पंजाब कांग्रेस: सियासी घमासान के बीच दोपहर 3 बजे CM चन्नी से मुलाकात करेंगे नवजोत सिंह सिद्धू , क्या अब थमेगा संग्राम?

पंजाब कांग्रेस में जारी सियासी घमासान के बीच नवजोत सिंह सिद्धू गुरुवार को मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी से मिलने चंडीगढ़ आ रहे हैं। सिद्धू ने ट्वीट किया कि मुख्यमंत्री ने मुझे बातचीत के लिए आमंत्रित किया है। इसके लिए मैं दोपहर 3 बजे चंडीगढ़ के पंजाब भवन पहुंच रहा हूं।
पंजाब कांग्रेस: सियासी घमासान के बीच दोपहर 3 बजे CM चन्नी से मुलाकात करेंगे नवजोत सिंह सिद्धू , क्या अब थमेगा संग्राम?
Photo | Aaj tak

डेस्क न्यूज़- पंजाब कांग्रेस में जारी सियासी घमासान के बीच नवजोत सिंह सिद्धू गुरुवार को मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी से मिलने चंडीगढ़ आ रहे हैं। सिद्धू ने ट्वीट किया कि मुख्यमंत्री ने मुझे बातचीत के लिए आमंत्रित किया है। इसके लिए मैं दोपहर 3 बजे चंडीगढ़ के पंजाब भवन पहुंच रहा हूं। किसी भी प्रकार की चर्चा के लिए उनका स्वागत है। सिद्धू जहां पंजाब के मुद्दों का हवाला देते हुए अपने फैसलों पर अडिग नजर आ रहे हैं, वहीं मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सुलह का समर्थन करते हुए यह भी साफ कर दिया है कि वह पंजाब के मुद्दों को लेकर भी लोगों के प्रति कटिबद्ध हैं।

चन्नी ने मामला शांत करने का दिया आश्वासन

मुख्यमंत्री चन्नी ने उम्मीद जताई है कि बुधवार को सिद्धू से फोन पर बातचीत के बाद सब ठीक हो जाएगा, लेकिन सिद्धू जिन मुद्दों पर अड़े हुए हैं, उनकी तरह चन्नी भी पंजाब की जनता के प्रति जवाबदेह है। पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सिद्धू ने दागी नेताओं और दागी अधिकारियों खासकर डीजीपी और एजी की नियुक्ति पर सवाल उठाए हैं। उनकी तरह मैं भी रेत, शराब और ड्रग माफिया के खिलाफ हूं। मैं पंजाब के मुद्दों को लेकर भी लोगों के प्रति कटिबद्ध हूं। मैंने पहले ही दिन साफ ​​कर दिया था कि माफिया के लोग मुझसे किसी काम के सिलसिले में न मिलें। मेरा जो भी कार्यकाल है, मैं उसे जनता से किए वादों को पूरा करने में लगाऊंगा। पंजाब मेरी प्राथमिकता है और रहेगी।

प्रदेश अध्यक्ष बदला भी जा सकता हैं – चन्नी

चन्नी ने कहा कि जहां तक ​​प्रदेश प्रमुख के सवालों का सवाल है, अगर किसी मामले पर पार्टी नेताओं की सहमति नहीं है तो ऐसे फैसलों को पलटा भी जा सकता है। उनकी सरकार द्वारा लिए गए निर्णय कोई पत्थर की लकीर नहीं हैं। जब भी जरूरत होगी इन्हें बदल दिया जाएगा।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com