बृज में अवैध खनन मामला: संत विजय दास की याद में भागवत कथा का होगा आयोजन

अवैध खनन मामला: राजस्थान के भरतपुर जिले के डीग अनुमंडल के पासोपा गांव में बाबा विजय दास के आत्मदाह मामले में साधु-संतों ने सीबीआई जांच की मांग की है। वहीं संत समाज ने दिवंगत महंत की याद में भागवत कथा कराने का निर्णय लिया है।
अवैध खनन की बलि चढ़ी संत विजय दास की जान
अवैध खनन की बलि चढ़ी संत विजय दास की जान

अवैध खनन मामला: राजस्थान के भरतपुर जिले के डीग अनुमंडल के पासोपा गांव में बाबा विजय दास के आत्मदाह मामले में साधु-संतों ने सीबीआई जांच की मांग की है। वहीं संत समाज ने दिवंगत महंत की याद में भागवत कथा कराने का निर्णय लिया है।

बुधवार यानी 27 जुलाई को तमाम साधु-संत कैबिनेट मंत्री, पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए डीग सर्कल के खोह थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने पहुंचे।

जानकारी के अनुसार ग्राम पसोपा में विजय दास की मृत्यु के बाद प्रशासन से श्रद्धांजलि सभा आयोजित करने की अनुमति मांगी गई थी, लेकिन प्रशासन ने गांव में श्रद्धांजलि सभा आयोजित करने की अनुमति नहीं दी।

पासोपा गांव में होगी भागवत कथा

550 दिन से आंदोलन कर रहे थे संत
550 दिन से आंदोलन कर रहे थे संत क्रेडिटः HT PHOTO

बताया गया है कि पासोपा के ग्रामीणों ने बाबा विजय दास श्रद्धांजलि समिति का गठन कर गांव पासोपा के मंदिर में भागवत कथा आयोजित करने का निर्णय लिया है।

पासोपा गांव में भागवत कथा आयोजित करने के लिए प्रशासन से अनुमति लेने के लिए भी आवेदन किया गया है और यह भी बताया जा रहा है कि भागवत कथा में देश के कई राज्यों से श्रद्धालु आ सकते हैं।

आदि बद्री धाम के महंत बाबा शिवराम दास की अध्यक्षता में बाबा विजय दास की स्मृति में एक बैठक हुई और संतों की सभा में भागवत कथा आयोजित करने का निर्णय लिया गया।

संतों के अनुसार 29 जुलाई से 4 अगस्त तक भागवत कथा का आयोजन होगा और 8 अगस्त को भंडारा के आयोजन के साथ कार्यक्रम का समापन होगा।

कामां विधायक जाहिदा खान पर लगे आरोप

कामां विधायक पर संत लगा रहे आरोप
कामां विधायक पर संत लगा रहे आरोप

संतों की बैठक में बाबा गोपेश विष्णु दास ने कामां विधायक जाहिदा खान पर आरोप लगाते हुए कहा कि जाहिदा खान खनन माफिया से जुड़ी है।

राज्य मंत्री जाहिदा खान को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त किया जाए और इस पूरे प्रकरण की सीबीआई से जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

बाबा गोपेश ने कहा कि जाहिदा खान के बेटे के नाम दो खनन पट्टे हैं, इसलिए प्रशासन खनन नहीं रोक रहा है।

साधु संतों ने मुख्यमंत्री से अपील करते हुए पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

साथ ही संतों ने कहा कि स्थिति की गंभीरता को देखते हुए आदि बद्री और कनकाचल पहाड़ियों से सभी क्रशर हटा दें और खनन बंद कर दें अन्यथा साधु संत फिर आत्मदाह करने को तैयार हैं।

अवैध खनन की बलि चढ़ी संत विजय दास की जान
बृज 84 कोसः आखिर क्यों खनन रोकने के लिए संत विजय दास को अपने जीवन की बलि देनी पड़ी?

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com