गई छापेमारी में अर्पिता के एक अन्य फ्लैट से करीब 29 करोड़ रुपये नकद और पांच किलो सोने के आभूषण बरामद किए गए थे । ईडी ने कार्रवाही करते हुए 23 जुलाई को पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया गया था ।

हर 10 दिन में आते थे पैसे

पूछताछ के दौरान अर्पिता मुखर्जी ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में पता चला है कि सारा पैसा पैक कर एक ही कमरे में रखा गया था । इस कमरे के अंदर सिर्फ पार्थ चटर्जी और उनके लोग ही आते थे। अर्पिता मुखर्जी के मुताबिक पार्थ चटर्जी हर हफ्ते या 10 दिन में एक बार आते थे।

पार्थ के लोग हमेशा पैसा लाते थे, पार्थ नहीं

अर्पिता की 2016 से पार्थ से दोस्ती है । लेकिन पैसे की लेने देने की गतिविधियां पिछले 2 साल पहले से शुरू हो गई थीं। यह पैसा एसएससी परीक्षाओं के अलावा ट्रांसफर, कॉलेजों को मान्यता दिलाने जैसे कामों से आता था । पार्थ के लोग हमेशा पैसा लाते थे, पार्थ नहीं। वहीं ईडी को पार्थ के घर से 2012 टीईटी परीक्षा के दस्तावेज भी मिले हैं । अर्पिता ने कई संपत्तियों के बारे में भी बताया है। एक दलाल और एक बड़े व्यवसायी का भी उल्लेख किया गया है। ईडी ने उनके यहां भी छापेमारी कर रही है ।

Since independence
hindi.sinceindependence.com