IAS Success Story: रेलवे WIFI की मदद से तैयारी कर कुली बन गया IAS; जानें श्रीनाथ की इंस्पिरेशन स्टोरी

IAS Success Story: कड़ी मेहनत और लगन से कोई भी इंसान अपने सपनों को साकार कर सकता है। केरल के श्रीनाथ की स्टोरी भी कुछ ऐसी ही है, जिन्होंने कुली से आईएएस बनने का सफर तय किया।
IAS Success Story: रेलवे WIFI की मदद से तैयारी कर कुली बन गया IAS; जानें श्रीनाथ की इंस्पिरेशन स्टोरी

UPSC Success Story: भारतीय प्रशासनिक सेवा में जाना हर युवा का सपना होता है, लेकिन इस परीक्षा को पास करना आसान नहीं है। लेकिन केरल के एक कुली ने पहले केपीएससी और फिर यूपीएससी पास कर साबित कर दिया कि यदि जज्बे के साथ कड़ी मेहनत की जाए तो बड़े से बड़ा मुकाम हांसिल किया जा सकता है।

केरल के कुली श्रीनाथ के ने रेलवे स्टेशनों पर उपलब्ध मुफ्त वाई-फाई की मदद से पहले केरल लोक सेवा परीक्षा पास की। इसके बाद यूपीएससी पास कर आईएएस बने। मुन्नार के रहने वाले श्रीनाथ के कोचीन रेलवे स्टेशन पर कुली का काम किया। अपने और अपने परिवार के लिए बेहतर जीवन की आकांक्षा रखते हुए, श्रीनाथ ने सरकारी नौकरी हासिल करने के लिए पढ़ाई जारी रखने का फैसला किया। और आखिर जो सोचा वह मुकाम हांसिल किया।

रेलवे के फ्री WIFI की मदद से की तैयारी

श्रीनाथ की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी की वे कोचिंग की फीस भर सकें, इसलिए उन्होंने सेल्फ स्टडी करके यूपीएससी की तैयारी करने का निर्णय लिया। उन्हें डर था कि बिना कोचिंग वे परीक्षा क्रैक नहीं कर पाएंगे, इसलिए उन्होंने केरल लोक सेवा आयोग (KPSC) परीक्षा देने का मन बनाया।

अपने काम के समय और बोझ के कारण, वह अक्सर खुद को पढ़ाई के लिए बिल्कुल भी समय नहीं मिल पाता था। 2016 में, रेलटेल और गूगल ने भारत के कई रेलवे स्टेशनों पर फ्री वाई-फाई लॉन्च किया। फ्री वाई-फाई की शुरुआत के बाद, श्रीनाथ काम करते हुए पढ़ाई करने में सक्षम हो गए। वह ऑडियोबुक और वीडियो डाउनलोड किए और काम करते हुए केपीएससी परीक्षा की तैयारी की। वे अपने फ़ोन के मदद से ऑनलाइन तैयारी किया करते थे। कड़ी परिश्रम के बाद उन्होंने KPSC परीक्षा क्रैक कर ली।

बिना कोचिंग KPSC फिर UPSC परीक्षा की क्वालीफा

हर साल लाखों उम्मीदवार अपने आईएएस बनने के सपने को पूरा करने के लिए यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा आयोजित सीएसई परीक्षा में बैठते हैं, लेकिन उसमे से कुछ ही इस परीक्षा को क्वालीफाई कर पाते हैं। कई उम्मीदवार लाखो खर्च करके, बड़े शहरों में रहकर अच्छे संस्थान से तैयारी करने के बाद भी सफल नहीं हो पाते, वहीं श्रीनाथ ने किसी कोचिंग के बिना ही पहले केपीएससी और फिर यूपीएससी क्वालीफाई कर लिया। श्रीनाथ एर्नाकुलम के रहने वाले हैं और एर्नाकुलम रेलवे स्टेशन पर ही कुली का काम भी किया करते थे।

Google इंडिया ने शेयर की श्रीनाथ की कहानी

कोचिंग और एक्सट्रा क्लासेज पर खर्च करने वाले कई अन्य कैंडिडेट्स के उलट, श्रीनाथ ने अपना पैसा एक मेमोरी कार्ड, फोन और एक जोड़ी ईयरफोन पर खर्च किया। परीक्षाओं की तैयारी करने के बाद उन्होंने ग्राम सहायक के पद के लिए केरल लोक सेवा परीक्षा में हिस्सा लिया और कुल 82 फीसदी नंबरों के साथ पास हुए। केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री, पीयूष गोयल ने भी श्रीनाथ को 2018 में उनकी उपलब्धि पर बधाई दी थी, जब उनकी कहानी Google इंडिया द्वारा शेयर की गई थी।

श्रीनाथ यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के लिए उपस्थित हुए और यूपीएससी सीएसई में अपने चौथे अटेंप्ट के बाद आईएएस अधिकारी बन गए। रेलवे स्टेशन पर वह ऑथराइज्ड कुली थे लेकिन 2018 में 27 साल की उम्र में उन्होंने महसूस किया कि कुली की आय उनके परिवार के लिए पर्याप्त नहीं थी। उस समय उनकी एक साल की बेटी भी थी। इसलिए बेटी को अच्छा बचपन देने के लिए उन्होंने और बेहतर करने का फैसला किया।

IAS Success Story: रेलवे WIFI की मदद से तैयारी कर कुली बन गया IAS; जानें श्रीनाथ की इंस्पिरेशन स्टोरी
Rajasthan ACB: 'भ्रष्टों' पर ऑर्डर 48 घंटे में वापस; फिर विवादित फरमान किसके इशारे पर?
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com