शरारत या साजिश! फिरोजाबाद में 'हर घर तिरंगा' के सभी होर्डिंग से सीएम योगी की तस्वीर काटी, पुलिस जुटी जांच में

फिरोजाबाद शहर में जगह-जगह हर घर तिरंगा अभियान के होर्डिंग्स और पोस्टर लगाए गए हैं। इन होर्डिंग्स पर पीएम नरेंद्र मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ समेत भाजपा के दिग्गज नेताओं की तस्वीरें हैं, लेकिन सभी होर्डिंग से मुख्यमंत्री योगी की तस्वीर को काट दिया गया है। इसे लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में आक्रोश है।
पुलिस अधिकारी से बात करते भाजपा विधायक।
पुलिस अधिकारी से बात करते भाजपा विधायक।

भाजपा की ओर से आजादी के अमृत महोत्सव के तहत हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत फिरोजाबाद शहर में जगह-जगह हर घर तिरंगा अभियान के होर्डिंग्स और पोस्टर लगाए गए हैं। इन होर्डिंग्स पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत भाजपा के दिग्गज नेताओं की तस्वीरें हैं। शनिवार सुबह जब लोग घूमने निकले तो होर्डिंग को देखकर चौंक गए। सभी होर्डिंग से मुख्यमंत्री योगी की तस्वीर को काट दिया गया है। किसी ने बड़ी ही सफाई से इस करतूत को अंजाम दिया है। होर्डिंग से मुख्यमंत्री योगी की तस्वीर काटे जाने की खबर मिलते ही भाजपा कार्यकर्ताओं में आक्रोश फैल गया। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। जानकारी होने पर पुलिस प्रशासन में भी हड़कंप मच गया। नगर निगम द्वारा इन होर्डिंग को हटाने का काम शुरू कर दिया गया है, वहीं पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

'किसी एक व्यक्ति का काम नहीं हो सकता'

सुहाग नगर के विजय टॉकीज पर लगे होर्डिंग से मुख्यमंत्री योगी और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की तस्वीर भी काटा गया है। शहर के अन्य इलाकों में लगे होर्डिंग से भी मुख्यमंत्री का चेहरा गायब है। होर्डिंग से मुख्यमंत्री योगी की तस्वीर काटे जाने के पीछे किसी की शरारत है या साजिश, इसे लेकर शहर में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। लोगों का कहना है कि जिस तरह से होर्डिंग से तस्वीरें काटी गई हैं, यह किसी एक व्यक्ति का काम नहीं है।

व्यापारी पंकज गुप्ता ने बताया कि सभी होर्डिंग 20 से 25 फीट की ऊंचाई पर लगी हैं। जिसने भी यह हरकत की है, वह बेहद की शर्मनाक है। पुलिस प्रशासन द्वारा जांच कर दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए। भाजपा विकास पालीवाल ने बताया कि नगर निगम द्वारा पूरे शहर में ये होर्डिंग लगाई गई हैं, जिनमें से मुख्यमंत्री योगी का चेहरा काट दिया गया है। यह किसी की सोची समझी साजिश है। कुछ लोग शहर की फिजा बिगाड़ना चाहते हैं।

दो लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

इस मामले में दो लोगों के विरुद्ध थाना उत्तर में एफआईआर दर्ज कराई गई है। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला जा रहा है। इस प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी रवि रंजन ने स्पष्ट कहा कि जिन्होंने भी यह अपराधिक कृत्य किया है, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। उनके विरूद्ध सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस अधिकारी से बात करते भाजपा विधायक।
तिरंगे का मजहबीकरण! अजमेर में तिरंगा लेकर नारे- "मेरे ख्वाजा का हिंदुस्तान जिंदाबाद", तूल पकड़ सकता है मामला
Since independence
hindi.sinceindependence.com