भारत-बांग्लादेश के बीच हुए 7 MOU, पीएम मोदी बोले- 'नई ऊंचाइयां छुएंगे दोनों देशों के संबंध'

India-Bangladesh Relations: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने हैदराबाद हाउस में प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक की। पीएम मोदी ने दिल्ली में बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना के साथ एक संयुक्त बयान जारी किया। पीएम ने कहा कि आज बांग्लादेश भारत का सबसे बड़ा विकास भागीदार है।
भारत-बांग्लादेश के बीच हुए 7 MOU, पीएम मोदी बोले- 'नई ऊंचाइयां छुएंगे दोनों देशों के संबंध'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना के बीच राजधानी दिल्ली के हैदराबाद हाउस में आज मंगलवार को प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक हुई। इस द्विपक्षीय बैठक में दोनों देशों ने 7 समझौतों पर हस्ताक्षर किए। बैठक में दोनों देशों के बीच व्यापार, आईटी, अंतरिक्ष और परमाणु क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने का फैसला लिया गया। प्रमुख रूप से भारत और बांग्लादेश ने कुशियारा नदी के जल बंटवारे के संबंध में एक महत्वपूर्ण समझौते पर हस्ताक्षर हुए। इसके अलावा विभिन्न द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भी चर्चा हुई।

इस मौके पर अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि हमने बाढ़ की समस्या के समाधान के लिए अपना सहयोग बढ़ाया है. हम बांग्लादेश के साथ बाढ़ के संबंध में रीयल टाइम डेटा साझा करते रहे हैं और आतंकवाद पर भी चर्चा की है। उन्होंने कहा कि आज, भारत और बांग्लादेश ने कुशियारा नदी के जल बंटवारे के संबंध में एक महत्वपूर्ण समझौते पर हस्ताक्षर किया है, जिससे बाढ़ की समस्या हल करने में मदद मिलेगी।

कई क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच हुए हस्ताक्षर : पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि आज हमने IT, अंतरिक्ष और न्यूक्लियर एनर्जी जैसे क्षेत्र में भी सहयोग बढ़ाने का निश्चय किया है, जो हमारी युवा पीढ़ियों के लिए रूचि रखते हैं। इसके अलावा आज हमने कुशियारा नदी से जल बंटवारे पर एक महत्वपूर्ण समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। ऐसी 54 नदियां हैं, जो भारत-बांग्लादेश सीमा से गुजरती हैं और सदियों से दोनों देशों के लोगों की आजीविका से जुड़ी रही हैं। ये नदियां, इनके बारे में लोक-कहानियां, लोक-गीत, हमारी साझा सांस्कृतिक विरासत के भी साक्षी रहे हैं।

यह भी बोले पीएम मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना के साथ एक संयुक्त बयान जारी किया। पीएम मोदी ने कहा कि आज बांग्लादेश, भारत का सबसे बड़ा विकास भागीदार है और इस क्षेत्र में हमारा सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है। हमारे बीच सहयोग में निरंतर सुधार हो रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले साल हमने बांग्लादेश की आजादी के 50 साल पूरे होने का जश्न मनाया था। हमने पहला 'मैत्री दिवस' भी मनाया। भारत-बांग्लादेश संबंध आने वाले समय में नई ऊंचाइयों को छुएंगे।

भारत को अमृतकाल के लिए शुभकामनाएं : पीएम शेख हसीना

बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने भारत को शुभकामनाएं दी। पीएम शेख हसीना ने कहा कि अगले 25 वर्षों के लिए अमृतकाल की मैं शुभकामनाएं देती हूं, क्योंकि भारत आत्मानिर्भर भारत के लिए किए गए प्रस्तावों को प्राप्त करने की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि मैं भारत में लगभग 3 साल के बाद आ रही हूं, मैं भारत का धन्यावाद करती हूं और हमारे बीच आगे एक सकारात्मक प्रस्तावों की अपेक्षा करती हूं।

'भारत-बांग्लादेश संबंध पड़ोस की कूटनीति के लिए आदर्श'

बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने आगे कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व की सराहना करती हूं, जो हमारे द्विपक्षीय संबंधों को अतिरिक्त गति प्रदान करना जारी रखेगा। भारत बांग्लादेश का सबसे महत्वपूर्ण और निकटतम पड़ोसी देश है। भारत-बांग्लादेश द्विपक्षीय संबंधों को पड़ोस की कूटनीति के लिए आदर्श माना जाता है।

'दोनों देशों के लोगों को होगा लाभ'

बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने दिल्ली में पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ एक संयुक्त बयान जारी में कहा कि तीस्ता जल-साझाकरण संधि सहित सभी बकाया मुद्दों को जल्द से जल्द समाप्त कर लिया जाएगा। आज प्रधानमंत्री मोदी और मैंने सार्थक चर्चा का एक और दौर समाप्त किया है, जिसके परिणाम से दोनों देशों के लोगों को लाभ होगा। हमने करीबी दोस्ती और सहयोग की भावना से मुलाकात की।

'भारत हमारा हमेशा से एक अच्छा साथी'

इससे पहले बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने हैदराबाद हाउस में भारत के पीएम नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की थी। बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा था कि भारत हमारा हमेशा से एक अच्छा साथी रहा है। इस यात्रा से भारत और बांग्लादेश के बीच बहुआयामी संबंधों को और मजबूती मिलेगी। इससे पहले शेख हसीना ने राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी थी।

दोनों देशों के बीच साइन हुए ये 7 एमओयू

  1. ऊपरी सूरमा कुशियारा परियोजना, सिलहट वाया रहीमपुर के तहत बांग्लादेश द्वारा कुशियारा नदी से 153 क्यूसेक पानी की निकासी पर समझौता ज्ञापन को अंतिम रूप।

  2. भारत के वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद-CSIR, और बांग्लादेश वैज्ञानिक औद्योगिक अनुसंधान परिषद-BCSIR के बीच वैज्ञानिक सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर।

  3. भारत के राष्ट्रीय न्यायिक अकादमी भोपाल और बांग्लादेश के सर्वोच्च न्यायालय के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर।

  4. भारतीय रेलवे के प्रशिक्षण संस्थानों में बांग्लादेश रेलवे के कर्मियों के प्रशिक्षण के लिए रेल मंत्रालय, भारत और बांग्लादेश रेलवे के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर।

  5. बांग्लादेश रेलवे के लिए आईटी समाधान में सहयोग के लिए रेल मंत्रालय, भारत और बांग्लादेश रेलवे के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर।

  6. प्रसार भारती और बांग्लादेश टेलीविजन के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर।

  7. अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के क्षेत्रों में सहयोग के लिए भारत और बांग्लादेश की अंतरिक्ष एजेंसियों के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर।

भारत-बांग्लादेश के बीच हुए 7 MOU, पीएम मोदी बोले- 'नई ऊंचाइयां छुएंगे दोनों देशों के संबंध'
Teachers Day Special: इनोवेटिव टीचर...गांव देहात में कायाकल्प; ऐप, कोडिंग के जरिये शिक्षा की इबादत
Since independence
hindi.sinceindependence.com