कर्नाटक में राकेश टिकैत पर फेंकी स्याही, लगे मोदी मोदी के नारे‚ स्थानीय किसान नेता के. चंद्रशेखर के समर्थकों का उत्पात

बताया जा रहा है कि ये स्याही स्थानीय किसान नेता के चंद्रशेखर के समर्थकों ने फेंकी। दरअसल, यहां स्थानीय मीडिया ने हाल ही में के चंद्रशेखर को लेकर स्टिंग किया था। जब बेंगलुरु में मीडिया में बातचीत के दौरान राकेश टिकैत से के चंद्रशेखर के बारे में सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि उनका चंद्रशेखर से कोई लेना देना नहीं है।

कर्नाटक में राकेश टिकैत पर फेंकी स्याही, लगे मोदी मोदी के नारे‚ स्थानीय किसान नेता के. चंद्रशेखर के समर्थकों का उत्पात

कर्नाटक में किसान नेता राकेश टिकैत पर अज्ञात शख्स ने स्याही फेंक दी। यह घटना बेंगलुरु प्रेस क्लब की बताई जा रही है। यहां राकेश टिकैत पीसी कर रहे थे, उसी वक्त शख्स ने स्याही फेंक दी। इसके बाद ही राकेश टिकैत के समर्थकों ने स्याही फेंकने वाले शख्स को पकड़ लिया। यही नहीं इस कार्यक्रम में जमकर कुर्सियां भी एक दूसरे पर फैंकी गई।


कर्नाटक में राकेश टिकैत पर फेंकी गई स्याही, लगे मोदी मोदी के नारे
कर्नाटक में राकेश टिकैत पर फेंकी गई स्याही, लगे मोदी मोदी के नारेफोटो | ट्वीटर
किसान सभा के अध्यक्ष अवनीश पवार का कहना है कि इसमें जो भी हुआ उसकी जांच होनी चाहिए। किसान यूनियन के महासचिव सावित मलिक ने कहा-किसानों पर तो लाठीचार्ज तक हुआ है, हम स्याही से डरने वाले नहीं हैं।
फोटो | ट्वीटर
बताया जा रहा है कि ये स्याही स्थानीय किसान नेता के चंद्रशेखर के समर्थकों ने फेंकी। दरअसल, यहां स्थानीय मीडिया ने हाल ही में के चंद्रशेखर को लेकर स्टिंग किया था। जब बेंगलुरु में मीडिया में बातचीत के दौरान राकेश टिकैत से के चंद्रशेखर के बारे में सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि उनका चंद्रशेखर से कोई लेना देना नहीं है। दरअसल राकेश और युद्धवीर ये कहने पहुंचे थे कि वे इसमें शामिल नहीं हैं और धोखेबाज किसान नेता कोडिहल्ली चंद्रशेखर के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। इसके बाद अचानक से चंद्रशेखर के समर्थकों में से एक ने राकेश टिकैत पर स्याही फेंक दी।
फोटो | ट्वीटर
इससे राकेश टिकैत के कार्यक्रम में मौजूद समर्थक भड़क गए। उन्होंने स्याही फेंकने वाले शख्स को पकड़ लिया। इसके बाद चंद्रशेखर के समर्थक और राकेश टिकैत के समर्थक आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई और कुर्सियां चलीं।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com