PM Modi: भारत की प्रगति को गति देगा पॉवर सेक्टर, 5200 करोड़ की परियोजनाओं का किया शिलान्यास

पीएम मोदी ने नई दिल्ली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 'उज्ज्वल भारत उज्ज्वल भविष्य - पावर @ 2047' कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस मौके पर उन्होंने पॉवर सेक्टर को देश की प्रगति के लिए महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि देश में 1 लाख 70 हजार सर्किट किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइन्स बिछाई जा चुकी हैं।
PM Modi: भारत की प्रगति को गति देगा पॉवर सेक्टर, 5200 करोड़ की परियोजनाओं का किया शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली मेंं 'उज्ज्वल भारत उज्ज्वल भविष्य - पावर @ 2047' कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिजली क्षेत्र के लिए रेनोवेटेड डिस्ट्रीब्यूशन एरिया स्कीम की शुरुआत की। साथ ही पीएम मोदी ने 5200 करोड़ रुपये से अधिक की एनटीपीसी की विभिन्न हरित ऊर्जा परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन भी किया। इस दौरान पीएम ने कहा कि पिछले 8 साल में देश में करीब 1 लाख 70 हजार मेगावाट बिजली उत्पादन क्षमता को जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि वन नेशन वन पावर ग्रिड आज देश की ताकत बन गया है। पूरे देश को जोड़ने के लिए करीब 1 लाख 70 हजार सर्किट किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइन बिछाई जा चुकी है।

राजनीति में लोगों को सच बोलने की हिम्मत होनी चाहिए- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने जोर देकर कहा कि समय बीतने के साथ हमारी राजनीति में एक गंभीर अव्यवस्था आ गई है। राजनीति में जनता को सच बताने की हिम्मत होनी चाहिए, लेकिन हम देखते हैं कि कुछ राज्य इससे बचने की कोशिश करते है।

यह रणनीति अल्पावधि में अच्छी राजनीति की तरह लग सकती है, लेकिन यह आज की सच्चाई, आज की चुनौतियों को हमारे बच्चों के लिए, हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए भ्रमित करने जैसा है।

राज्यों पर 1 लाख करोड़ से ज्यादा का कर्ज- पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश को यह जानकर आश्चर्य होगा कि कई राज्यों पर 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक बकाया है। उन्हें यह पैसा बिजली उत्पादन कंपनियों को देना है। बिजली वितरण कंपनियों पर कई सरकारी विभागों, स्थानीय निकायों का भी 60 हजार करोड़ रुपये से अधिक बकाया है।

अलग-अलग राज्यों में बिजली सब्सिडी को लेकर किए गए वादे की वजह से इन कंपनियों को भी पूरा पैसा समय पर नहीं मिल पा रहा है। ये बकाया भी 75,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का है। यानी बिजली उत्पादन से लेकर डोर-टू-डोर डिलीवरी तक करीब ढाई लाख करोड़ रुपये फंसे हुए है।

मैं उन राज्यों से आग्रह करता हूं जिनका बकाया बाकी है, वे जल्द से जल्द भुगतान करें। साथ ही उन कारणों पर भी ईमानदारी से विचार करें कि जब देशवासी अपने बिजली बिलों का ईमानदारी से भुगतान करते है तो कुछ राज्यों का बार-बार बकाया क्यों होता है?

बिजली के बिना जीवन की कल्पना नहीं कर सकते- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि आज के समय में कोई भी बिजली के बिना जीवन की कल्पना नहीं कर सकता है। यह मेरे लिए बड़े संतोष की बात है कि पिछले वर्षों में हमने ऊर्जा के क्षेत्र में पिछली कई कमियों को दूर कर बिजली क्षेत्र को मजबूत किया है।

पीएम ने आगे कहा कि आपको याद होगा कि आजादी के 70 साल बाद भी देश के 18 हजार गांवों में बिजली नहीं पहुंच पाई थी। आज के नए भारत में इस दिशा में काम किया जा रहा है ताकि लोग गांवों में बिजली पैदा कर सकें।

अगले 25 वर्ष में भारत की प्रगति को गति देगा बिजली क्षेत्र- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि अगले 25 वर्षों में भारत की प्रगति को गति देने में ऊर्जा क्षेत्र, बिजली क्षेत्र की बहुत बड़ी भूमिका है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए एनर्जी सेक्टर की मजबूती भी जरूरी है और ईज ऑफ लिविंग के लिए भी उतना ही जरूरी है।

पीएम ने कहा कि पिछले 8 साल में देश में करीब 1 लाख 70 हजार मेगावाट बिजली उत्पादन क्षमता जोड़ी गई है. वन नेशन वन पावर ग्रिड आज देश की ताकत बन गया है।

पीएम मोदी ने कहा- आज हम अपने लक्ष्य के करीब आ गए है

पीएम मोदी ने कहा कि हमने आजादी के 75 साल पूरे होने तक 175 गीगावाट अक्षय ऊर्जा क्षमता सृजित करने का संकल्प लिया था। आज हम इस लक्ष्य के करीब आ गए हैं। अब तक लगभग 170 गीगावाट क्षमता गैर-जीवाश्म स्रोतों से स्थापित की जा चुकी है।

इसी कड़ी में आज देश को दो और बड़े सोलर प्लांट मिले हैं। तेलंगाना और केरल में बने ये प्लांट देश के पहले और दूसरे सबसे बड़े फ्लोटिंग सोलर प्लांट हैं।

बिजली बचाने पर भी सरकार का जोर- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि बिजली का उत्पादन बढ़ाने के साथ-साथ सरकार का जोर बिजली बचाने पर भी है. बिजली बचाने का मतलब भविष्य को सजाना है। पीएम कुसुम योजना इसका बेहतरीन उदाहरण है।

हम किसानों को सोलर पंप की सुविधा प्रदान कर रहे हैं, खेतों के किनारे सोलर पैनल लगाने में मदद कर रहे हैं। आज भारत स्थापित सौर क्षमता के मामले में दुनिया के शीर्ष 4-5 देशों में है। दुनिया के कई सबसे बड़े सौर ऊर्जा संयंत्र आज भारत में हैं।

PM Modi: भारत की प्रगति को गति देगा पॉवर सेक्टर, 5200 करोड़ की परियोजनाओं का किया शिलान्यास
Tanushree Dutta: 'मुझे कुछ हुआ तो उसके जिम्मेदार नाना पाटेकर होंगे', तनुश्री दत्ता के इंस्टाग्राम पोस्ट से बॉलीवुड में मचा वबाल

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com