UP: गोंडा में पैगंबर पर पोस्ट से बवाल; मजहबी भीड़ ने किया आरोपी के घर पर पथराव, पुलिस वाहन तोड़े

पैगंबर मोहम्मद को लेकर एक युवक को फेसबुक पर पोस्ट करना भारी पड़ गया। मामला उत्तर प्रदेश के गोंडा का है। जहां पर पोस्ट से नाराज मुस्लिमों की भीड़ ने युवक के घर पर पत्थर फेंके और पुलिस की गांड़ियों में भी तोड़-फोड़ की घटना को अंजाम दिया।
UP: गोंडा में पैगंबर पर पोस्ट से बवाल; मजहबी भीड़ ने किया आरोपी के घर पर पथराव, पुलिस वाहन तोड़े

उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में एक स्थानीय युवक ने सोशल मीडिया पर पैगंबर के बारे में 'आपत्तिजनक' टिप्पणी की, जिससे समुदाय विशेष में आक्रोश फैल गया। इस बीच गुस्साए लोगों ने कानून अपने हाथ में लेकर खुद ही आरोपी युवक के घर पर पथराव शुरू कर दिया, जिससे जिले में तनाव की स्थिति बन गई। जिले में अतिरिक्त बल तैनात कर दिया गया है और जिला प्रशासन स्थिति पर पैनी नजर रखे हुए है।

युवक के घर पर हमला करने के बाद बढ़ा विवाद

विवाद मंगलवार को उस समय शुरू हुआ जब मुसलमानों ने कथित तौर पर पथराव कर आरोपी के घर पर हमला किया। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस टीम मौके पर पहुंची और बाद में आरोपी रिक्की को गिरफ्तार कर लिया। हिंसा में शामिल 25 अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है।

स्थिति को देखते हुए मौके पर तैनात पुलिस बल
स्थिति को देखते हुए मौके पर तैनात पुलिस बल

फेसबुक पर टिप्पणी की

पुलिस ने कहा कि रिक्की ने फेसबुक पर पैगंबर के खिलाफ टिप्पणी की थी, जिससे अल्पसंख्यक समुदाय में गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने आरोपी के घर पर पथराव किया। इतना ही नहीं मौके पर पहुंची पुलिस की गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की गई।

एसपी आकाश तोमर ने कहा कि हिंसा चौक बाजार इलाके में रात क् समय हुई, लेकिन जल्द ही इस पर काबू पा लिया गया। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस टीम को इलाके में तैनात कर रखा है।

स्थिति पर कड़ी निगरानी

जिले के एक अधिकारी ने अपने बयान में कहा कि “हम किसी भी जवाबी कार्रवाई को रोकने के लिए स्थिति की निगरानी कर रहे हैं। आरोपियों और हिंसा में शामिल लोगों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। हमने समुदाय के वरिष्ठ सदस्यों से बात की है और उन्हें शांत रहने को कहा है।”

पोस्ट सोमवार रात को रिक्की द्वारा अपलोड किया गया था। रिक्की एक चाउमीन स्टॉल चलाता है। इस पूरे मामले में तीन प्राथमिकी दर्ज की हैं, एक रिक्की के खिलाफ, दूसरी पुलिस वाहनों को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ और तीसरी रिक्की द्वारा अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट के मामले में।

क्या है पूरा मामला

मामला खरगुपुर थाना क्षेत्र का है। दरअसल, रिक्की नाम के एक युवक ने अपने फेसबुक पर पैगंबर के खिलाफ पोस्ट किया था। पोस्ट सामने आने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोग गुस्सा हो गए।

इसके बाद सोमवार और मंगलवार की देर रात गुस्साए लोगों ने आरोपित के घर पर धावा बोल दिया और जमकर पथराव किया। हंगामे की सूचना पर पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। उन्होंने समझाने का प्रयास किया तो गुस्साए लोगों ने पुलिस वाहनों में भी तोड़फोड़ की।

नूपुर शर्मा को सोशल मीडिया पर मिली थी रेप और हत्या की धमकी

पैगंबर साहब पर बयान के बाद नूपुर शर्मा को सोशल मीडिया पर रेप और हत्या की धमकी मिली थी, जिसकी शिकायत उन्होंने दिल्ली पुलिस से भी की थी। वहीं शर्मा के बयान की वजह से ही कानपुर में पिछले दिनों हिंसा हुई। यहां मुस्लिम संगठनों ने बंद बुलाया था। लगातार शर्मा का समर्थन करने वाले लोगो को जान से मारने की धमकी दी गई। राजस्थान के उदयपुर में हुए कन्हैयालाल हत्याकांड इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। लोगों का कहना है कि देशभर में कुछ मजहबी लोगों के द्वारा एक डर का माहौल तैयार किया जा रहा है आए दिन सर तन से जुदा का नारा लगाकर संविधान की धज्जिया उड़ाई जा रही है।

Since independence
hindi.sinceindependence.com